VT Update
प्रदेश के झाबुआ विधानसभा उपचुनाव की जंग जीतने के लिए कांग्रेस लगा रही पूरी ताकत सीएम कमलनाथ कर चुके हैं 2 सभाएं 19 तारीख को तीसरी रैली करेंगे सीएम| एस ए टी ए फ एस ग्रे लिस्ट में रहेगा पाकिस्तान, टेरर फंडिंग एवं मनी लॉन्ड्रिंग के मामले पर अगले साल फरवरी तक पाकिस्तान को ग्रीन लिस्ट में बनाए रखने का लिया गया फैसला| संसद का शीतकालीन सत्र 18 नवंबर से हो सकता है शुरू, सरकार आने वाली सत्र में अनेक विधेयक लाने के साथ ही दो महत्वपूर्ण देशों को कानून बनाने की योजना पर कर रही काम| तिहाड़ जेल में बंद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम से पूछताछ के बाद ईडी ने किया गिरफ्तार, करीब 2 घंटे चली ईटी की पूछताछ| औद्योगिक मैग्नीफिसेंट एमपी का आयोजन इंदौर में कल, 900 उद्योगपति निवेश पर करेंगे मंथन सरकार को देंगे सुझाव, तो वही अंबानी बेब कॉस्टिंग से कहेंगे अपनी बात|
Wednesday 19th of June 2019 | देश एक, चुनाव अनेक ?

एक देश एक चुनाव पर क्या आज़ बन पायेगी सहमति | ममता बनर्जी नहीं होंगी बैठक में शामिल | विरोधियों और समर्थको की अलग अलग है राय | मोदी ने देश के विकाश के लिए इसे बताया ज़रूरी


प्रधानमंत्री ने एक देश, एक चुनाव के मुद्दे पर आज़ सर्वदलीय बैठक बुलायी है इस बैठक में लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ कराने तथा अन्य कई मुद्दों पर चर्चा होनी है |

प्रधानमंत्री मोदी का कहना है की देश में हर छह महीने इलेक्शन होते है जिससे प्रशासनिक कार्यों में रुकवाटे आती है | यदि देश में एक साथ चुनाव होगा तो सरकारें और पार्टियाँ विकास कार्यों पर ज्यादा ध्यान दे पायेंगी |

इस बैठक में ममता बनर्जी शामिल नही होंगी | उन्होंने एक पत्र लिखकर कहा है कि इतने बडे मुद्दे पर इतने कम समय में कैसे सहमती बन पायेगी | उन्होंने यह भी कहा है कि सभी दलों को एक देश, एक चुनाव पर अपने विचार रखने के लिये एक श्वेत पत्र जारी किया जाय |

इस मसले पर मुख्य निर्वाचन आयुक्त रहे टी एस कृष्णामूर्ति ने प्रेस से बातचीत में कहा कि “यह संभव है कि एक देश में एक चुनाव हो, लेकिन इसके लिए संविधान में संशोधन करना होगा |”

साल 1999 में विधि आयोग ने पहली बार अपनी रिपोर्ट में कहा कि लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ हों. साल 2015 में भी कानून और न्याय मामलों की संसदीय समिति ने चुनाव एक साथ करने की सिपारिश की थी |

जानकारी के लिए बता दिया जाय कि आज़ादी के बाद 1951-52 में चुनाव एक साथ हुए इसके बाद 1957, 1962  और 1967 में भी चुनाव एह साथ हुये फिर ये सिलसिला टूट गया |

एक देश,एक चुनाव का समर्थन करने वालों का कहना है कि मतदाता लोकसभा और विधानसभा के चुनावों के लिए अलग-अलग वोट करते हैं |

जबकि विरोधियों का कहना है कि ऐसा होने से एक मतदान केंद्र पर मतदाता एक ही पार्टी को वोट करेंगे |

 लेकिन समर्थको ने इसके विरोधी तर्क के रूप में ओड़िशा का उदहारण दिया है , जहां 2004 और हाल ही में 2019 के चुनाव परिणाम ने इस तर्क को भी खारिज़ कर  दिया है कि मतदाता एक मतदान केंद्र पर एक ही पार्टी को वोट देंगे |

बहरहाल यह देखना बाकि है कि अब इस मसले अलग-अलग पार्टियो की क्या राय है |


अब गूगल से  पता चलेगा आपका पासवर्ड हैक हुआ है या नहीं

जिंदगी के इस पड़ाव में भी लता मंगेशकर है काफी ज़िंदादिल, 90 साल की उम्र में इंस्ट


 VT PADTAL


 Rewa

हिन्दू क्षत्रीय वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने आईजी को सौंपा ज्ञापन, 3 माह पहले हुई मारपीट में निष्पक्ष जांच की कर रहे हैं मांग
Thursday 17th of October 2019
चतुर्थ राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के मौके पर आयुर्वेद के प्रति आमजन को किया गया जागरूक
Thursday 17th of October 2019
ससुराल वालों पर लगा दहेज़ प्रताड़ना का आरोप, परिजनों के मुताबिक महिला को किया आग के हवाले
Wednesday 16th of October 2019
सरदार सेना एवं पिछड़ा वर्ग सामाजिक संगठन ने दिया धरना, लौह पुरुष की प्रतिमा तोड़ने पर किया जाएगा उग्र आंदोलन
Wednesday 16th of October 2019
अखिल भारतीय ब्रम्हण समाज के प्रदेशाअध्यक्ष ने आयोजित की प्रेसवार्ता, कांग्रेस शहर अध्यक्ष पर लगाया आरोप, माफ़ी ना मागने पर पुतला फुकने की दी चेतावनी
Wednesday 16th of October 2019
बीजेपी महिला नेत्रियो ने निगमायुक्त भेंट की चूड़ी, निगमायुक्त को विकास विरोधी दिया करार
Wednesday 16th of October 2019