VT Update
रीवा जिले में डिप्टी कलेक्टर का टोटा गिनती के अधिकारियों में फिर बांटे गए काम, 4 डिप्टी कलेक्टरों पर दोगुना से ज्यादा अनुविभाग का जिम्मा। रीवा वन विभाग के नए डीएफओ चंद्रशेखर सिंह ने संभाला पदभार विपिन पटेल हुए कार्यमुक्त, चार्ज संभालते ही चंद्रशेखर सिंह ने शुरू की विभागीय समीक्षा। मार्तण्ड सिंह जूदेव जू में उमड़ी पर्यटकों की भारी भीड़, 4040 पर्यटक पहुंचे चिड़िया घर, सफेद शेर को देख रोमांचित हुए लोग। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का बयान इतिहास गलत लिखा गया है, सिर्फ नेहरू-गांधी ने नहीं दिलाई आजादी, मीसा बंदियों के सम्मान कार्यक्रम में दिया बयान। नकल करते पकड़े गए mbbs छात्र ने हॉस्टल की छत से कूदकर दी जान, विदिशा के मेडिकल कॉलेज का मामला।
Tuesday 25th of June 2019 | बेहतर संबंधो की दौड़ में पीछे रहा ब्रिटेन

ब्रिटिश संसदीय रिपोर्ट - भारत के साथ बेहतर संबंधों की दौड़ में पिछड़ रहा ब्रिटेन


ब्रिटिश संसदीय रिपोर्ट - भारत के साथ बेहतर संबंधों की दौड़ में पिछड़ रहा ब्रिटेन

ब्रिटिश संसदीय रिपोर्ट में भारत-ब्रिटेन के बीच संबंधों को बेहतर बनाने के उद्देश्य से जारी की गई रिपोर्ट्स जिसमे भारतीय पर्यटकों, छात्रों और पेशेवरों के लिए बेहतर वीजा नीति बनाकर संबंधों को सुधारने के लिए कहा गया है.

वैश्‍विक संबंधों की रेस में भारत के साथ ब्रिटेन काफी पीछे हो रहा है, संसद से जारी एक रिपोर्ट में यह बात सामने आई है, ब्रिटिश संसदीय जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि उभरते भारत के साथ बेहतर संबंधों की वैश्विक दौड़ में ब्रिटेन पिछड़ रहा है बल्कि वह दुनिया में भारत की बढ़ती ताकत और प्रभाव के मुताबिक अपनी रणनीतियों में बदलाव करने में भी असफल रहा है| दोनों देशों के बीच संबंधों को बेहतर बनाने के उद्देश्य से जारी की गई रिपोर्ट में भारतीय पर्यटकों, छात्रों और पेशेवरों के लिए बेहतर वीजा नीति बनाकर संबंधों को सुधारने के लिए कहा गया है. यह रिपोर्ट 2019 के ब्रिटेन-भारत सप्ताह की शुरुआत से पहले ब्रिटिश संसद में 'बिल्डिंग ब्रिजेज: रीअवेकनिंग यूके-इंडिया टाइज' (Building Bridges: Reawakening UK-India ties) नाम से जारी की गई है.

ब्रिटिश संसदीय रिपोर्ट में कहा गया है कि उभरते भारत के साथ बेहतर संबंधों की वैश्विक दौड़ में ब्रिटेन पिछड़ रहा है और द्विपक्षीय संबंधों के अवसर गंवा रहा है. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीयों के लिए ब्रिटेन की यात्रा को आसान बनाना होगा साथ ही भारत के साथ संबंधों में बेहतरी के लिए सरकार को कुछ ठोस कदम उठाने होंगे, वीजा के मामले पर रिपोर्ट में कहा गया कि चीन जैसे गैर-लोकतांत्रिक देश के मुकाबले भारत को ज्यादा कड़े नियमों का पालन करना पड़ता है, इसमें बदलाव करने चाहिए.

संसदीय रिपोर्ट में कहा गया कि ब्रिटेन को हर तरह से दोनों देशों के बेहतर द्विपक्षीय संबंधों का फायदा मिलेगा, लेकिन नई दिल्ली तक सही संदेश नहीं पहुंच पाने की वजह से दोनों देश इस मामले में ठोस कदम नहीं उठा पा रहे हैं,गौरतलब है की ब्रिटेन यूरोपीय संघ छोड़ने की तैयारियां कर रहा है, ऐसे में संबंधों में सुधार करने का वक्त आ गया है. ब्रिटेन आधुनिक साझेदारी के लिए ऐतिहासिक संबंधों पर भरोसा नहीं कर सकता.इसीलिए यह संबंधो में सुधार का बिलकुल सही वक़्त है|


डोनल्ड ट्रंप ने पेश किया नई प्रवासन नीति का ख़ाका, युवा, पढ़े-लिखे और अंग्रेज

श्रीलंका में हुए सीरियल बम धमाकों के पीछे नेशनल तौहीद जमात संगठन का नाम


 VT PADTAL