VT Update
रीवा जिले में डिप्टी कलेक्टर का टोटा गिनती के अधिकारियों में फिर बांटे गए काम, 4 डिप्टी कलेक्टरों पर दोगुना से ज्यादा अनुविभाग का जिम्मा। रीवा वन विभाग के नए डीएफओ चंद्रशेखर सिंह ने संभाला पदभार विपिन पटेल हुए कार्यमुक्त, चार्ज संभालते ही चंद्रशेखर सिंह ने शुरू की विभागीय समीक्षा। मार्तण्ड सिंह जूदेव जू में उमड़ी पर्यटकों की भारी भीड़, 4040 पर्यटक पहुंचे चिड़िया घर, सफेद शेर को देख रोमांचित हुए लोग। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का बयान इतिहास गलत लिखा गया है, सिर्फ नेहरू-गांधी ने नहीं दिलाई आजादी, मीसा बंदियों के सम्मान कार्यक्रम में दिया बयान। नकल करते पकड़े गए mbbs छात्र ने हॉस्टल की छत से कूदकर दी जान, विदिशा के मेडिकल कॉलेज का मामला।
Saturday 13th of July 2019 | 'मप्र में नहीं है सरकार गिराने की परिस्थिति':- फग्गन सिंह कुलस्ते

मध्यप्रदेश में भाजपा नेता के बयान से बढ़ी सियासी सरगर्मियां  


मध्यप्रदेश की सियासत में इन दिनों काफी कुछ चल रहा है प्रदेश में राजनीती के अलग अलग दौर देखने को मिलते रहे है| राज्य में कांग्रेस के चुनाव जीतने के बाद से ये कयास लगाए जा रहे थे कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार ज्यादा दिन नहीं चल पाएगी और इसे गिरा दिया जाएगा| कर्नाटक और गोवा के सियासी संकट का असर मध्य प्रदेश पर भले ही न हो, लेकिन बयानों से जरूर माहौल गरमा रहा है| प्रदेश में उलटफेर की संभावनाओं को जमकर हवा देने वाली बीजेपी को पार्टी के वरिष्ठ नेता ने ही झटका दिया है| केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते का मानना है कि मध्यप्रदेश में सरकार गिराने की परिस्तिथि नहीं है| जबकि लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी के नेता सरकार बदल जाने और फिर बाद में अपनी ही गलती से सरकार के गिर जाने की बात कर रहे हैं|

इस बीच कुलस्ते ने पार्टी नेताओं से उलट बयान देकर सियासत गरमा दी है| बता दें कि बीजेपी नेता सत्ता परिवर्तन के बाद से ही सरकार की स्थिरता को लेकर सवाल उठा रहे हैं| कई बड़े नेता सरकार गिरा देने के दावे भी कर चुके हैं, लेकिन अब बीजेपी जिन मुद्दों पर फेल रही है उनको लेकर सरकार को अस्थिर बताने की कोशिश कर रही है| कर्नाटक और गोवा में मचे सियासी घमासान और मध्य प्रदेश में कांग्रेस नेताओं की डिनर पॉलिटिक्स के बाद विधानसभा में सियासी मानसून की चर्चा से सियासत गरमाई हुई है| पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा के बयान के उलट अब केंद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते का बयान सामने आया है| जिसमे वो मानते है कि मध्यप्रदेश में सरकार गिरने की परिस्तिथि नहीं है|

केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री और मंडला सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते हमेशा ही अपने विवादित बयानों से चर्चा में बने रहते है उन्होंने जबलपुर में कहा कि किसी भी निर्वाचित प्रतिनिधि का इस्तीफा देना गलत है इससे बार बार आचार संहिता लगना और प्रतिनिधि का क्या भविष्य होगा इस पर बड़े सवाल खड़े होते है। जहाँ तक मध्यप्रदेश का सवाल है तो यहाँ सरकार गिराने जैसी कोई परिस्थिति नही है, दल बदल और इस्तीफा का कल्चर साउॅथ और नार्थ इस्ट मे रहा है जबकि मध्यप्रदेश मे ऐसा कोई कल्चर नही है।


दिग्गी : सरकार ने अलोकतांत्रिक तरीके से हटाया धारा 370

मंत्रियों के रिपोर्ट पर, पार्षद उम्मीदवारों को टिकट देगी कांग्रेस


 VT PADTAL