VT Update
पाठ्य पुस्तक निगम के स्टोर रूम में पुलिस का छापा बाजार में बिकने जा रही लाखों की किताबें हुई जप्त निशुल्क वितरण के लिए भेजी गई पुस्तके बेची जा रही थी बाजार में प्रदेश में शराब की करीब 500 दुकानें खुलने का अनुमान 2 महीने के लिए भी उस दुकानें खोल सकते हैं शराब ठेकेदार जिला कलेक्टर देंगे दुकान खोलने की अनुमति एक्शन मोड में जेपी नड्डा भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद महासचिव सनग्ली पहली बैठक नागरिकता कानून के समर्थन में पार्टी की ओर से चलाए जा रहे कैंपेन की की समीक्षा देवास जिला योजना समिति की बैठक में मंत्री जीतू पटवारी और सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी के बीच जमकर हुआ विवाद, प्रभारी मंत्री ने कहा-बैठक से बाहर कर दूंगा तो सांसद बोले अगली बार मंत्री नहीं बन पाओगे जोमैटो फूड डिलीवरी ने अमेरिका कंपनी उबर ईट्स के भारतीय कारोबार को खरीदा डील के तहत उबर को जोमैटो के 9. 99% मिलेंगे शेयर
Saturday 20th of July 2019 | मॅाब लिंचिग: बुजुर्ग को पीट पीट कर मार डाला

भीड़ ने बुजुर्ग को उतारा मौत के घाट, पुलिस ने 10 लोगों को किया गिरफ्तार


सरकार के तमाम कवायदों के बाद भी प्रदेश में मॅाब लिंचिग की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही है। ताजा मामला प्रदेश के नीमच जिले की है जहां भीड़ ने एक बुजुर्ग को मोर चोरी के आरोप में पीट पीट कर मौत के घाट उतार दिया। वहीं, मृतक के पास से चार मोर का शव भी बरामद किया गया है। मामला कुकड़ेश्वर थाना क्षेत्र के गांव लसूड़िया आतरी में देर रात करीब साढ़े 11 बजे की है। जानकारी के मुताबिकए कुकड़ेश्वर थाना क्षेत्र के गांव लसूड़िया आतरी में रात में ग्रामीणों को सूचना मिली थी कि कुछ लोग मोर चोरी करने गांव में घूम रहे हैं। इसके बाद ग्रामीणों ने इकट्‌ठा होकर चार लोगों को पकड़ा इनमें से तीन मौका देख भाग निकलने में सफल रहें। जबकि एक बुजुर्ग इनके हत्थे चढ़ गया। इस दौरान उग्र भीड़ ने बुजुर्ग की पिटाई कर दी शुरू कर दी। बुरी तरह से पीटे जाने के कारण बुजुर्ग की मौत हो गई। वहीं, सूचना पर पहुंची पुलिस ने इस मामले में दस लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि प्रदेश में यह कोई पहली घटना नहीं है इससे पूर्व नीमच में ही बकरा चोरी करने के आरोप में हिंसक भीड़ ने तीन लोगों की जमकर पिटाई कर दी थी। जबकि बीते दिनों रायसेन जिले के आकलपुर में बच्चा चोरी किए जाने के शक में एक मानसिक विक्षिप्त व्यक्ति को पीट कर गंभीर कर दिया था। जिसका उपचार के दौरान सामुदायिक स्वास्थय केंद्र पर शुक्रवार को मौत हो गई। ऐसे में शासन व प्रशासन के रवैये पर सवाल उठना लाजमी है कि आखिर सरकार और पुलिस ऐसे हिंसक भीड़ को रोकने के लिए क्या ठोस कदम उठा रही है आखिर क्यों बेखौफ भीड़ किसी को रत्ती भर शक मात्र पर मौत के घाट उतारने पर आमदा है अब देखना है कि कठोर कानून बनने के बाद भी ऐसी घटनाओं पर कोई रोक लग पाती है या फिर हिंसक भीड़ की मनमानी ऐसे ही जारी रहेगी।


भीड़ ने बुजुर्ग को उतारा मौत के घाट, पुलिस ने 10 लोगों को किया गिरफ्तार

गोविंदगढ़  में चोरी की घटना को अंजाम देने आए थे बदमाश, मार दी गोली


 VT PADTAL