VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Saturday 20th of July 2019 | कई राज्यों के बदलें राज्यपाल

आनंदी बेन गई यूपी, बिहार से आए यूपी के टंडन, अब संभालेंगे मध्यप्रदेश के महामहिम की जिम्मेदारी


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने देश के कई राज्यों के पालों को इधर से उधर किया है। जिसमें मध्य प्रदेश की राज्यपाल और गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल पद की जिम्मेदारी दी है। वह निवर्तमान राज्यपाल राम नाईक का स्थान लेंगी जिनका कार्यकाल खत्म हो रहा है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके नाम के अलावा छह और राज्यपालों के नाम को मंजूरी प्रदान की है। आनंदीबेन पटेल मध्यप्रदेश की दूसरी और कुल 27 वीं महिला गवर्नर रहीं।  अगस्त 2018 में लालजी टंडन ने बिहार के राज्यपाल की शपथ ली थी। पार्षद से सांसद बनने तक के उनके सफर में दिवंगत पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का बड़ा योगदान रहा है। लालजी टंडन लखनऊ लोकसभा सीट से सांसद भी रह चुके हैं और अ बवह मध्यप्रदेश के राज्यपाल पद की जिम्मेदारी संभालेंगे। 

लालजी टंडन का इतिहास : 12 अप्रैल 1935 में जन्में लालजी टंडन भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में शुमार रहे है। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के 2009 में राजनीति से संन्यास लेने के बाद वो लखनऊ से 2009 में लोकसभा सांसद चुने गए थे। उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय रहने वाले टंडन राज्य में बीजेपी सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। इनका राजनीतिक सफर साल 1960 में शुरू हुआ। टंडन दो बार पार्षद चुने गए और दो बार विधान परिषद के सदस्य भी रहे है। मायावती और कल्याण सिंह की कैबिनेट में वह नगर विकास मंत्री का दायित्व संभाल चुके है। कुछ दिनों तक वह उत्तरप्रदेश की विधानसभा में विपक्ष का नेतृत्व भी किया है। लालजी टंडन ने इंदिरा गांधी की सरकार के खिलाफ जारी जेपी आंदोलन में भी बढ़.चढकर हिस्सा लिया था। मूल रूप से उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय रहने वाले टंडन प्रदेश की भाजपा सरकारों में मंत्री भी रहे हैं और उन्हें मोदी सरकार ने तोहफा देते हुए बिहार के राज्यपाल के पद पर बैठाने के लिए नामित किया था। जिस पर राष्ट्रपति द्वारा मंजूरी मिली थी और 2018 में उन्होंने बिहार के राज्यपाल पद की शपथ ली थी। कई राज्यपालों के कार्यकाल खत्म होने के कारण केंद्र सरकार ने नए नामों की सूची राष्ट्रपति भवन को भेजी थी। जिसमें लालजी टंडन को मध्यप्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने की भी सिफारिस की गई थी। जिसे मंजूरी मिल गई।


दिग्गी के भाई लक्ष्मण ने कांग्रेस दिग्गजों को बताया नकारा, चिदंबरम के वकील औ

आज जन्मेंगे यशोदा के लाल, घर-घर बजेगी बधैया


 VT PADTAL


 Rewa

रीवा के चोरहटा में बाइक सवार की हत्या, गड़ासे से काट कर उतारा मौत के घाट
Tuesday 17th of September 2019
खड्डा गांव के आदिवासी निवासियों ने कलेक्ट्रेट के सामने दिया धरना, कलेक्टर को संबोधित ज्ञापन संयुक्त कलेक्टर को सौंपा
Tuesday 17th of September 2019
बीएसएनएल के नॅान एग्जक्यूटिव कर्मचारी संगठनों को मान्यता देने डाले गए वोट, 18 सितम्बर को होगी गिनती
Tuesday 17th of September 2019
अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में आयोजित हुई कुशाभाऊ ठाकरे के स्मृति में व्याख्यानमाला, प्रदेश राज्यपाल लालजी टंडन ने किया संबोधित
Tuesday 17th of September 2019
शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय रीठी में सुविधा की कमी
Sunday 15th of September 2019
कानून व्यवस्था सुधारने में जुटा प्रशासन
Sunday 15th of September 2019