VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Monday 6th of November 2017 | रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के अरुणाचल दौरे पर चीन ने जताई आपत्ती। 

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के अरुणाचल दौरे पर चीन ने जताई आपत्ती। 


नई दिल्ली। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण की अरुणाचल यात्रा को लेकर चीन ने बेहद सख्त प्रतिक्रया दी है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता चुनिंग ने रक्षा मंत्री की अरुणाचल यात्रा को लेकर कहा है कि, 'भारत-चीन सीमा के पूर्वी हिस्से को लेकर विवाद है भारतीय रक्षा मंत्री का यह दौरा उस क्षेत्र में शांति बनाए रखने की कोशिशों के लिहाज से अनुकूल नहीं है।' चीनी अधिकारी ने कहा है कि, 'हमें आशा है कि सीमा विवाद को बातचीत के जरिए सुलझाने के लिए अनुकूल माहौल तैयार करने में भारतीय पक्ष चीन की कोशिशों में सहयोग देगा।'

बता दें कि चीन लगातार दावा करता रहा है कि अरुणाचल प्रदेश दक्षिणी तिब्बत का हिस्सा है। वह भारतीय शीर्ष अधिकारियों के इस इलाके के दावे पर नियमित रूप से आपत्ति जताता है। भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा 3,488 किलोमीटर लंबी है। 
रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने चीन की सीमा से लगे अरुणाचल प्रदेश के सुदूर अंजॉ जिले में सेना की अग्रिम चौकियों का रविवार को दौरा किया था। इसके साथ ही रक्षामंत्री ने चीनी सीमा पर रक्षा तैयारियों का जायजा लिया था। रक्षामंत्री के साथ उनके साथ पूर्वी कमान के जनरल आफिसर कमांडिंग-इन-चीफ ले. जनरल अभय कृष्ण और सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी साथ थे। रक्षा प्रवक्ता संवित घोष ने एक विज्ञप्ति में बताया कि रक्षामंत्री को वास्तविक नियंत्रण रेखा की स्थिति और रक्षा तैयारियों के बारे में जानकारी दी गई है। 


कांग्रेस की कार्य समिति गठित, इस बार दिग्विजय को नही मिली जगह

 पीएम मोदी दो दिवसीय पूर्वांचल दौरे पर, करोड़ों की योजनाओं का करेंगे शिलान्‍


 VT PADTAL