VT Update
जल्द होंगे पंचायत चुनाव 27 को होगा पंच सरपंच का आरक्षण देर रात किया गया आरक्षण प्रक्रिया का प्रारंभिक प्रकाशन जल्द होंगे पंचायत चुनाव 27 को होगा पंच सरपंच का आरक्षण देर रात किया गया आरक्षण प्रक्रिया का प्रारंभिक प्रकाशन दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की वार्षिक बैठक आज , मुख्यमंत्री कमलनाथ करेगे शीर्ष उद्योगपतियों से वन टू वन मुलाकात, मध्यप्रदेश में निवेश की संभावनाओं पर करेगे चर्चा सोसायटियों में वंचितों को मिलेगा प्लाट या मुआवजा, कलेक्टर समिति पदाधिकारियों से कर रहे वन टू वन, जनसुनवाई में आए प्रकरणों का हो रहा निराकरण साध्वी प्रज्ञा को धमकी भरा पत्र लिखने वाले रहमान ने एमपीएस की पूछताछ में किया खुलासा अपनी मां और भाई को फसाने के लिए सांसद प्रज्ञा को लिफाफे में भरकर भेजा था पाउडर, भाई और माँ के कारण आरोपी को 18 दिन रहना पड़ा था जेल में
Friday 2nd of August 2019 | बीजेपी में मची रार, हाईकमान चिंतित

बैठक से बीजेपी के कई विधायक रहे गायब, एकजूटता का संदेश देने में नाकाम हुआ प्रदेश नेतृत्व


 

भाजपा प्रदेश कार्यालय में पार्टी द्वारा चलाए जा रहे संगठन पर्व के तहत सदस्यता अभियान की समीक्षा बैठक में बागी विधायकों नारायण त्रिपाठी और शरद कोल की गैरमौजदूगी चर्चा का विषय रही। दोनों विधायक पार्टी के निर्देश के बावजूद बैठक में शामिल नहीं हुए। बैठक में सभी विधायकों, सांसदों और राष्ट्रीय पदाधिकारियों को भी बुलाया गया था लेकिन आधे से ज्यादा सांसद और विधायक भी बैठक में नहीं पहुंचे। वहीं, कई बड़े नेताओं की नामौजूदगी चर्चा का विषय बनी रही ।

      हालांकि बैठक में दोनों विधायकों के शामिल न होने पर प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने सफाई दी और कहा कि उन्हें कई विधायकों ने नहीं आने की सूचना पहले ही दे दी थी। वहीं, बीच बैठक में ही प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। जिसको लेकर भी सवाल उठते रहे। हालांकि उन्होंने इसके पीछे लोकसभा चलने का हवाला दिया। इस दौरान सिंह ने कहा है कि सदस्यता अभियान ठीक तरीके से चल रहा है और बैठक में विधायक कई कारणों से अनुपस्थित हैं।

       इस बैठक में खास बात यह रही कि बैठक सदस्यता अभियान को लेकर बीजेपी कार्यालय में जरूर थी। लेकिन इस बैठक के पीछे बीजेपी के विधायकों को एकजुटता का संदेश देना भी था। जो कहीं ना कहीं अधूरा रह गया। कई विधायक-सांसद और दिग्गज नेता बैठक में शामिल नहीं हुए। वहीं, बीजेपी की बागी विधायकों को मनाने की कोशिश भी अधूरी रह गई।

अब कोई नहीं जाएगा : बैठक में पहुंचे बीजेपी विधायकों और नेताओं ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि जिन विधायकों को कांग्रेस में जाना था, वें चले गए। अब कोई नहीं जाएगा। विधायक आकाश विजयवर्गीय ने यहां तक कह दिया कि कांग्रेस में विचारधारा से जुड़ा व्यक्ति नहीं जाएगा। जिन्हें जाना था, वह चले गएए, अब कोई नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार की स्थिति खराब है, अब कांग्रेस के विधायक भाजपा में आने शुरू होंगे।


चिदांबरम के विरोध में आए कमलनाथ के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा,  मोदी सरकार का कि

सिंधिया के बदले सूर पर पूर्व मंत्री पवैया का हमला, सवाल दागते हुए दिया निमंत


 VT PADTAL