VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Friday 2nd of August 2019 | बीजेपी में मची रार, हाईकमान चिंतित

बैठक से बीजेपी के कई विधायक रहे गायब, एकजूटता का संदेश देने में नाकाम हुआ प्रदेश नेतृत्व


 

भाजपा प्रदेश कार्यालय में पार्टी द्वारा चलाए जा रहे संगठन पर्व के तहत सदस्यता अभियान की समीक्षा बैठक में बागी विधायकों नारायण त्रिपाठी और शरद कोल की गैरमौजदूगी चर्चा का विषय रही। दोनों विधायक पार्टी के निर्देश के बावजूद बैठक में शामिल नहीं हुए। बैठक में सभी विधायकों, सांसदों और राष्ट्रीय पदाधिकारियों को भी बुलाया गया था लेकिन आधे से ज्यादा सांसद और विधायक भी बैठक में नहीं पहुंचे। वहीं, कई बड़े नेताओं की नामौजूदगी चर्चा का विषय बनी रही ।

      हालांकि बैठक में दोनों विधायकों के शामिल न होने पर प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने सफाई दी और कहा कि उन्हें कई विधायकों ने नहीं आने की सूचना पहले ही दे दी थी। वहीं, बीच बैठक में ही प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। जिसको लेकर भी सवाल उठते रहे। हालांकि उन्होंने इसके पीछे लोकसभा चलने का हवाला दिया। इस दौरान सिंह ने कहा है कि सदस्यता अभियान ठीक तरीके से चल रहा है और बैठक में विधायक कई कारणों से अनुपस्थित हैं।

       इस बैठक में खास बात यह रही कि बैठक सदस्यता अभियान को लेकर बीजेपी कार्यालय में जरूर थी। लेकिन इस बैठक के पीछे बीजेपी के विधायकों को एकजुटता का संदेश देना भी था। जो कहीं ना कहीं अधूरा रह गया। कई विधायक-सांसद और दिग्गज नेता बैठक में शामिल नहीं हुए। वहीं, बीजेपी की बागी विधायकों को मनाने की कोशिश भी अधूरी रह गई।

अब कोई नहीं जाएगा : बैठक में पहुंचे बीजेपी विधायकों और नेताओं ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि जिन विधायकों को कांग्रेस में जाना था, वें चले गए। अब कोई नहीं जाएगा। विधायक आकाश विजयवर्गीय ने यहां तक कह दिया कि कांग्रेस में विचारधारा से जुड़ा व्यक्ति नहीं जाएगा। जिन्हें जाना था, वह चले गएए, अब कोई नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि कमलनाथ सरकार की स्थिति खराब है, अब कांग्रेस के विधायक भाजपा में आने शुरू होंगे।


मोदी सरकार के समर्थन में आए कई कांग्रेसी दिग्गज, नाराज कांग्रेस ने बुलाई बैठ

प्रदेश की सियासत में सक्रिय होती उमा भारती, सियासी गलियारे में चर्चाओं को बा


 VT PADTAL