VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Sunday 4th of August 2019 | भाजपा व संघ की तीन दिनी बैठक शुरू

पार्टी में जारी अंर्तकलह से संघ नाराज, बीजेपी नेताओं संग तीन दिन चलेगी बैठकें


राजधानी में आज से राष्ट्रीय स्वयं संघ की तीन दिवसीय बैठक शुरू हो रही है। बैठक में शामिल होने के लिए संघ के दिग्गज पदाधिकारी भोपाल पहुंच चुके हैं। संघ की अलग-अलग बैठकें शारदा विहार, समिदा और अन्य स्थानों पर आयोजित होनी है। इसके लिए संघ के सह सरकार्यवाह डॉण् कृष्णगोपालन भोपाल आ गए हैं। वहीं, सर कार्यवाह सुरेश सोनी 4 से 6 अगस्त के बीच भोपाल में रहेंगे। सुरेश सोनी विद्याभारती की बैठकों को संबोधित करेंगे। जिसमें खासतौर पर प्रदेश में सरस्वती स्कूलों की संख्या में वृद्धि और वहां के पठन-पाठन पर फोकस किया जाएगा। संघ की आगामी रणनीति को लेकर इस बैठक को अहम माना जा रहा है।

        आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में भाजपा के बागी विधायकों के घटनाक्रम और पार्टी में आंतरिक गुटबाज़ी से संघ काफी नाराज़ है। प्रदेश में पार्टी के सामने आगे कोई ऐसे हालात न बनें इसके लिए संघ ने मोर्चा संभाल लिया है। संघ की बैठक में पार्टी की गुटबाजी का मुद्दा उठ सकता है।  दरअसल, संघ बीजेपी विधायकों के कांग्रेस में जाने की अटकलें और प्रदेश में बढ़ती लिंचिग की घटनाओं के सामने आने के बाद संघ ने इसका रास्ता निकालने के लिए रणनीति तैयार करेगी। जिससे पार्टी की छवि भी न बिगड़े और पार्टी खुलकर सरकार पर इन घटनाओं को लेकर दबाव भी बना सके। जानकारी के मुताबिक संघ के तीन दिवसीय बैठक में इन्ही मुद्दों पर संघ का पूरा फोकस रहेगा।

         पार्टी सूत्रों की माने तो संघ और बीजेपी नेताओं की बैठक लोकसभा चुनाव के बाद ही होनी थी। लेकिन विधानसभा का सत्र शुरू होने के कारण बैठक की तिथि आगे बढ़ा दी गई थी। इस बीच विधानसभा सत्र के अंतिम दिन भाजपा विधायक नारायण त्रिपाठी और शरद कोल द्वारा कांग्रेस को समर्थन देने की घोषणा ने प्रदेश में जिला स्तर पर चल रही भाजपा नेताओं के बीच खींचतान को सामने ला दिया है। इससे संघ के वरिष्ठ पदाधकारी और भाजपा के नए राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष भी नाराज़ हैं। बताया जा रहा कि संतोष ने कहा है कि जिला स्तर पर अध्यक्षों और विधायकों के बीच चल रही गुटबाजी के कारण पार्टी में अंर्तकलह की स्थिति बनी है। कहा जा रहा कि संघ और बीजेपी नेताओं की शुरू हो रही तीन दिवसीय मैराथन बैठक में इन सभी घटनाक्रमों पर चर्चा की जाएगी। नाराज विधायकों से भी चर्चा की जाएगी।


मोदी सरकार के समर्थन में आए कई कांग्रेसी दिग्गज, नाराज कांग्रेस ने बुलाई बैठ

प्रदेश की सियासत में सक्रिय होती उमा भारती, सियासी गलियारे में चर्चाओं को बा


 VT PADTAL