VT Update
रीवा में 50% बिल जमा होने के बाद भी काटी गई बिजली ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन अधीक्षण अभियंता को सौंपा गया ज्ञापन पत्र कलेक्टर की फटकार के बाद हरकत में आई फ्लाईओवर की निर्माणाधीन एजेंसी, प्रदूषण रोकने 7 दिन का दिया गया है समय, निर्माणाधीन एजेंसी अभी भी कर रहे हैं सुरक्षा की अनदेखी भोपाल में जिला अध्यक्षों की बैठक में बोले मुख्यमंत्री कमलनाथ- प्रदेश में हमारी सरकार दिल्ली में इतनी अधिक संख्या के मध्य प्रदेश किसान बढे , 25 नवंबर को भोपाल और 14 दिसंबर को दिल्ली में होगा केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन मध्य प्रदेश के 6 साल पुराने पुलिस आरक्षक भर्ती घोटाले में कथित दोषी करार, व्यापम महा घोटाले से जुड़े 14 वे केस में फैसला,25 को मिली सजा नीट की अनिवार्यता से आयुष कॉलेजों में 50 फ़ीसदी सीटें खाली व्यवस्था पर उठने लगे सवाल, सरकार ने सत्र 19-20 की काउंसलिंग में नीट उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को मेरिट के अनुसार प्रवेश कब दिया था मौका
Sunday 4th of August 2019 | खंडवा का युवक पाकिस्तान में गिरफ्तार

पाकिस्तान में पकड़ाए भारतीय युवक की हुई पहचान, स्वदेश ले आने की तैयारी हुई तेज


पाकिस्तान पुलिस ने बीते बुधवार को जिस भारतीय युवक को जासूस समझकर गिरफ्तार किया था। उसकी पहचान हो चुकी है। उक्त युवक की पहचान मध्यप्रदेश के खंडवा जिले के नर्मदानगर में रहने वाले एक भील परिवार से संबंध रखने वाले राजू लक्ष्मण भील 40 वर्ष के रूप में सामने आई है। पहचान होने के बाद पुलिस ने राजू को वापस भारत लाने की तैयारी शुरु कर दी है। पुलिस मुख्यालय ने अपनी रिपोर्ट गृह मंत्रालय और खुफिया एजेंसियों को सौंप दी है। सूचना है कि जल्द ही राजू को स्वदेश लाने के लिए आगे की कार्रवाई की जाएगी।

      दरअसल, बीते 29 जुलाई को पाकिस्तान पुलिस ने डेरा गाजी खान जिले के राखी गज इलाके से  मध्य प्रदेश के एक युवक को गिरफ्तार किया था। इस पर एमपी इंटेलिजेंस ने युवक की पहचान करने के लिए इंदौर और खंडवा में संभावित स्थानों पर पूछताछ शुरू की। जिसमें युवक को शनिवार की बीती रात इंटेलिजेंस ने युवक की पहचान कर ली। राजू के छोटे भाई दिलीप का कहना है कि शनिवार को उसके घर खुफिया पुलिस के कुछ लोग फोटो लेकर आए थे, जिससे उसकी पहचान राजू के रूप में की गई है।  बताया जा रहा है कि राजू की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। राजू के परिवार में पिता लक्ष्मण, मां बसंता, भाई दिलीप और बहन ममता है। राजू की शादी राजस्थान में हुई है। राजू साल 2018 की गर्मियों में आखिरी बार गांव में देखा गया था। राजू 5वीं कक्षा तक पढ़ा है और उसकी मानसिक स्थिति साल 2005 से यानी शादी के बाद खराब हुई है। लोगों का कहना है कि पत्नी के घर से चले जाने के बाद से राजू घर से 1 से 2 महीनों तक बाहर ही रहता था। राजू पिछले 6-7 महीने से घर नहीं आया है। हालांकि राजू को ओंकरेश्वर के आसपास साधू संतों के साथ घूमता देखा गया था, वह गांजा और चिलम पीता है। इसके बाद से उसकी कोई खोज खबर नहीं मिल पाई है।

        जानकारी के मुताबिक 15 साल पहले ओंकारेश्वर बांध के कारण राजू का गांव डूब गया था, तभी से पूरा परिवार इंधावड़ी इलाके में आकर रहने लगा। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, राजू ने इंधावड़ी जिला खंडवा का पता बताया है। फिलहाल पहचान होने के बाद पुलिस मुख्यालय ने मामले की पूरी जानकारी गृह मंत्रालय और खुफिया एजेंसियों को भेज दी है। अब देखना है कि राजू को कब तक स्वदेश वापस ले आया जाता है।


अयोध्या राम मंदिर मामले पर सुप्रीम कोर्ट का पूरा फैसला

Xiaomi की शानदार स्मार्ट वॉच Mi Watch हुई लॉन्च


 VT PADTAL