VT Update
वायरल ऑडियो कांड में पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ल को क्लीन चीट, जिला भाजपा मंत्री सत्यमणि पांडे प्राथमिक सदस्यता से किए गए निलंबित, अनुशासनहीनता के लगे आरोप, महिला मोर्चा ने खोला मोर्चा। कॉलेज लेवल काउंसलिंग में रीवा जिले के साढे 4000 सीटों को भरने की चुनौती, 19 को यूजी तो 21 को पीजी की जारी होगी अंतिम सूची। मध्य प्रदेश की जेल में बंद कैदी अब नई ड्रेस में आएंगे नजर, सिर से टोपी होगी गायब, प्रदेश की जेलों में नहीं चलेंगे अंग्रेजों के जमाने के नियम। कैबिनेट मंत्री इमरती देवी ने उमा भारती पर कसा तंज, कहा अगले विधानसभा सत्र में हमारे होंगे भाजपा के 7-8 विधायक। नंगे पैर 11 सेकंड में 100 मीटर दौड़ा मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले का रामेश्वर गुर्जर, खेल मंत्री रिजिजु बोले एथेलेटिक अकादमी में करेंगे ट्रेनिंग का इंतजाम, मध्य प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी ने धावक से की मुलाकात।
Monday 5th of August 2019 | भारत के निर्णय से पाक नाराज

सरकार के फैसले पर पाक ने जताया विरोध, कहा जाएंगे अंतरराष्ट्रीय कोर्ट


जम्मू.कश्मीर को लेकर केंद्र की मोदी सरकार के ऐलान से पाकिस्तान भी हैरान है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय का कहना है कि भारत का फैसला हमें स्वीकार्य नहीं है। भारत की कोशिश संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के संकल्पों और कश्मीरी लोगों की इच्छाओं के खिलाफ है। पाकिस्तान ने कहा कि पाकिस्तान सरकार, भारत सरकार के इस फैसले का विरोध अतंरराष्ट्रीय स्तर पर करेगा। भारत के इस कदम के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय कानूनों का सहारा लेंगे। मोदी सरकार द्वारा कश्मीर पर लिए गए निर्णय पर पाकिस्तान ने नाराजगी जाहिर की है। और कहा है कि भारत सरकार का यह फैसला पाकिस्तान को मंजूर नहीं है। पाक ने कहा कि कश्मीर का मुद्दा एक अंतराष्ट्रीय विवाद है। भारत सरकार कश्मीर पर कोई एक पक्षीय फैसला नहीं कर सकती है। न ही इससे विवादित कश्मीर का मुद्दा शांत होगा। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में यह मुद्दा उठा है, यह फैसला न तो पाकिस्तान को मंजूर है, न ही जम्मू और कश्मीर को लोगों को। इससे पहले पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि भारत अगर अनुच्छेद 35 ए से छेड़छाड़ करता है तो कश्मीर की समस्या बढ़ेंगी।

           आपको बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर का पुनर्गठन विधेयक 2019 राज्य सभा में पेश किया। इसके तहत जम्मू.कश्मीर राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया गया है। जम्मू.कश्मीर का पहला हिस्सा जम्मू.कश्मीर ही होगा ये दिल्ली की तरह एक केंद्र शासित प्रदेश होगा। यहां पर एक विधानसभा होगी। अबतक जम्मू.कश्मीर के साथ रहने वाला लद्दाख अब अलग केंद्र शासित प्रदेश हो गया है। लद्दाख में विधानसभा नहीं रहेगी।


डोनल्ड ट्रंप ने पेश किया नई प्रवासन नीति का ख़ाका, युवा, पढ़े-लिखे और अंग्रेज

श्रीलंका में हुए सीरियल बम धमाकों के पीछे नेशनल तौहीद जमात संगठन का नाम


 VT PADTAL