VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Thursday 8th of August 2019 | धारा 370 को लेकर दो धड़ों में बंटी कांग्रेस

मोदी सरकार के समर्थन में आए कई कांग्रेसी दिग्गज, नाराज कांग्रेस ने बुलाई बैठक


केंद्र की मोदी सरकार द्वारा जम्मू.कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने के फैसले को लेकर कांग्रेस पार्टी दो धड़ों में बंट गई है। कांग्रेस का एक धड़ा राहुल गांधी और गुलाब नबी आजाद जैसे बड़े नेता की ओर है। तो दूसरा धड़ा कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के भाई और वर्तमान विधायक लक्ष्मण सिंह की ओर है। उसके बाद अब कमलनाथ सरकार के कैबिनेट मंत्री सुखदेव पांसे भी सिंधिया वाले धड़े में शामिल हो गए है। दरअसल कांग्रेस पार्टी में इन दिग्गजों को दो धड़ा धारा 370 के समर्थन और विरोध को लेकर बन गया है। जिसमें कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे राहुल गांधी और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री व राज्यसभा एलओपी गुलाब नबी आजाद ने मोदी सरकार के फैसले का जमकर विरोध किया। वहीं, कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव, पूर्व सांसद व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने सरकार के इस फैसले का खुलकर समर्थन किया है। इस मुद्दे पर पार्टी अब अपने नेताओं के रुख से असमंजस में है। कांग्रेस पार्टी के हाईकमान ने 9 अगस्त को सभी राज्यों के नेताओं की दिल्ली में विशेष बैठक बुलाई है। जिसमे संभावना है कि पार्टी नेताओं को हिदायत दे सकती है।

        दरअसल, अनुच्छेद 370 हटाये जाने का कांग्रेस नेतृत्व ने विरोध किया है। राहुल गांधी ने बिल का विरोध करते हुए कहा कि जम्मू.कश्मीर को एक तरफा फैसले के चलते टुकड़ों में बांटा गया है, यह संविधान का उल्लंघन है। जबकी कांग्रेस के ही कई दिग्गज नेता इसका समर्थन कर रहे है। इस बीच पार्टी में ऐसे नेताओं की सूची लंबी होती जा रही है,, जो सरकार के फैसले का समर्थन कर रहे हैं। अब कमलनाथ समर्थक मंत्री सुखदेव पांसे ने समर्थन कर गर्माई सियासत को नई हवा दे दी है।

       प्रदेश के पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे ने केन्द्र सरकार द्वारा कश्मीर से धारा 370 हटाने की कार्रवाई का स्वागत किया है। पांसे ने कहा, देशहित में लिए जाने वाले फैसलों का स्वागत होना चाहिए। ये फैसला सबको साथ लेकर होना चाहिए था। आपको बता दें कि सुखदेव पांसे को कमलनाथ खेमे का मंत्री माना जाता है। सुखदेव पांसे बैतूल जिले के मुलताई से विधायक हैं और कमलनाथ के करीबी मंत्रियों में से एक हैं। हैरानी की बात तो ये है कि सीएम कमलनाथ ने धारा 370 हटाए जाने के फैसले पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है लेकिन उनके मंत्री और विधायक खुलकर मोदी सरकार के धारा 370 हटाए जाने के फैसले का समर्थन कर रहे हैं।

यह है समर्थन में : धारा 370 हटाए जाने के निर्णय के बाद मंगलवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मोदी सरकार के इस फैसले का समर्थन किया है। ज्योतिरादित्य ने मंगलवार को ट्वीट किया कि मैं जम्मू कश्मीर और लद्दाख पर उठाए गए कदम और भारत के संघ में इसके पूर्ण एकीकरण का समर्थन करता हूं। बेहतर होता अगर संवैधानिक प्रक्रिया का पालन किया जाता। तब कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता था। फिर भी, यह हमारे देश के हित में है। मैं इसका समर्थन करता हूं। वहीं चाचौड़ा से कांग्रेस विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय के भाई लक्ष्मण सिंह ने भी इसका समर्थन किया है। जबकी दिग्विजय और सीएम कमलनाथ ने अभी तक इस मसले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इससे पहले कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा, दीपेंद्र हुड्डा और पूर्व महासचिव जर्नादन द्विवेदी पहले ही इस बिल पर समर्थन कर चुके हैं।  


मोदी सरकार के समर्थन में आए कई कांग्रेसी दिग्गज, नाराज कांग्रेस ने बुलाई बैठ

प्रदेश की सियासत में सक्रिय होती उमा भारती, सियासी गलियारे में चर्चाओं को बा


 VT PADTAL