VT Update
वाराणसीः CM योगी ने चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा का अनावरण किया छत्तीसगढ़ः दंतेवाड़ा में IED विस्फोट में पांच जवान शहीद, 2 घायल रेलवे मैदान में होगा सद्भावना सम्मेलन, सतपाल जी महराज देगें उद्वबोधन रीवा व्यंकट भवन में विश्व संग्रहालय दिवस के उपलक्ष्य में लगाई गई प्रदर्शनी एमपी बोर्ड 10वीं और 12वीं रिजल्ट घोषित, मेरिट में छात्राओं का रहा दबदबा
विवादों में संजय लीला भंसाली की फिल्म "पद्मावती "

विवादों में संजय लीला भंसाली की फिल्म "पद्मावती " , सुप्रीम कोर्ट ने रिलीज पर लगाई रोक


नई दिल्ली। संजय लीला भंसाली की फिल्म "पद्मावती " को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है । फिल्म के प्रदर्शन पर राजस्थान सरकार पर राजपूत समाज द्वारा बनाए जा रहे दबाव के बीच प्रदेश के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने साफ किया कि  विरांगनाओं का अपमान कर फिल्म नहीं चलाने दी जा सकती। फिल्म के जिस  विवादित हिस्से को लेकर लोगों की भावनाएं आहत हुई है,विवादित अंश हटवाने के बाद ही फिल्म के प्रदर्शन पर विचार किया जाएगा । इसके साथ हि संजय लीला भंसाली द्वारा निर्देशित रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और शाहिद कपूर की फिल्म पद्मावती को लेकर सेंसर बोर्ड के एक सदस्य ने विवादित बयान भी दिया है।बीजेपी नेता और भारतीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) के सदस्य अर्जुन गुप्ता ने कहा है कि उन्होंने गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर संजय लीला भंसाली पर राजद्रोह का मुकदमा चलाने की अपील की है। अर्जुन गुप्ता ने आरोप लगाया है कि भंसाली ने इतिहास को तोड़ मरोड़ पेश किया है। जिससे राष्ट्रीय भावनाएं आहत हुई हैं। वहीं संजय लीला भंसाली ने एक बयान जारी करके कहा है कि फिल्म में “राजपूतों की मान-मर्यादा” का ख्याल रखा गया है।

वहीं पूरे घटनाक्रम के बाद आज शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने पद्मावती फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। वहीं इस फिल्म पर भारतीय जनता पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है कि हमें इसके पीछे यह ध्यान देना होगा कहीं कोई अंतरराष्ट्रीय साजिश तो नहीं है। दुबई के लोग जरूर यह चाहते हैं कि मुस्लिम राजा सिनेमा में बतौर नायक पेश किए जाएं। यह एक साजिश चल रही थी, जिसमें पद्मिनी को भी हल्के तरीके से बनाया गया। UPA आने के बाद इन लोगों को उत्साह मिला। स्वामी ने कहा कि भंसाली को मिल रहे पैसों की जांच प्रवर्तन निदेशालय को करनी चाहिए।

गौरतलब है कि संजय लीला भंसाली अपनी आगामी फिल्‍म पद्मावती की शूटिंग राजस्थान स्थित नाहरगढ़ फोर्ट में कर रहे थे। इसी साल जून में उनके साथ बदसलूकी की खबरे भी कई बार सामने आई थी। करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने भंसाली के साथ धक्‍का-मुक्‍की की थी और शूटिंग के लिए रखे उपकरणों और स्‍पीकर  तोड़ दिया थे। इसके साथ ही करणी सेना के एक कार्यकर्ता ने भंसाली को थप्पड़ भी मारा था। सेना के कार्यकर्ताओं का आरोप है कि भंसाली की फिल्‍म में इतिहास से जुड़े तथ्‍यों और रानी पद्मावती की छवि तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। सेना का कहना है कि उन्हें अलाउद्दीन खिलजी और रानी पद्मावती के बीच कथित रूप से फिल्माए जा रहे लव सीन पर आपत्ति है।


 


पंचतत्व में विलीन हुई “रूप की रानी” विफरा हिंदुस्तान

जी हाँ !अगर सोशल मीडिया में लड़ाई हुई तो हम पकिस्तान से हार जायेंगे ...?


 VT PADTAL