VT Update
इनामी डकैत बबुली कोल व लवलेस कोल के खात्मे के बाद साथियों में गैंग का सरदार बनने की लगी होड़, गैंग के अन्य साथी सदस्यों की तलाश में जुटी है पुलिस, डकैतों की तलाशी में आगे आई यूपी पुलिस। 94 वें जयंती पर याद किए गए विंध्य के सफेद शेर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष स्वर्गीय श्रीयुत श्रीनिवास तिवारी, कृष्णा राजकपूर अॅाडिटोरियम में आयोजित किया गया विचारगोष्ठी कार्यक्रम। संत समागम में सीएम कमलनाथ का ऐलान, संतों की कुटिया, आश्रम, मंदिर और गौ शाला को पट्टा देने पर किया जाएगा विचार, बोले- धर्म के नाम पर हुए घोटालों की होगी जांच। मध्यप्रदेश में बाढ़ की त्रासदी से 50 हजार से अधिक लोग प्रभावित, अभी भी राहत शिविरों में रहने का मजबूर, सीएम नाथ बोले- बीजेपी राजनीति करना छोड़, केंद्र से मदद दिलाने में करे सहयोग। मध्यप्रदेश में बारिश की आफत, मंदसौर और नीमच में तबाही के बाद चंबल में बाढ़ का कहर, 150 से ज्यादा गांव घिरे, डेढ़ हजार से अधिक लोगों को सेना ने सुरक्षित निकाला। मध्यप्रदेश में बारिश की आफत, मंदसौर और नीमच में तबाही के बाद चंबल में बाढ़ का कहर, 150 से ज्यादा गांव घिरे, डेढ़ हजार से अधिक लोगों को सेना ने सुरक्षित निकाला।
Sunday 18th of August 2019 | भाजपा ऑडियो वायरल कांड में महिला नेता ने की कार्रवाई की मांग

ऑडियो वायरल पर संगठन का चला डंडा, दोषी जिला मंत्री को किया गया निलंबित


भारतीय जनता पार्टी के रीवा इकाई में बीते दिनों पैसे के लेनदेन को लेकर वायरल हुए ऑडियो में भाजपा संगठन ने एक्शन लिया है। जिसमें दोषी पाए गए पार्टी के जिला मंत्री सत्यमणि पांडे की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। वहीं, चर्चा में रहे पूर्व मंत्री और रीवा से विधायक राजेंद्र शुक्ल को क्लीन चीट मिल गई है। रीवा भाजपा में एक ऑडियो वायरल होने के बाद से मची फूट पर अब विराम लग गया है। जिसमें संगठन ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की है। संगठन ने इस मामले में दोषी पाए गए जिला मंत्री सत्यमणि पांडे की प्राथमिक सदस्यता निलंबित कर दी है। आपको बता दें कि बीते दिनों मऊगंज से भाजपा विधायक प्रदीप पटेल ने परिवहन विभाग के हनुमना चेक पोस्ट पर मनमानी और अव्यवस्था को लेकर धरना दिया था। जिसके बाद उन पर पैसा मांगने व दबाव की राजनीति करने के आरोपों वाला ऑडियो वायरल हुआ था। जिसमें आरोप है कि पूर्व मंत्री और रीवा से भाजपा विधायक राजेंद्र शुक्ला तथा जिला मंत्री सत्यमणि पटेल के बीच यह बातचीत चल रही है। इस ऑडियो के सामने आने के बाद भाजपा संगठन में हड़कंप मच गया। जिसके बाद इस मामले की शिकायत पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से की गई। इस मामले को लेकर संगठन ने कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए सात दिन में जवाब मांगा था।

आपको बता दें कि वायरल हो रहे टेप के आवाजों को जिलाध्यक्ष विद्याप्रकाश श्रीवास्तव ने पकड़ा था। जिसमें उन्होंने जिला मंत्री के आवाज होने की पुष्टि की थी। वहीं, इस मामले पर पूर्व मंत्री ने सफाई देते हुए प्रदीप पटेल को संस्कारी और चरित्रवान नेता बताते हुए राजनीतिक प्रतिद्वंदता के कारण अपने ऊपर आरोप लगाए जाने का दावा कर दिया। जिसके बाद बीते दिनों रीवा प्रवास पर आए प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह व संगठन मंत्री से विधायत प्रदीप पटेल ने कार्रवाई की मांग की। जिसके बाद पार्टी ने जिला मंत्री को दोषी मानते हुए प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। वहीं, दूसरे पक्ष में आरोपी रहे पूर्व मंत्री राजेंद्र शुक्ल को पूरी तरह से क्लीन चीट मील गई है। इसके अलावा अभी भी वायरल हुए टेप पर संदेह बरकरार है। जिसमें इस बात की तहकीकात की जा रही कि भीतर अकेले में हो रही बात को रिकाॅर्ड किसने कर लिया।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश नेतृत्व द्वारा दोषियों पर कार्रवाई किए जाने के बाद स्पष्ट हो गया है कि भाजपा अपने इकाई में किसी भी प्रकार अनुशासनहिनता बर्दाश्त नहीं कर सकती है। जिसका उदाहरण साफ है कि काफी जांच पड़ताल के बाद इस मामले में संगठन द्वारा अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। वहीं, इस कार्रवाई के बाद महिला आदिवासी नेता ने उर्मिला सिंह ने सत्यमणि पांडे के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग को लेकर पुलिस उपाधीक्षक से बात की है। अब देखना है कि पुलिस इस मामले में क्या कार्रवाई करती है।


रीवा के चोरहटा में बाइक सवार की हत्या, गड़ासे से काट कर उतारा मौत के घाट

खड्डा गांव के आदिवासी निवासियों ने कलेक्ट्रेट के सामने दिया धरना, कलेक्टर क


 VT PADTAL