VT Update
पाठ्य पुस्तक निगम के स्टोर रूम में पुलिस का छापा बाजार में बिकने जा रही लाखों की किताबें हुई जप्त निशुल्क वितरण के लिए भेजी गई पुस्तके बेची जा रही थी बाजार में प्रदेश में शराब की करीब 500 दुकानें खुलने का अनुमान 2 महीने के लिए भी उस दुकानें खोल सकते हैं शराब ठेकेदार जिला कलेक्टर देंगे दुकान खोलने की अनुमति एक्शन मोड में जेपी नड्डा भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद महासचिव सनग्ली पहली बैठक नागरिकता कानून के समर्थन में पार्टी की ओर से चलाए जा रहे कैंपेन की की समीक्षा देवास जिला योजना समिति की बैठक में मंत्री जीतू पटवारी और सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी के बीच जमकर हुआ विवाद, प्रभारी मंत्री ने कहा-बैठक से बाहर कर दूंगा तो सांसद बोले अगली बार मंत्री नहीं बन पाओगे जोमैटो फूड डिलीवरी ने अमेरिका कंपनी उबर ईट्स के भारतीय कारोबार को खरीदा डील के तहत उबर को जोमैटो के 9. 99% मिलेंगे शेयर
Tuesday 3rd of September 2019 | सिंगरौली में इरकॉन कंपनी के दफ्तर में पड़ा सीबीआई का छापा

सिंगरौली में रेलवे दोहरीकरण में अनियमितता की शिकायत पर, रेलवे बैलास्ट की जांच के लिए सीबीआई ने मारा छापा


सिंगरौली जिले के सरई में रेलवे पटरियों के दोहरीकरण कर रही इरकॉन कंपनी के दफ्तर में सीबीआई ने छापेमारी की कार्रवाई की है। सीबीआई को पटरी के बीच लगने वाले बैलास्ट कि गुणवत्ता को लेकर शिकायत मिली थी। सीबीआई के अधिकारी रेलवे ट्रैक दोहरीकरण कर रही कंपनी के यहां से मटेरियल के सैंपल भी जब्त कर कार्यवाही करने में जुटी हुई है।  सिंगरौली जिले के सरई में रेलवे द्वारा कराए जा रहे दोहरीकरण में गुणवत्ताहीन कार्य कराए जाने की शिकायत मिलने के बाद सीबीआई ने रेलवे में बैलास्ट सप्लाई की जांच के लिये छापेमारी की कार्रवाई की है। जिसमें सरई में बैलास्ट के सैंपल लेकर उन्हें लैब टेस्ट कराने के लिए भेजा है। सीबीआई की इस कार्रवाई में रेल विजिलेंस की टीम भी साथ में थी। जानकारी के मुताबिक सीबीआई जबलपुर की टीम द्वारा अचानक छापेमारी की कार्रवाई में बैलास्ट की सप्लाई एवं क्वालिटी की जांच की जा रही है। इस मामले में जानकारी है कि सीबीआई को यह शिकायत मिली थी कि रेल ट्रैक के दोहरीकरण के लिए जो बैलास्ट यानी रेल पटरियों के बीच में डालने वाली गिट्टी की सप्लाई हो रही है उसमें वह क्वालिटी नहीं है जो टेंडर में मांगी गई है। इसके अलावा इस बात पर भी संदेह जताया गया है कि जितनी मात्रा में बैलास्ट मंगाई गई है उससे मौजूद वक्त में मात्रा कम है। इसके साथ ही यह भी शिकायत की गई थी कि बैलास्ट की क्वालिटी जो कि सैंपल में दिखाई गई थी, वह सप्लाई नहीं की गई। जानकारी के मुताबिक जो बैलास्ट की सप्लाई की गई उसमें सी ग्रेड की बैलास्ट मिला दी गई है। इसी तरह की शिकायत सीबीआई को मिली और बैलास्ट की जांच के लिए छापेमारी की कार्रवाई की गई। हालांकि बैलास्ट की क्वालिटी और मात्रा की जांच में काफी समय लगेगा इसके लिए सीबीआई की टीम बैलास्ट की जांच के लिए लैब की रिपोर्ट मंगाएगी, जिससे यह पता लग सके कि बैलास्ट की सप्लाई सही हुई है या नहीं। सप्लाई से संबंधित कागज भी सीज कर दिए गए हैं ताकि वास्तविकता की जांच की जा सके । इन सभी मामलों की रिपोर्ट आने में समय अधिक समय लग सकता है।


सिंगरौली के 15 वर्षीय आदेश ने लिखी किताब

सिंगरौली जिला कलेक्टर ने युवाओं से फ़ौज में भर्ती होने कि अपील की


 VT PADTAL