VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Wednesday 4th of September 2019 | मप्र की राजनीति: केंद्रीय मंत्री और प्रदेश सरकार आमने सामने

केंद्रीय मंत्री कुलस्ते ने मध्यप्रदेश के गर्म राजनीति में रखा कदम, कांग्रेस सरकार को घेरा, लगाया गंभीर आरोप


मध्यप्रदेश में नई नवेली कमलनाथ सरकार के वनमंत्री उमंग सिंघार द्वारा अवैध खनन और शराब कारोबार करने को लेकर दिग्विजय सिंह पर लगाए गए आरोप को केन्द्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने नई हवा दे दी है। उन्होंने आरोप लगाया कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस के ही लोग अवैध खनन करा रहे हैं। मंत्री फग्गन के आरोप पर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट ने पलटवार करते हुए चुनौती दे दी। उन्होंने कहा कि कुलस्ते बताएं कि 15 साल तक एमपी में किसकी सरकार रही है। दरअसल, अवैध उत्खनन को लेकर अपने ही विधायकों और मंत्रियों से घिरी कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाकर केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते ने प्रदेश की राजनीति में चल रही सरगर्मी का पारा और चढ़ा दिया है। आपको बता दें कि इंदौर पहुंचे कुलस्ते ने कहा कि राज्य में कांग्रेस के लोग ही अवैध उत्खनन में शामिल हैं। इससे राजस्व का भारी नुकसान हो रहा है। इस संबंध में वो जल्द ही सीएम कमलनाथ से बात करेंगे। खनन माफिया पर कार्रवाई के लिए पत्र भी लिखेंगे। आपको बता दें कि मध्यप्रदेश में अवैध उत्खनन को लेकर बीते दिनों दिग्विजय खेमे के मंत्री गोविंद सिंह जो सरकार में सहकारिता और समान्य प्रशासन मंत्रालय का जिम्मा संभाल रहे है। उन्होंने प्रदेश सरकार पर उत्खनन न रोक पाने में नाकाम होने की बात स्वीकार करते हुए प्रदेश के मुखिया कमलनाथ से ठोस कदम उठाए जाने की मांग की। जिसके बाद से प्रदेश की सियासत में आरोपों और प्रत्यारोपों का दौर तेज हो गया। जिसके बाद अवैध उत्खनन को बीजेपी ने भी मुद्दा बनाते हुए सरकार को घेरना शुरू कर दिया। जिसके बाद अब केंद्रीय राज्यमंत्री कुलस्ते के बयान ने प्रदेश की राजनीति की गर्माहट को और तेज कर दिया है। हालांकि सरकार की तरफ से इन आरोपों पर कोई आधिकारिक जवाब नहीं आया है। अब देखना है कि सरकार मंत्री के आरोपों पर क्या पलटवार करती है। वहीं, झाबुआ में विधानसभा उपचुनाव का माहौल गर्म होता जा रहा है। ऐसे में राज्य सरकार जहां अपने मंत्रियों को तैनात किए हुए है। वहीं, माहौल बनाने के लिए केन्द्र सरकार भी अपने मंत्रियों के दौरे करा रही है। इसी सिलसिले में केन्द्रीय मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते भी झाबुआ दौरे पर थे। झाबुआ सीट दोनों ही पार्टियों के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बनी हुई है। इन सब के इतर आज प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान झाबुआ कृषि उपज मंडी में जनसभा को संबोधित करते हुए प्रदेश सरकार पर हमला बोल रहे है।


मोदी सरकार के समर्थन में आए कई कांग्रेसी दिग्गज, नाराज कांग्रेस ने बुलाई बैठ

प्रदेश की सियासत में सक्रिय होती उमा भारती, सियासी गलियारे में चर्चाओं को बा


 VT PADTAL