VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Saturday 7th of September 2019 | दिल्ली पहुंचा मप्र कांग्रेस का कलह

कांग्रेस अध्यक्ष ने सीएम व प्रभारी से मांगी पूरी रिपोर्ट, लगाया जा रहा बड़ी कार्रवाई होने कयास


मध्यप्रदेश में कांग्रेस नेताओं के बीच जुबानी जंग का मामला अब पार्टी मुख्यालय दिल्ली पहुंच गया है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सोनिया गांधी से मुलाकात कर अपना पक्ष रखा है। जिसके बाद अध्यक्षा सोनिया गांधी ने अब प्रदेश के मुखिया और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को पूरी रिपोर्ट के साथ दिल्ली बुलाया हैं। खबर है कि इस विवाद के बाद नए प्रदेश अध्यक्ष और संगठन में बदलाव करने का सोनिया गांधी बड़ा फैसला ले सकती है। वहीं, अनुशासन के मुख्य मुद्दा पर भी चर्चा की जाएगी।

         दरअसल, बीते कई दिनों से कांग्रेस नेताओं के बीच महाभारत जारी है। मध्यप्रदेश की राजनीति में कांग्रेस पार्टी में अब अलग-अलग गुट सक्रिय हो गए है और अपनी पार्टी के खिलाफ ही बयानबाजी कर रहे है। यहां तक की नेता अपने नेताओं पर भी छिंटाकशी करने से बाज नहीं आ रहे है। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सिंघार और दिग्गी के मामले ने तो भोपाल से लेकर दिल्ली तक पार्टी की जग हंसाई कराई है। जिस पर पार्टी हाईकमान ने नाराजगी जताई है और पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट तबल की है। बताया जा रहा कि सीएम कमलनाथ अपने दिल्ली प्रवास के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे और प्रदेश कांग्रेस में मचे घमासान को लेकर चर्चा करेंगे। दिल्ली रवाना होने से पहले सीएम कलनाथ ने बंद कमरे में दिग्विजय सिंह से चर्चा की थी। कयास लगाए जा रहे कि इस दौरान मंत्री और बड़े नेताओं की बयानबाजी और अनुशासनहीनता को लेकर भी चर्चा की जा सकती है।

        रिपोर्ट में नए प्रदेशाध्यक्ष की नियुक्ति और संगठन में बदलाव का भी जिक्र है। उम्मीद की जा रही, सोनिया संगठन में बदलाव को लेकर ब़ड़ा फैसला ले सकती है। जिसके बाद से पीसीसी चीफ की नियुक्ति को लेकर कयासों का दौर तेज हो गया है। चर्चा है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया 10 सितंबर तक विदेश में हैं, उनकी वापसी पर नए अध्यक्ष का रास्ता साफ होगा। पार्टी आलाकमान प्रदेश का नया अध्यक्ष कमलनाथ और सिंधिया की सहमति से चुनना चाहती है। इसी के चलते 12 सितंबर को देश भर के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्षों की बैठक बुलाई गई है। नए प्रदेशाध्यक्ष की दौड़ में फिलहाल बड़े नामों में सिंधिया का नाम सबसे अव्वल है। इसके अलावा अजय सिंह, बाला बच्चन, उमंग सिंघार, ओमकार सिंह मरकाम, रामनिवास रावत और प्रभुराम चौधरी के नामों की चर्चा जोरों पर है।

मंत्री का दावा- एक्शन मोड में आ चुके है सीएम

प्रदेश में जारी कांग्रेस नेताओं और प्रदेश सरकार के मंत्रियों के बयानों के बीच कमलनाथ सरकार के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने भी बयान दिया है। जिसमें उन्होंने कहा है कि कमलनाथ  एक्शन मोड में गए है और एक्शन मोड में कुछ भी  हो सकता है। साथ ही उन्होंने कहा है कि प्रदेश संगठन प्रभारी दीपक बावरिया भी पूरी तैयारी के साथ एक्शन मोड में है। जल्द ही कुछ भी हो सकता है।  


केंद्रीय मंत्री ने फिर दोहराया, गिरेगी कांग्रेस सरकार फिर शुरू होगी हमारी भ

मंत्री सिंघार के खिलाफ फूंका पूतला, दिग्गी के समर्थकों ने की नारेबाजी, विपक्


 VT PADTAL