VT Update
सतना के बदमाशों ने की रीवा में 11 वारदात, चेन स्नाचिंग जैसी तमाम अपराध करने वाले अपराधी हुए गिरफ्तार, पुलिस न ली राहत की सांस बाल दिवस पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने साधा कांग्रेस पर निशाना कहा बच्चों की योजनाएं शुरू करें सरकार वरना आंदोलन करने के लिए होंगे बाध्य ऑनलाइन परीक्षा के बहाने पीएससी ने दोगुने कर दिए पीएससी का शुल्क 310 पदों के लिए प्रारंभिक परीक्षा होगी 12 जनवरी को, आयोग ने विज्ञापन जारी कर दी जानकारी नवंबर 2020 में चंद्रयान भेजने की तैयारी में हुई गलतियों पर एक रिपोर्ट, अगले साल नवंबर में चंद्र की चंद्रमा पर हो सकेगी लैंडिंग हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर के मुख्यमंत्री बनने के बाद मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार 6 कैबिनेट मंत्रियों ने ली शपथ हर वर्ग के लोगों को बनाया गया मंत्री.
Saturday 7th of September 2019 | कश्मीर: धारा 370 हटने के एक महिने बाद की स्थिति

जम्मू-कश्मीर में हालात हुए सामान्य, सभी 10 जिलों में शुरू हुई नेट सेवाएं, प्रशासन रख रहा पैनी नजर


जम्मू कश्मीर में धारा 370 में बदलाव किए हुए एक महीने से ज्यादा हो चुके हैं। अब कश्मीर घाटी के सभी 10 जिलों के 5 टर्मिनल में इंटरनेट बूथ की सेवा शुरू कर दी गई है। इंटरनेट सेवा शुरू होने के बाद छात्रों और व्यावसायियों समेत अन्य लोग अब दस्तावेज, फाइल, बुक ऑर्डर और फॉर्म भर पाएंगे। यह बूथ डिप्टी कमिश्नर के कार्यालय में खोला गया है। जिसे सेवा अधिकारियों की निगरानी में शुरू किया गया है। इसके अलावा श्रीनगर में टूरिस्ट रिसेप्शन पर एयरलाइन के लिए इंटरनेट काउंटर भी शुरू हो गए है।

         गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में लागू किए गए अनुच्छेद 370 में बदलाव से एक दिन पूर्व केंद्र सरकार ने सुरक्षा के मद्देनजर इंटरनेट और टेलीफोन सेवाओं पर बैन लगा दिया था। जिसके ठीक एक महीने बाद घाटी में टेलीफोन सेवा बहाल कर दी गई थी। घाटी के सभी इलाकों में चार सितंबरकी रात से टेलीफोन सेवा बहाल कर दी गई थी। घाटी में टेलीफोन सेवा बहाल किए जाने के बाद जम्मू कश्मीर के प्रधान सचिव रोहित कंसल ने कहा, मोबाइल फोन और इंटरनेट सेवा की बहाली को लेकर शासन-प्रशासन हालात पर नजर रखे हुए है। आपको बता दें कि घाटी में सुरक्षा के लिहाज से अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती करने के साथ ही धारा 144 लागू कर दी गई थी। अब घाटी में हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं। लोगों के घरों से निकलने और दुकानें खोलने पर कोई पाबंदी नहीं है। माना यह जा रहा है कि धीरे-धीरे ही सही, घाटी में हालात जल्द सामान्य हो जाएंगे। बता दें कि पिछले दिनों अमेरिका ने भी भारत से कश्मीर में लागू प्रतिबंधों में ढील देने की अपील की थी। जिसके बाद अब स्थितियां लगभग सामान्य हो गई है। जिसके बाद जम्मू कश्मीर के दसों जिलों में इंटरनेट बूथ सेवा को फिर से बहाल कर दिया गया है। हालांकि शासन व प्रशासन किसी भी प्रकार का जोखिम नहीं उठाना चाहता है। जिसके कारण एहतियान प्रत्येक गतिविधियों पर प्रशासनिक अधिकारी व सुरक्षा एजेंसिया लगातार नजरें बनाई हुईं हैं।


शिवराज सरकार में आवंटित बंगलो की होगी होगी जाँच

सिंधिया पर फिर भरोसा जताया पार्टी ने, मिली बड़ी जिम्मेदारी


 VT PADTAL