VT Update
रीवा में 50% बिल जमा होने के बाद भी काटी गई बिजली ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन अधीक्षण अभियंता को सौंपा गया ज्ञापन पत्र कलेक्टर की फटकार के बाद हरकत में आई फ्लाईओवर की निर्माणाधीन एजेंसी, प्रदूषण रोकने 7 दिन का दिया गया है समय, निर्माणाधीन एजेंसी अभी भी कर रहे हैं सुरक्षा की अनदेखी भोपाल में जिला अध्यक्षों की बैठक में बोले मुख्यमंत्री कमलनाथ- प्रदेश में हमारी सरकार दिल्ली में इतनी अधिक संख्या के मध्य प्रदेश किसान बढे , 25 नवंबर को भोपाल और 14 दिसंबर को दिल्ली में होगा केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन मध्य प्रदेश के 6 साल पुराने पुलिस आरक्षक भर्ती घोटाले में कथित दोषी करार, व्यापम महा घोटाले से जुड़े 14 वे केस में फैसला,25 को मिली सजा नीट की अनिवार्यता से आयुष कॉलेजों में 50 फ़ीसदी सीटें खाली व्यवस्था पर उठने लगे सवाल, सरकार ने सत्र 19-20 की काउंसलिंग में नीट उत्तीर्ण करने वाले उम्मीदवारों को मेरिट के अनुसार प्रवेश कब दिया था मौका
Tuesday 10th of September 2019 | जर्जर हालात मे फायर ब्रिगेड गाड़ियाँ

डेढ़ महीने से जर्जर पड़ी है फायर ब्रिगेड गाड़ी और टैंकर, नहि हो रही मरम्मत


आगजनी में लोगों की मदद करने के लिए प्रशासन द्वारा जिस फायर ब्रिगेड की सुविधा उपलब्ध कराइ गयी है आज वही फायर ब्रिगेड खराब हालत में डेढ़ महीने से शहर के सिविल लाइन थाना क्षेत्र अंतर्गत फायर स्टेशन नगर पालिका निगम रीवा में खड़ी है| इसके साथ ही फायर स्टेशन के कर्मचारियों की भी हालत दयनीय है| रीवा शहर के सिविल लाइन थाना अंतर्गत फायर स्टेशन में २ फायर ब्रिगेड गाड़ियाँ हैं जिनमे से एक डेढ़ महीने से खराब है और साथ ही एक टैंकर है वो भी ३ महीने से खराब पड़ा हुआ है| चालक द्वारा बताया गया कि कई बार गाड़ियों को बनवाने के लिए आवेदन दिया जा चूका है लेकिन बाबूओं पर लापरवाही इस कदर हावी है कि अभी तक इसकी कोई भी सुनवाई नहीं की गयी है| साथ ही गाड़ियों को खड़ा करने के लिए भी पर्याप्त जगह नहीं है जिससे गाड़ियाँ धुप में खड़ी रहती है इसके अलावा फायर ब्रिगेड कर्मचारियों के भी रहने की व्यवस्था के नाम पर बस एक शीट डली हुई है उसमे भी बारिश के समय पूरा पानी अंदर आता है| कर्मचारियों के लिए बाथरूम तक नहीं है| हालाकि इस बात की शिकायत कमिश्नर से भी की गयी थी और उनसे आश्वासन भी मिला था और इंजिनियरस को इसकी ज़िम्मेदारी भी दी गयी थी लेकिन अभी तक गाड़ियों की मरम्मत नहीं हो पाई है| अब देखना है की कब तक कर्मचारियों को ऐसे ही हालात में अपना गुज़र बसर करना पड़ेगा|


पुलिस के हत्थे चढ़ा शातिर अपराधी

राज्य अधिवक्ता परिषद चुनाव की बढ़ी सरगर्मी


 VT PADTAL