VT Update
वाराणसीः CM योगी ने चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा का अनावरण किया छत्तीसगढ़ः दंतेवाड़ा में IED विस्फोट में पांच जवान शहीद, 2 घायल रेलवे मैदान में होगा सद्भावना सम्मेलन, सतपाल जी महराज देगें उद्वबोधन रीवा व्यंकट भवन में विश्व संग्रहालय दिवस के उपलक्ष्य में लगाई गई प्रदर्शनी एमपी बोर्ड 10वीं और 12वीं रिजल्ट घोषित, मेरिट में छात्राओं का रहा दबदबा
'पद्मावती' पर रोक से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, जिम्मेदारों के बयानबाजी पर जाहिर की नाराजगी

'पद्मावती' पर रोक से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, जिम्मेदारों के बयानबाजी पर जाहिर की नाराजगी


नई दिल्ली। फिल्म पद्मावती के विदेश मे रिलीज पर रोक की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने  विचार करने से इंकार कर दिया है। इसके अलावा कोर्ट ने जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों के फिल्म के बारे मे बयानबाजी करने पर नाराजगी जताई। कोर्ट में निर्माता की तरफ से कहा गया कि सेंसर बोर्ड के प्रमाणपत्र के बाद ही फिल्म रिलीज होगी। सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म को लेकर बयानों पर गहरी नाराजगी जताते हुए कहा, 'जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों द्वारा ऐसे बयान देना सही नहीं है। इससे सामाजिक सद्भाव को नुकसान पहुंचेगा और यह कानून के सिद्धांत के भी खिलाफ है।' 

सुप्रीम कोर्ट ने सवाल उठाया कि आखिर बिना फिल्म देखे जिम्मेदार पद पर बैठे लोग इसको लेकर बयान क्यों दे रहे हैं? कोर्ट ने कहा कि जिम्मेदार पदों और पब्लिक ऑफिस में बैठे लोगों की बयानबाजी फिल्म को लेकर बंद हो, क्योंकि ये सेंसर बोर्ड के दिमाग में पक्षपात पैदा करेगा।

कोर्ट ने कहा कि अगर कोई ऐसा करता है तो वो कानून के राज्य के सिद्धांत का उल्लंघन करेगा। इन लोगों को ये बात दिमाग में रखनी चाहिए कि हम कानून के राज्य के तहत शासित होते हैं। जब सीबीएफसी के पास मामला लंबित हो तो जिम्मेदार लोगों को कोई टिप्पणी नहीं करनी चाहिए, क्योंकि सेंसर बोर्ड विधान के तहत काम करता है और कोई उसे नहीं बता सकता कि कैसे काम करना है। हमें उम्मीद है कि सब संबंधित लोग कानून का पालन करेंगे। 


पंचतत्व में विलीन हुई “रूप की रानी” विफरा हिंदुस्तान

जी हाँ !अगर सोशल मीडिया में लड़ाई हुई तो हम पकिस्तान से हार जायेंगे ...?


 VT PADTAL