VT Update
उज्जैन सांसद चिंतामणि ने किया दावा, लोकसभा चुनाव में भाजपा जीतेगी प्रदेश की 29 सीटें। मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद शुरू हुई उलटफेर की राजनीति, कांग्रेस ठोक रही सरकार बनाने के दावा, कामत को नया सीएम बनाने की चर्चा तेज भिंड जिले के खड़ेरीपुर में मामूली विवाद में चली गोली, दो लोगों की मौत आधा दर्जन से अधिक लोग घायल। लोकसभा चुनाव को लेकर जारी उठा-पटक, दिग्गी ने स्वीकार किया सीएम नाथ का चैलेंजे, बोले- पार्टी जहां से बोले वहां से लडूंगा चुनाव। कार्रवाई का लेखाजोखा पेश न करने वाले प्रदेश के दस जिलों के थाने आयोग की रडार पर, लापरवाही बरतने पर थाना प्रभारियों पर गिर सकती है गाज
Monday 4th of December 2017 | बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के बेटे की शादी में चर्चा का विषय बना लालू का 'लिफाफा'

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के बेटे की शादी में चर्चा का विषय बना लालू का 'लिफाफा'


पटना। बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के बेटे उत्कर्ष और यामिनी की शादी रविवार को पटना के वेटनरी कॉलेज मैदान में बेहद ही सादगी भरे माहौल में संपन्न हो गई। बिना बैंड-बाजा और भोज-भात वाली इस शादी समारोह में केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद व कई दूसरे राज्यों के सीएम और राज्यपाल के साथ दर्जनभर केन्द्रीय मंत्री भी शामिल हुए। शादी में कुछ ही दूरी पर लालू और सीएम नीतीश बैठे थे लेकिन दोनों के बीच कोई बात नहीं हुई। 

शादी में मंत्रोच्चार के लिए कई शहरों के प्रमुख विद्वान बुलाए गए थे। शादी का कार्यक्रम तय समय के अनुसार तीन बजे शुरू होकर पांच बजे तक खत्म हो गया। समारोह स्थल पर प्रवेश के साथ ही देहदान करने वालों के लिए स्टॉल लगा था। बगल में दहेज और बाल विवाह का संकल्प लेने वालों की भीड़ थी।

वहीं बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी के बेटे की शादी की खबर पूरे बिहार में चर्चा का विषय बनी हुई है, लेकिन एक चर्चा और है कि इस बिना ताम-झाम और बिना दहेज की शादी में आखिर लालू यादव ने मनाही के बावजूद सुशील मोदी के बेटे के हाथ में एक बंद लिफाफा क्यों दिया? जबकि सुशील मोदी की ओर से दिए गए आमंत्रण पत्र में साफ लिखा था कि शादी में किसी भी तरह का तोहफा लेकर ना आएं।

जदयू नेताओं ने तंज कसते हुए कहा है कि लालू मीडिया के डार्लिंग हैं और कैमरे में बने रहने के लिए कुछ ना कुछ उत्पात मचाते रहते हैं। जदयू नेता संजय सिंह ने कहा कि लालू लाफ्टर चैनल के हीरो हैं और मीडिया में बने रहने के लिए कुछ न कुछ करते रहते है। 
वहीं, इन सबका जवाब देते हुए राजद नेता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि लालू जी अपनी सभ्यता संस्कृति को नहीं भूलते हैं। ये उनका सीधा-सरल स्वभाव है, वो किसी की बात में नहीं आते, सुशील मोदी ने भी लालू जी की बेटियों की शादी में उपहार दिया था, ऐसे में उन्होंने भी बस उस उपहार को वापस किया है। बड़ा उपहार तो नहीं दिया। 

 
 


Realme 3 भारत में हुआ लॉन्च, Redmi Note 7 को दे सकता है टक्कर

Samsung Galaxy A50, Galaxy A30 और Galaxy A10 भारत में हुआ लॉन्च, जानिए क्या है खासियत


 VT PADTAL