VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
गुजरात चुनाव के पहले बीजेपी सांसद का इस्तीफा

महाराष्ट्र के सांसद ने दिया लोकसभा से इस्तीफा


Turn off for: Hindi
 
 
महाराष्ट्र के सांसद ने दिया लोकसभा से इस्तीफा

 

नई दिल्ली । गुजरात विधानसभा के मतदान के एक दिन पूर्व बीजेपी को बड़ा झटका लगा है.महाराष्ट्र के भंडारा-गोंदिया से बीजेपी सांसद नाना भाई पटोले ने प्रधानमंत्री की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं. बीजेपी सांसद का कहना है कि मोदी सरकार के तीन साल पूरा होने पर उन्होने प्रधानमंत्री के सामने किसानों का मुद्दा उठाया था जिसे नहीं सुना गया इसके बाद उन्होंने यह बात मीडिया में भी कही थी परंतु इस पर कोई कार्यवाई नहीं की गई.

आपको बता दें प्रधानमंत्री की कार्यशैली पर सवाल उठाने वाले बीजेपी सांसद नाना भाई पटोले महाराष्ट्र के भंडारा-गोंदिया सीट से वर्ष 2014 में जीतकर लोकसभा तक पहुँचे थे इन्होंने तब एनसीपी के दिग्गज नेता प्रफुल्ल पटेल को करारी शिकस्त दी थी.

पटोले महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस से भी नाराज चल रहे हैं उन्होंने बीजेपी के पूर्व वित्तमंत्री यशवंत सिन्हा के नेतृत्व में चल रहे किसानों के आंदोलन में भी हिस्सा लिया था इसके अलावा पटोले ने पिछले महीने पत्रकार वर्ता आयोजित कर बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला था और उन्होंने नोटबंदी तथा जीएसटी को भी गलत ठहराया था.

पिछले सप्ताह बीजेपी सांसद नाना भाई पटोले की कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाधी से मिलने की खबरें भी सामने आई थी जिसके बाद अब उनका यह इस्तीफा साफतौर पर दर्शाता है की वह अब कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं

दरअसल एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल की बीजेपी से बढ़ती नजदीकियां भी पटोले के इस्तीफे की वजह मानी जा रही है पिछले दिनों जिस तरह से प्रफुल्ल पटेल ने बीजेपी के लिए दिल बड़ा किया है और गुजरात के राज्यसभा चुनाव में दोनों विधायकों के वोट कांग्रेस प्रत्याशी अहमद पटेल के बजाय बीजेपी के उम्मीदवार को दिलाए थे, माना जा रहा है कि प्रफुल्ल पटेल के चलते ही गुजरात में कांग्रेस और एनसीपी के बीच गठबंधन नहीं हो सका है इस तरह कांग्रेस भी प्रफुल्ल पटेल से नाराज चल रही थी ऐसे में पटोले को भी अपना सियासी ठिकाना तलाशना था इसी कारण उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल से मुलाकात की थी.


रामदेव की टिप्पणी से आहत हुई उमा, पत्र लिख जताई नाराजगी

कमलनाथ की पहली लिस्ट पर ही खड़े हुए सवाल


 VT PADTAL