VT Update
पाठ्य पुस्तक निगम के स्टोर रूम में पुलिस का छापा बाजार में बिकने जा रही लाखों की किताबें हुई जप्त निशुल्क वितरण के लिए भेजी गई पुस्तके बेची जा रही थी बाजार में प्रदेश में शराब की करीब 500 दुकानें खुलने का अनुमान 2 महीने के लिए भी उस दुकानें खोल सकते हैं शराब ठेकेदार जिला कलेक्टर देंगे दुकान खोलने की अनुमति एक्शन मोड में जेपी नड्डा भाजपा अध्यक्ष बनने के बाद महासचिव सनग्ली पहली बैठक नागरिकता कानून के समर्थन में पार्टी की ओर से चलाए जा रहे कैंपेन की की समीक्षा देवास जिला योजना समिति की बैठक में मंत्री जीतू पटवारी और सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी के बीच जमकर हुआ विवाद, प्रभारी मंत्री ने कहा-बैठक से बाहर कर दूंगा तो सांसद बोले अगली बार मंत्री नहीं बन पाओगे जोमैटो फूड डिलीवरी ने अमेरिका कंपनी उबर ईट्स के भारतीय कारोबार को खरीदा डील के तहत उबर को जोमैटो के 9. 99% मिलेंगे शेयर
Sunday 15th of December 2019 | विधायक नागेंद्र सिंह पहुंचे धरना स्थल किसानों की मांग को बताया जायज

किसानों के हक के लिए युवा एकता परिषद का अनशन जारी


युवा एकता परिषद किसान इकाई के बैनर तले किसान रेलवे का काम रोक कर सात दिन से लगातार अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हैं,आज क्षेत्रीय विधायक नागेंद्र सिंह पहुंचे धरना स्थल और वहां किसानों से कहां की आपकी मांगे जायज हैं और हम आपकी मांगो को लेकर रेल मंत्री को पत्र भी लिखा है साथ ही केंद्र सरकार से बात करके किसानों का सम्पूर्ण हक दिलाने की भी बात कही|

                              

 बता दें की युवा एकता परिषद 'युवा आगाज' की किसान इकाई द्वारा किसानों के हित में लड़ी जा रही लड़ाई तूल पकड़ती जा रही है| ज्ञात हो कि रीवा ललितपुर रेल परियोजना के लिए सन 2017-18 में अधिग्रहित की गई भूमि के बदले किसानों को नौकरी देने का वादा रेलवे विभाग ने किया था किंतु अभी तक नौकरी नहीं दी गई जिससे आक्रोशित किसानों ने युवा एकता परिषद के साथ बांसा एवं मडवा में रेलवे के सुरंग सहित अन्य निर्माणाधीन कार्यों को रोककर ग्राम बांसा में अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठे हुए हैं| रेलवे के आला अधिकारी एवं तहसीलदार पहुंचकर किसानों अनशन ना करने की समझाइश दी किंतु किसानों ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि जब तक हितग्राहियों को नौकरी देने का लिखित आश्वासन नहीं दिया जाता तब तक न ही रेलवे को काम करने दिया जाएगा और ना ही यह अनशन खत्म होगा| किसानों के अनशन में कई स्थानीय नेताओं का आना जाना और किसानों की मांगों के प्रति समर्थन बढ़ता जा रहा है, गुरुवार की रात लगातार हुई तेज बारिश और हवाओं के बीच तंबू तनकर अनशन पर पर बैठे किसानों में से दो अनशन कारियों का स्वास्थ्य ज्यादा खराब हो गया था, एंबुलेंस के माध्यम से तत्काल स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया, अब उनके स्वास्थ्य में सुधार बताया जा रहा है| किसानों का कहना है की अगर शासन प्रशासन ने हमारी मांगे नहीं मांगीं तो आगे रेल रोको आंदोलन किया जाएगा|

 

 


रीवा इंजीनियरिंग कॉलेज में स्वच्छता की कार्यशाला आयोजित

संजय गाँधी अस्पताल की छत से कूद कर भाई बहन ने की आत्महत्या


 VT PADTAL