VT Update
बोर्ड परीक्षाओं की तिथि का काउंटडाउन शुरू 9 दिन बचे शेष, प्रशासन ने कसी कमर चप्पे-चप्पे पर रहेगा पुलिस का पहरा 10 हेक्टयर के रकबा वाले किसान के नाम पर 27 हेक्टर का पंजीयन निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने पकड़ी गड़बड़ी दो पटवारी सस्पेंड प्रदेश में पहली बार 3 तरह की अबकारी नीति, 25 प्रतिशत बढ़ेगी शराब दुकानों की कीमत, नहीं खोली जाएंगी उप दुकाने नगरी निकाय और किसानों को मिलने वाली बिजली महंगी करने की तैयारी में सरकार, घाटे को कम नहीं कर पा रही बिजली कंपनियां प्रधानमंत्री मोदी की मुहिम को झटका, आधे से भी कम सांसदों ने गांव लिए गोद, 778 कुल सांसद 300 गांव ही लिए गए गोंद
Saturday 25th of January 2020 | सतना के 29 हज़ार किसानों की बिकी धान का नही हुआ भुगतान

सतना में खरीदी केन्द्रों से अभी तक नही हुआ है धान का परिवहन


खेती को लाभ का धंधा बनाने और किसानों को फसल का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए सरकार की समर्थन मूल्य पर शुरू की गई योजना पर लापरवाही हावी है। लाख जद्दोजहद के बाद फशल खरीद ली गई मगर अब किसान फशल के मूल्य के लिए चक्कर काट रहा ।सतना जिले में 29 हजार से ज्यादा किसान इन दिनों परेशान है ,जिनके धान का भुगतान अधर में लटका है ।लगभग 298 करोड़ का भुगतान नही हो पा रहा ।दरअसल खरीदी क्रेंदो से धान का परिवहन ही नही हो पाने से यह स्थिति निर्मित हुई ।

सतना जिले में सरकार द्वारा नियत की गई तिथि से एक माह बाद समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी शुरू हो पाई । और अब खरीदी पुर्ण हो चुकी ,लेकिन फिर बड़ी लापरवाही सामने आ रही , किसानों के धान का भुगतान अधर में लटका है।दरअसल इस वर्ष सतना जिले में कुल 39हजार 6 सौ 88 किसानों ने समर्थन मूल्य पर धान की फसल बेची ,जिले में 72 खरीदी क्रेंदो में कुल 29 लाख 57हजार 9सौ 57 क्यूंटल धान की खरीदी हुई जिसका कुल मूल्य 445 करोड़ 40 लाख है ।अब तक जिले में सिर्फ लगभग दस हजार किसानों का लगभग 153 करोड़ का भुगतान हो पाया ।जबकि सरकार की मंसा थी कि खरीदी के एक हप्ते में ही किसान का भुगतान हो जाना चाहिए

लेकिन जिला प्रशासन की लापरवाही से खरीदी खत्म होने के बाबजूद भी लगभग 169 करोड़ कीमत की दस लाख क्यूंटल धान का परिवहन तक नही हो पाया वही लगभग 29हजार किसान ऐसे है जिनके भुगतान नही हो पा रहे।किसानों का 292 करोड़ का भुगतान लटका है और किसान परेशान ठगा महसूस कर रहे ।हालांकि नागरिक आपूर्ति निगम का अलग ही दावा है ।नागरिक आपूर्ति निगम के प्रवंधक की मॉने तो परिवहन न हो पाने की बजह से खरीदी पत्रक जमा नही हुए ,जिसकी बजह से समस्या हुई है ।जल्द परिवहन कराकर सभी किसानों का भुगतान करा दिया जाएगा ।*सतना से ए.एच.क़ादरी की रिपोर्ट

 

 


 शहर में फर्जी पानी सप्लाई पर प्रशासन ने लगाई रोक

      विक्षिप्त लोगों का कोई नहीं, समाज और सरकार ही कर सकते हैं मदत      


 VT PADTAL