VT Update
मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए आप लगातार विंध्य 24 से जुड़े रहे हम आपको ताजा अपडेट देते रहेगें अभी प्रत्येक विधानसभाओं में मतगणना आरंभ हुई हैं तथा बैलेट पेपर की गिनती शुरु हो चुकी है MP चुनावः शिवराज सिंह चौहान बोले-कांग्रेस के सहयोगी हताश हैं विजय माल्या केस की सुनवाई के सिलसिले में CBI और ED के ऑफिसर लंदन रवाना J-K: किश्तवाड़ पुलिस ने आतंकी रियाज अहमद को गिरफ्तार किया विजय माल्या केस की सुनवाई के सिलसिले में CBI और ED के ऑफिसर लंदन रवाना
Monday 8th of January 2018 | जनिए आज का इतिहास क्या कहता है

क्या है सोमनाथ मंदिर का इतिहास, 8 जनवरी को ही महमूद गजनवी ने किया था इस मंदिर का अपमान


सोमनाथ एक प्रचीन हिंदू मंदिर है द्वादश ज्योतिर्लिंगों में शुमार यह मंदिर सबसे पहले ज्योतिर्लिंग के रुप में शामिल है. ज्योतिर्लिंग उन स्थानों को कहते हैं जहां भगवान शिव स्वंय प्रकट हुए थे.

सोमनाथ मंदिर गुजरात राज्य के सौराष्ट्र क्षेत्र के वेरावल शहर में समुद्री किनारे पर स्थित है. वर्तमान समय का यह मंदिर देश की आजादी के बाद सरदार वल्लभ भाई पटेल द्वारा बनवाया गया था. इससे पहले इतिहास में कई बार इस मंदिर का निर्माण हुआ है पर हमेशा ही किसी मुस्लिम शासक के द्वारा इस मंदिर को तोड़ा गया.

हिंदू ग्रंथों के अनुसार इस मंदिर की स्थापना स्वंय चंद्रदेव अर्थात सोम ने की थी इस लिए इस मंदिर का नाम सोमनाथ रखा गया सोम के नाथ अर्थात सोमनाथ.

सोमनाथ मंदिर के बारे में एक बात और कही जाती है कि स्वंय भगवान कृष्ण ने इसी मंदिर प्रांगण में अपने शरीर का त्याग किया था.

815 ईस्वी में प्रतिहार राजा नागभट्ट ने इस मंदिर को बनवाया. उस समय पर इस मंदिर की प्रसिद्धि दूर दूर तक फैली थी यह मंदिर अपनी सौंदर्या और धन संपदा के लिए बहुत प्रसिद्ध था. जिसकारण भारत की इस मंदिर की सभी जानकारी लेते हुए  मुस्लिम शासक महमूद गजनवी ने  8 जनवरी 1024 ईस्वी में अपने 5 हजार साथियों के साथ मंदिर पर आक्रमण कर दिया और मंदिर प्रागण मे उपस्थित 25 हजार लोगों का कत्ल करते हुए मंदिर की सारी धन संपदा को लूट कर ले गया


जिस पत्रकारिता का कभी स्वर्णिम युग ना था , उसमे स्वर्णिम व्यक्तित्व की तरह उ

अटल जी के निधन से आहत हुआ देश !


 VT PADTAL