VT Update
उज्जैन सांसद चिंतामणि ने किया दावा, लोकसभा चुनाव में भाजपा जीतेगी प्रदेश की 29 सीटें। मनोहर पर्रिकर के निधन के बाद शुरू हुई उलटफेर की राजनीति, कांग्रेस ठोक रही सरकार बनाने के दावा, कामत को नया सीएम बनाने की चर्चा तेज भिंड जिले के खड़ेरीपुर में मामूली विवाद में चली गोली, दो लोगों की मौत आधा दर्जन से अधिक लोग घायल। लोकसभा चुनाव को लेकर जारी उठा-पटक, दिग्गी ने स्वीकार किया सीएम नाथ का चैलेंजे, बोले- पार्टी जहां से बोले वहां से लडूंगा चुनाव। कार्रवाई का लेखाजोखा पेश न करने वाले प्रदेश के दस जिलों के थाने आयोग की रडार पर, लापरवाही बरतने पर थाना प्रभारियों पर गिर सकती है गाज
Friday 12th of January 2018 | हम तो खास हैं, फिर ऐसा काहे हुजूर

लालू ने की सीबीआई जज से शिकायत,फिर जज ने भी डे दिया सालिड जवाब


 मेरे साथ जेल में हो रहा है आम कैदी के तरह बर्ताव,हम तो खास हैं न. आम तौर पर हमारे देश की न्याय प्रणाली में सजा मिलने के बाद जेल में नेताओ को कुछ खास सुविधाए उपलब्ध कराई जाती है. लालू प्रसाद को जेल प्रशासन की ओर से ऐसी कोई ख़ास सुविधा नही दी जा रही है जिससे खफा लालू जी ने इसकी  शिकायत खुद सीबीआई के जज से कि है और लालू के सेवादार भी जेल से रिहा कर दिए गए हैं जो कि एक झूठे मामले के तहत जेल में आये थे. जज शिवपाल सिंह ने ही लालू को 89.27 लाख रुपये के चारा घोटाले में 6 जनवरी को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई थी और साथ ही उन पर 10 लाख का जुर्माना भी लगाया था. कोर्ट रूम में मौजूद लोगो का कहना है की जज और लालू की बात चीत के दौरान सभी के चेहरों पर मुस्कान थी जज ने लालू प्रसाद से पूंछा की आपको कोई दिक्कत तो नही है तो लालू बोले की जेल प्रशासन हमारे पार्टी कार्यकर्ताओ से मिलने की इजाजत नही देता है, जज ने कहा कि आंगतुकों को जेल के नियमों का पालन करने पर ही आपसे मिलने दिया जाएगा, इसलिए मैंने आपके लिए खुली जेल की सिफारिश की थी लालू ने जज से यह भी कहा की मेरे साथ आम कैदी के तरह बर्ताव किया जाता है जिस पर जज ने साफ़ साफ़ अक्षरों में कह दिया की जेल के नियम सबके लिए बराबर हैं.


Realme 3 भारत में हुआ लॉन्च, Redmi Note 7 को दे सकता है टक्कर

Samsung Galaxy A50, Galaxy A30 और Galaxy A10 भारत में हुआ लॉन्च, जानिए क्या है खासियत


 VT PADTAL