VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Tuesday 16th of January 2018 | विन्ध्य के एक सांसद ऐसे भी

विन्ध्य के फक्कड़ बाबा : जनार्दन मिश्रा


वर्त्तमान राजनीति के वी वी आई पी कल्चर में एक ऐसा नेता जो आज भी लोगो के बीच बैठना पसंद करता हो , लोगो की बात करता हो ,जन साधारण की समस्याओं पर अपनी ही सरकार पर सवाल खड़ा करता हो, शायद ऐसी खूबी वाले नेता मौजूदा राजनीति से विलुप्त होने की कगार में हैं ,इन्ही में से कुछ बचे नेताओं में से एक नेता है रीवा सांसद जनार्दन मिश्र ,जो अपनी सादगी एवं सहज उपलब्धता के लिए क्षेत्र में जाने जाते हैं, 'सत्ता में सुख' जैसे जुमले जैसे उनके लिए बने ही नही है , जीने का ऐसा निराला अंदाज़ की कभी चौराहे में फटा जूता सिला लिया, कभी गाँव में लोगो के साथ ज़मीन में ही बैठ गए शायद इसी निराले अंदाज़ को देख कर सूबे के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 'फक्कड़ बाबा' से संबोधित कर दिया.

इस काम के लिए हुए लोगों में चर्चित-

मध्य प्रदेश के रीवा से सांसद जनार्दन मिश्रा ने जन प्रतिनिधि के रूप में अपनी भूमिका बखूबी अदा कर रहे हैं. इनका एक काम जिसका आगे हम जिक्र करेंगे देशभर के सांसदों के लिए एक संदेश भी हो सकता है, दरअसल सामान्य परिवार से आने वाले जनार्दन मिश्रा नोटबंदी के समय जनता के त्याग और तपस्या को ध्यान में रखते हुए नोटबंदी के समय सिर्फ नमक और रोटी खाकर कतारों में खड़े लोगों के लिए उन्होंने भी अपनी ओर से कोशिश की थी.जिसकी चर्चा भी लोगों के बीच खूब हुई .

जब कचरा गाड़ी चला कर दिया स्वच्छता का संदेश-

प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान का समर्थन कुछ इस तरीके से किया की खुद ही कचरा गाड़ी शहर में निकल पड़े बड़ी बात ये की उन्होंने इस पहल को केवल फोटो शूट तक सीमत नही किया बल्कि कई बार लोगों को जागरुक करने के लिए ऐसा कर चुके हैं, उनके इस अनूठे प्रयास को लेकर इस बार जिले में स्वच्छता का ब्रांड एम्बेसडर भी सांसद जनार्दन मिश्रा को जिला प्रशासन द्वारा चुना गया है , जनार्दन मिश्रा जी को भी पता है कि आम जनमानस से जुड़ते हुए एक सशक्त जन प्रतिनिधि के रूप में वह अपने आप को प्रस्तुत कर सकते हैं उनकी कोशिश है कि सोशल मीडिया का भरपूर इस्तेमाल करते हुए दिन भर की गतिविधियों से आम जनमानस को अवगत कराऊंगा एवं सोशल मीडिया के प्लेटफार्म के माध्यम से लोगों से जुड़ा रहूँ ताकि सीधा संवाद हो सके और एक बार सीधा संवाद स्थापित हो गया तो एक सशक्त संचार बनने में कोई कमी नहीं रह जाएगी.हैं.

जिले के 2600 गांवों का कर चुके हैं भ्रमण-

सांसद जनार्दन मिश्रा आधुनिकता के दौर में समाज सेवा को किसी दूसरे तरीके से देखना चाहते हैं उनकी नजर में लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले करीब 28000 गांव तक पहुंचना उनका प्रथम लक्ष्य रहा है, उनकी कोशिश है कि जिले के हर एक गांव तक पहुंचना मेरा लक्ष्य है. इसलिए लगभग 4 साल के कार्यकाल में उन्होंने 2600 गांवों के दौरे कर लिए हैं, जिसमें नगर पालिका नगर परिषद अलग है. नगर निगम क्षेत्र अलग है या वह नगर-पालिका क्षेत्र में वो दो बार पहुंचे |

कहीं भी लग जाती है सांसद की चौपाल-

रीवा सांसद जनार्दन मिश्रा की चौपाल कहीं भी लग जाती है.सांसद सुबह जब घर से निकलते हैं तो जरुरी नहीं की हर बार कार्यक्रम निर्धारित हो कभी स्कूल में बच्चों के बीच तो कभी ग्राम पंचायत के भवन में जनता से संवाद. सांसद की चौपाल सुबह से लेकर दोपहर रात कर समाज के हर वर्ग के साथ कहीं भी लग जाती है.सांसद घुमक्कड़ तो हैं लेकिन अपने ही क्षेत्र के घुमक्कड़ .आदिवासी क्षेत्र से लेकर डकैत प्रभावित तराई अंचल तक सांसद पहुंचकर अपनी चौपाल लगा चुके हैं.

 

“विचारधारा के अनुकूल जनता से जुड़ने के लिए अन्त्योदय की संकल्पना के तहत मै अपने क्षेत्र के हर गाँव तक पहुंचना चाहता हूँ. मेरी कोशिश है की हर गाँव तक पहुंचकर जनता से सीधे संवाद करूँ. सीधे जमीनी स्तर तक पहुंचकर यक़ीनन सार्थक संवाद होता है.मैं जनता की समस्याएं सुनता हूँ सरकार के प्रयासों को साझा करता हूँ.”       जनार्दन मिश्रा “सांसद” रीवा

 

एक जनप्रतिनिधि से आम जनमानस की बहुत सी उम्मीदें जुड़ी होती हैं जनप्रतिनिधि उनकी बात को सुनें सांसद जनार्दन मिश्रा इसी कोशिश के साथ आगे बढ़ रहे हैं तस्वीरों में दिख रहा है कि कैसे गांव गांव गली गली गांव की चौपाल गांव की नुक्कड़ में सांसद बैठकर लोगों से हाल-चाल उनसे रोजमर्रा की चीजों को जानना, खेती किसानी के बारे में जानना, स्वच्छता को लेकर जागरूक करना, स्कूली बच्चों से समझा शायद इन रास्तों से बढ़कर हो विकास के नए आयाम जोड़ सकें एक सांसद ऐसा भी जो गांव गांव पहुंच रहा है.

 


दर्शनार्थियों के साथ हुई लूट, जवाबदारी के बावजूद पार्किंग ठेकेदार ने की अभद

मैहर की सभा में राजेंद्र सिंह ने कमलनाथ को बताया भावी मुख्यमंत्री


 VT PADTAL