VT Update
16 नवम्बर को शहडोल में होंगे नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी कांग्रेस विधायक सुन्दरलाल तिवारी ने आरएसएस को कहा आतंकी संगठन,कांग्रेस का बयान से किनारा रीवा में भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र शुक्ल ने कांग्रेस प्रत्याशी अभय मिश्र को दिया कानूनी नोटिस। 50 करोड़ का कर सकते हैं दावा। आबकारी उड़नदस्ता टीम ने की बड़ी कार्यवाही, नईगढ़ी व पहाड़ी गाँव में कच्ची शराब भट्टी में मारी रेड, 200 लीटर कच्ची शराब के साथ पांच आरोपी गिरफ्तार विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र एस एस टी टीम की कार्यवाही जारी, चेकिंग के दौरान चार पहिया सवार के कब्जे से बरामद हुए 2लाख 19 हज़ार रुपये, निर्वाचन कार्यालय भेजा गया मामला
Thursday 18th of January 2018 | रीवा के गौरव को मिली झारखण्ड की कमान

युवा मोर्चा के राज्य प्रभारियों की नई सूची जारी, रीवा के गौरव को मिला झारखण्ड का प्रभार


भारतीय जनता युवा मोर्चा की अध्यक्ष पूनम महाजन ने गुरुवार को युवा मोर्चा के राज्य प्रभारियों एवं उप प्रभारियों की नई लिस्ट जारी कर दी है, जारी लिस्ट में कई प्रभारियों के राज्यों को बदला गया है आने वाले राज्यों के चुनाव की दृष्टी से ये महत्वपूर्ण है , राजनीतिक जानकारों का मानना है की इसके जरिये भाजपा ने अपने चुनावी रणनीतियों को मूर्त रूप देना शुरू कर दिया है , जिन प्रभारियों के राज्य को बदला गया है उनमे एक नाम विन्ध्य क्षेत्र के रीवा के रहने वाले गौरव तिवारी का भी है, जिन्हें इस बार झारखण्ड राज्य का प्रभारी बनाया गया है जो भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय मंत्री पद पर हैं, गौरव को इससे पहले हिमाचल प्रदेश का प्रभारी बनाया गया था, जहाँ भाजपा ने बड़ी जीत हासिल की थी , इस परिवर्तन को गौरव तिवारी के प्रमोशन के तौर पर देखा जा रहा है.

हिमाचल में दिलाई थी जीत

इससे पहले गौरव ने हिमाचल राज्य के प्रभारी के तौर पर अपनी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाया है, 2017 में हुए विधान सभा के चुनाव में bjp ने प्रचंड जीत दर्ज की थी, जिससे खुश होकर पार्टी के आलाकमान ने गौरव को एक बार फिर से बड़ी जिम्मेदारी देने का फैसला लिया है,यही वजह की गौरव तिवारी को ऐसे राज्य में भेजा जा रहा है जहाँ 2018 में चुनाव होने वाला है जो अपने आप में एक बड़ी बात है.

झारखंड ही क्यों ?

ये भी एक बड़ी रणनीति का हिस्सा है की आखिर गौरव को झारखण्ड ही क्यों दिया गया है ? इसके दो बड़े कारण है पहला ये की झारखण्ड ब्राह्मण या सवर्ण बाहुल्य क्षेत्र है, जहा एक ब्राह्मण चेहरे से वहा के वोटरों को लुभाया जा सकता है और  दूसरा कारण दरअसल झारखण्ड विन्ध्य के सिंगरौली से सीमा साझा करता है ऐसे गौरव तिवारी जो स्वयं विन्ध्य क्षेत्र से ताल्लुक रखते हैं वहाँ की राजनीति को आसानी समझ सकते हैं.चूँकि झारखण्ड की सीमाएं मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ से लगी हुई हैं इसलिए वहां की राजनीति पड़ोसी राज्य होने के कारण लगभग कुछ परिस्थितियां मिलती जुलती होंगी.

 तिवारी को मिली जिम्मेदारी से भाजपा युवा मोर्चा रीवा में ख़ुशी का माहौल है, वही युवा मोर्चा रीवा का राष्ट्रीय स्तर में प्रभाव बढ़ा है.


 शिवराज के बेटे पर लगाये आरोपों पर राहुल गांधी ने दी सफाई

शशि थरूर के बयान पर बीजेपी ने जताई आपत्ति, संबित पात्रा ने कहा राहुल गाँधी तु


 VT PADTAL