VT Update
वाराणसीः CM योगी ने चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा का अनावरण किया छत्तीसगढ़ः दंतेवाड़ा में IED विस्फोट में पांच जवान शहीद, 2 घायल रेलवे मैदान में होगा सद्भावना सम्मेलन, सतपाल जी महराज देगें उद्वबोधन रीवा व्यंकट भवन में विश्व संग्रहालय दिवस के उपलक्ष्य में लगाई गई प्रदर्शनी एमपी बोर्ड 10वीं और 12वीं रिजल्ट घोषित, मेरिट में छात्राओं का रहा दबदबा
क्या लगा रहेगा मध्यप्रदेश में फिल्म 'पद्मावत' पर बैन

फिल्म पद्मावत को बैन करनें के लिए शिवराज सरकार की कोशिशें जारी, सुप्रीम कोर्ट जायेगी सरकार


संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत और ‘विवाद’ इन दोनों का गहरा नाता सा जुड़ गया है. क्योकि इस फिल्म का विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. संजय लीला भंसाली जैसे-जैसे प्रयास कर रहे है अपनी फिल्म को रिलीज कराने का वैसे-वैसे ही उनकी यह फिल्म विवादित होती जा रही है.

अभी कुछ दिन पहले ही इस फिल्म का विरोध कर रहीं करणी सेना ने धमकी दी थी की अगर यह फिल्म थियेटरों में चलेगी तो वह सामूहिक आत्मदाह करेंगे. हालाकि इससे पहले भी करणी सेना ने कई बार इस फिल्म को विवादित बताते हुए संजय लीला भंसाली और फिल्म की एकट्रेस दीपीका पादुकोण को निशाने पर लिया है. जिसके चलते भंसाली ने फिल्म में कई जगहों पर कांट-छांट करने के बाद फिल्म को दोबारा तैयार कराया था जिसमें फिल्म के नाम को भी परिवर्तित किया गया था.

आपको बता दें करणी सेना के विरोध के बाद चार राज्यों में इस फिल्म को चलाने पर राज्य सरकार के द्वारा प्रतिबंध लगाया गया था. जिसपर सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए उन चारों राज्यों  मध्यप्रदेश,गुजरात, हरियाणा और राजस्थान से फिल्म को थियेटरों में चलाये जाने के प्रतिबंध पर रोक लगाने का आदेश दिया था.

जिसके बाद भी करणी सेना ने अपना विरोध जारी रखा और कहा कि अगर कोई व्यक्ति थियेटरों में फिल्म देखने जाता है तो उसकी जबावदारी स्वंय की होगी क्योंकि फिल्म देखने जाने वाले के ऊपर करणी सेना के द्वारा ‘कलिख’ का प्रयोग किया जायेगा जिसके बाद इस तरह के विरोध को सुनकर मध्यप्रदेश सरकार नें पुन: इस फिल्म पर बैन का प्रयास जारी कर दिया है तथा सरकार इस फिल्म को बैन रखने के लिए फिर से सुप्रीम कोर्ट जा रही है


रंगों की होली ‘आई रे’

पंचतत्व में विलीन हुई “रूप की रानी” विफरा हिंदुस्तान


 VT PADTAL