VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Sunday 21st of January 2018 | आप की बढ़ी आफत

आप के 20 विधायक अयोग्य घोषित , चुनाव आयोग की सिफारिश हुई मंजूर


दिल्ली की सियासत में आम आदमी पार्टी और विवादों का चोली दामन का नाता है . अभी राज्य सभा टिकट बंटवारे से नाराज़ कुमार विश्वास का विवाद ख़त्म नही हुआ था की , चुनाव आयोग ने आप के 20 विधायकों को लाभ के पद में रहने से अयोग्य घोषित करने के लिए राष्ट्रपति से सिफारिश की थी ,जिसके बाद आज राष्ट्रपति के मंजूरी के बाद इन 20 विधायको को अयोग्य घोषित कर दिया गया है , चुनाव आयोग की सिफारिश के बाद ही आप पार्टी ने हाई कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था लेकिन हाई कोर्ट ने इस याचिका को खारिज कर दिया था , हांलाकिआम आदमी पार्टी ने चुनाव आयोग पर पक्षपात का आरोप लगाया है

अयोग्य घोषित होने वाले में विधायकों में प्रवीण कुमार,शरद कुमार, आदर्श शास्त्री, मदन लाल, चरण गोयल,सरिता सिंह,नरेश यादव, जरनैल सिंह, अलका लाम्बा, राजेश गुप्ता ,नितिन त्यागी , संजीव झा ,कैलाश गहलोत , सोमदत्त ,मनोज कुमार , सुल्बीर सिंह डाला ,राजेश ऋषि और अनिल बाजपायी शामिल हैं ,

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने 2015 में 'आप' पार्टी के 21 विधायकों को संसदीय सचिव बनाया था. इसके बाद प्रशांत पटेल नाम के वकील ने लाभ का पद बताकर राष्ट्रपति के पास शिकायत करते हुए इन विधायकों की सदस्यता खत्म करने की मांग की थी. केजरीवाल ने चुनाव आयोग पर विधायकों का पक्ष न सुनाने का भी आरोप लगाया है |


कांग्रेस की कार्य समिति गठित, इस बार दिग्विजय को नही मिली जगह

 पीएम मोदी दो दिवसीय पूर्वांचल दौरे पर, करोड़ों की योजनाओं का करेंगे शिलान्‍


 VT PADTAL