VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Sunday 28th of January 2018 | फिर डकैतों की बड़ी वारदात

विंध्य में डकैतों की सक्रियता, पुलिस प्रशासन है मोर्चे में फेल


vt/input -बीते कई महीनों सें विंध्य के तराई अंचलों में डकैतों की सक्रीयता बड़ी तेजी से बढ़ रहीं हैं और इसमें कहीं न कहीं पुलिस प्रशासन की ढिलाई भी सामने आती दिख रही हैं .पिछले कई दिनों से विंध्य के तराई अंचल में जिस तरह डकैतों के द्वारा अपहरण की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है और उसमें भी अपहणकर्ता को फिरौती की रकम लेने के बाद छोंड़ा जा रहा है इससे तो यही लगता है कि विंध्य में डकैतों की सक्रियता को लेकर पुलिस असहाय और पुलिस महकमा फेल नजर आ रहा है .

आपको बता दें पुलिस की यह निष्क्रियता डकैतों को मजबूत बनाने में कड़ी भूमिका निभा रही है क्योकि पिछली बार भी डकैतों के द्वारा अपहरण के एक मामले को अंजाम दिया गया था जिसमें उस मामाले को छोंड़कर पुलिस अमला सीएम की दौरे की तैयारियों में लगा हुआ था जिससे उस अपहरण मामले में भी डकैतों के द्वारा अपहरणकर्ता को छोंड़ने के लिए फिरौती की मांग की गई थी और सूत्रों की माने तो फिरौती की रकम मिलने के बाद अपहृतों को छोंड़ा गया था.

ऐसा ही एक मामाला फिर सामने आया है जहां सेमरिया थानाक्षेत्र के कटाई गांव से डकैतों के द्वारा एक महिला के साथ गैंगरेप कर ललित कुमार सिंह सोलंकी का अपहरण कर लिया गया था. जिसके बाद डकैतों के द्वारा ललित कुमार को छोंड़ने के लिए फिरौती की रकम की मांग भी की गई थी जिसपर सूत्रों के मुताबिक से खबर है कि 5 लाख रुपये की रकम पाने के बाद अपहरणकर्ताओं ने सेमरिया निवासी ललित कुमार को छोंड़ दिया.

डकैतों के द्वारा अपहरण के इस मामले पर भी पुलिस के द्वारा निष्क्रियता ही दिखी क्योकि पिछले दिनों पुलिस विभाग 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस की परेड में चला गया था . हलाकि गणतंत्र दिवस के आयोजन में पुलिस प्रशासन का शामिल होना जायज है लेकिन इससे डकैतों को सहूलियत हुई . बताया जा रहा है कि सेमरिया के ललित सिंह अपहरण मामले में बाबली कोल गैंग का हाथ है जो अब भी पुलिस की निष्क्रियता की वजह से सुरक्षित बचा हुआ है अब सवाल यह उठता है कि पुलिस प्रशासन के द्वारा अगर डकैतों के मूवमेंट में नजर नहीं रखी गयी और कड़ी कार्यवाही नहीं की गयी तो तराई अंचल से पलायन शुरू हो जायेगा.


शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान, शत्रुघ्न सिंह को मिली उपाधि

मानवता हुई शर्मसार, युवती ने लागाया तीन साल से रेप किए जाने का आरोप


 VT PADTAL


 Rewa

रीवा के चोरहटा में बाइक सवार की हत्या, गड़ासे से काट कर उतारा मौत के घाट
Tuesday 17th of September 2019
खड्डा गांव के आदिवासी निवासियों ने कलेक्ट्रेट के सामने दिया धरना, कलेक्टर को संबोधित ज्ञापन संयुक्त कलेक्टर को सौंपा
Tuesday 17th of September 2019
बीएसएनएल के नॅान एग्जक्यूटिव कर्मचारी संगठनों को मान्यता देने डाले गए वोट, 18 सितम्बर को होगी गिनती
Tuesday 17th of September 2019
अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में आयोजित हुई कुशाभाऊ ठाकरे के स्मृति में व्याख्यानमाला, प्रदेश राज्यपाल लालजी टंडन ने किया संबोधित
Tuesday 17th of September 2019
शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय रीठी में सुविधा की कमी
Sunday 15th of September 2019
कानून व्यवस्था सुधारने में जुटा प्रशासन
Sunday 15th of September 2019