VT Update
16 नवम्बर को शहडोल में होंगे नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी कांग्रेस विधायक सुन्दरलाल तिवारी ने आरएसएस को कहा आतंकी संगठन,कांग्रेस का बयान से किनारा रीवा में भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र शुक्ल ने कांग्रेस प्रत्याशी अभय मिश्र को दिया कानूनी नोटिस। 50 करोड़ का कर सकते हैं दावा। आबकारी उड़नदस्ता टीम ने की बड़ी कार्यवाही, नईगढ़ी व पहाड़ी गाँव में कच्ची शराब भट्टी में मारी रेड, 200 लीटर कच्ची शराब के साथ पांच आरोपी गिरफ्तार विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र एस एस टी टीम की कार्यवाही जारी, चेकिंग के दौरान चार पहिया सवार के कब्जे से बरामद हुए 2लाख 19 हज़ार रुपये, निर्वाचन कार्यालय भेजा गया मामला
Sunday 28th of January 2018 | फिर डकैतों की बड़ी वारदात

विंध्य में डकैतों की सक्रियता, पुलिस प्रशासन है मोर्चे में फेल


vt/input -बीते कई महीनों सें विंध्य के तराई अंचलों में डकैतों की सक्रीयता बड़ी तेजी से बढ़ रहीं हैं और इसमें कहीं न कहीं पुलिस प्रशासन की ढिलाई भी सामने आती दिख रही हैं .पिछले कई दिनों से विंध्य के तराई अंचल में जिस तरह डकैतों के द्वारा अपहरण की वारदात को अंजाम दिया जा रहा है और उसमें भी अपहणकर्ता को फिरौती की रकम लेने के बाद छोंड़ा जा रहा है इससे तो यही लगता है कि विंध्य में डकैतों की सक्रियता को लेकर पुलिस असहाय और पुलिस महकमा फेल नजर आ रहा है .

आपको बता दें पुलिस की यह निष्क्रियता डकैतों को मजबूत बनाने में कड़ी भूमिका निभा रही है क्योकि पिछली बार भी डकैतों के द्वारा अपहरण के एक मामले को अंजाम दिया गया था जिसमें उस मामाले को छोंड़कर पुलिस अमला सीएम की दौरे की तैयारियों में लगा हुआ था जिससे उस अपहरण मामले में भी डकैतों के द्वारा अपहरणकर्ता को छोंड़ने के लिए फिरौती की मांग की गई थी और सूत्रों की माने तो फिरौती की रकम मिलने के बाद अपहृतों को छोंड़ा गया था.

ऐसा ही एक मामाला फिर सामने आया है जहां सेमरिया थानाक्षेत्र के कटाई गांव से डकैतों के द्वारा एक महिला के साथ गैंगरेप कर ललित कुमार सिंह सोलंकी का अपहरण कर लिया गया था. जिसके बाद डकैतों के द्वारा ललित कुमार को छोंड़ने के लिए फिरौती की रकम की मांग भी की गई थी जिसपर सूत्रों के मुताबिक से खबर है कि 5 लाख रुपये की रकम पाने के बाद अपहरणकर्ताओं ने सेमरिया निवासी ललित कुमार को छोंड़ दिया.

डकैतों के द्वारा अपहरण के इस मामले पर भी पुलिस के द्वारा निष्क्रियता ही दिखी क्योकि पिछले दिनों पुलिस विभाग 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस की परेड में चला गया था . हलाकि गणतंत्र दिवस के आयोजन में पुलिस प्रशासन का शामिल होना जायज है लेकिन इससे डकैतों को सहूलियत हुई . बताया जा रहा है कि सेमरिया के ललित सिंह अपहरण मामले में बाबली कोल गैंग का हाथ है जो अब भी पुलिस की निष्क्रियता की वजह से सुरक्षित बचा हुआ है अब सवाल यह उठता है कि पुलिस प्रशासन के द्वारा अगर डकैतों के मूवमेंट में नजर नहीं रखी गयी और कड़ी कार्यवाही नहीं की गयी तो तराई अंचल से पलायन शुरू हो जायेगा.


पचास हजार रुपये का इनामी डकैत पंजाबी बाबा हुआ गिरफ्तार, बाबली कोल गिरोह में

दर्शनार्थियों के साथ हुई लूट, जवाबदारी के बावजूद पार्किंग ठेकेदार ने की अभद


 VT PADTAL