VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Sunday 11th of February 2018 | जानिए क्या है पकौड़ा राजनीति

लगातार जारी है पकौड़े पर रजानीति


पिछले कई दिनों से देश-भर में केवल एक प्रकार की ही राजनीति चल रही है और वह है पकौड़ा. पकौड़े को लेकर जिसप्रकार दोनों ही पार्टियां संजीदा हो रही है उसे देखकर तो अब यह लगने लगा है कि अब देशभर में  इसी पकौड़े पर ही राजनीति होगी.

आपको बता दें पकौड़े की यह राजनीति पिछले कई दिनों से अलग-अलग दिशाओं में अलग-अलग बयानवाजी के साथ चल रही है और इसी क्रम में कुछ दिनों पहले कांग्रेस के नेताओं ने पकौड़े बेचना भी शुरु कर दिया था जिसके बाद से ही हर जगह पर इस बात को लेकर राजनीति गरमाई हुई है.

दरअसल कुछ दिनों पहले ही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने रोजगार के विषय पर बात करते हुए कहा था कि बेरोजगारी से अच्छा है कि पकौड़े बेंचा जाए. जिसके बाद प्रधानमंत्री समेत भाजपा के कई नेताओं ने इसका समर्थन करते हुए पकौड़े की ब्रांडिंग को तेज कर दिया था इसके साथ ही शनिवार को मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा में गोंड़वाना सभा के राष्ट्रीय अधिवेशन में बोलते हुए राज्यपाल आनंदीबेन ने भी बीजेपी के पकौड़े बेचने की बात का समर्थन किया था. राज्यापाल ने इसका समर्थन करते हुए कहा था कि पकौड़ा बनाना भी कौशल विकास का एक हुनर है इसमें भी कैरियर बनाया जा सकता है. क्योंकि छोटे-छोटे काम करके ही देश के अनेक उद्योगपति विदेशों तक पहुच सके हैं जैसे अड़ानी और अंबानी

जिसके बाद इसी कड़ी में एकबार फिर मध्यप्रदेश कांग्रेस के दिग्गज नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री कमलनाथ ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए रविवार को इस पकौड़े पर ट्वीट किया है और कहा है कि पकौड़ा बेंचना शर्म की बात नहीं है लेकिन 2 करोड़ रोजगार का प्रतिवर्ष वादा करने वाले उन उच्च शिक्षित बेरोजगार युवाओं को पकौड़े बेंचने का रोजगर बतायें यह शर्म की बात है. इसी के साथ आगे लिखते हे उन्होने कहा है कि जिस प्रकार पकौड़े की ब्राडिंग भाजपा नेता कर रहे हैं उससे लग रहा है कि पकौड़ा शीघ्र ही राष्ट्रीय आहार या रोजगार घोषित होगा         


बावरिया की बैठक में फिर हुआ बवाल, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आपस में किया विवा

“कामदार या नामदार” ,आगामी चुनाव में टिकट को लेकर घमासान शुरू


 VT PADTAL