VT Update
विन्ध्य में उद्योगों को लगेंगे पंख , मर्जी के मुताबिक उद्योगपतियों को मिलेगी जमीन , लैंड बैंक और लैंड पूल स्कीम से विन्ध्य में विकसित होगा उद्योग खोले गए लबालब बाणसागर के 10 गेट , रीवा, सतना, सीढ़ी, सिंगरौली, और शहडोल में अलर्ट घोषित आर्थिक मंदी के खिलाफ कांग्रेस मध्यप्रदेश समेत पुरे देश में छेड़ेगी आन्दोलन , दिल्ली में हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में सोनिया गाँधी ने दी जानकारी धुंधली होने लगी है विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद, लैंडर को नुक्सान पहुचने की आशंका बढ़ी यौन उत्पीड़न मामले में एसआईटी ने भाजपा नेता चिन्मयानंद से 7 घंटे की पूछताछ, चिन्मयानंद के आवास पर उनके बेडरूम की गई तलाशी
Thursday 1st of March 2018 | बजट 2018/ “झूर पैलगी जिउ झक्क”

बजट में कहाँ खड़ा है, मंत्री जी का महानगर रीवा ?


रीवा . कल मध्यप्रदेश सरकार का इस वित्तीय वर्ष 2018 का बजट वित्त मंत्री जयंत मलैया द्वारा पेश किया गया , बड़े वादे और दावे भी किये गए कृषि, स्वास्थ्य, और अधोसंरचना पर जोर दिया गया, प्रदेश के सभी प्रभावशाली क्षेत्रो का ध्यान रखा गया मगर इन सब के बीच एक सवाल विन्ध्य की जनता का है ... अपने स्थानीय मंत्री राजेंद्र शुक्ल जी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी से ...

सवाल यह की विन्ध्य और रीवा को क्या मिला? प्रदेश के चारों महानगरों को और बेहतर करने ,अधोसंरचना के दूरगामी प्लान के अनुसार बनाने के लिए अच्छा खासा बजट दिया गया , भोपाल और इंदौर के लिए मेट्रो ट्रेन चलाने के लिए बजट दिया गया , वहीँ जबलपुर में राज्य कैंसर सेंटर बनाने का निर्णय लिया गया है जिसकी एक यूनिट ग्वालियर मे भी खुलेगी, भोपाल से इंदौर सिक्स लेन एक्सप्रेस वे के लिए 5000 करोड़ रूपए , जबलपुर,ग्वालियर, सागर ,ओरछा में भारत माला योजना से बायपास का निर्माण . मगर मंत्री जी के सपनों का शहर महानगर रीवा खाली हाथ रहा, आशा भरी निगाहों से विधानसभा की ओर देखता रहा.

प्रदेश के मुख्यमंत्री जब-जब रीवा आये खूब बोले ..जी भर के क्षेत्र के विकास की बात की, मगर बजट में वो बातें कहीं नही दिखीं,शायद मुख्यमंत्री जी को काम के और आने वाले चुनावों दवाब में कुछ याद नही रहता ......ठीक है! टेंशन में ये सब को होता है, वो भी तब जब आप के साथ कुछ भी ठीक न हो रहा हो आप उपचुनाव लगातार हार रहे हों . मगर विन्ध्य और रीवा की जनता को सब कुछ याद है की आपने रीवा में सब के सामने क्या कहा था -

“रीवा के विकास में कोई कसर नही छोड़ी जाएगी, और अगर 1 रुपया इंदौर और भोपाल को दिया जायेगा तो 1 रुपया रीवा को भी दिया जाएगा”   

शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री मप्र.(मामा)

और हमने जी भर के तालियां ठोंकी थी, खूब हो हल्ला मचाया था,...शिवराज जिंदाबाद के नारे लगाये थे, और आज रीवा की जनता ठगा सा महसूस कर रही है ...सच तो यह है पूर्वी मध्यप्रदेश के विन्ध्य क्षेत्र पर इस बार भी माननीयों की नज़र नही गयी, विकास की गंगा का की एक बूँद नही पड़ी .बघेली भाषा में एक कहावत है ‘ “झूर पैलगी जिउ झक्क” कुछ ऐसा की आज रीवा महसूस कर रहा है.

 


शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान, शत्रुघ्न सिंह को मिली उपाधि

मानवता हुई शर्मसार, युवती ने लागाया तीन साल से रेप किए जाने का आरोप


 VT PADTAL


 Rewa

रीवा के चोरहटा में बाइक सवार की हत्या, गड़ासे से काट कर उतारा मौत के घाट
Tuesday 17th of September 2019
खड्डा गांव के आदिवासी निवासियों ने कलेक्ट्रेट के सामने दिया धरना, कलेक्टर को संबोधित ज्ञापन संयुक्त कलेक्टर को सौंपा
Tuesday 17th of September 2019
बीएसएनएल के नॅान एग्जक्यूटिव कर्मचारी संगठनों को मान्यता देने डाले गए वोट, 18 सितम्बर को होगी गिनती
Tuesday 17th of September 2019
अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में आयोजित हुई कुशाभाऊ ठाकरे के स्मृति में व्याख्यानमाला, प्रदेश राज्यपाल लालजी टंडन ने किया संबोधित
Tuesday 17th of September 2019
शासकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय रीठी में सुविधा की कमी
Sunday 15th of September 2019
कानून व्यवस्था सुधारने में जुटा प्रशासन
Sunday 15th of September 2019