VT Update
पूर्व प्राचार्य पर दर्ज F.I.R रद्द करने की उठी मांग, प्राध्यापको ने की बैठक ब्रम्हण समाज ने सौपा एस.पी को ज्ञापन R.P.F के D.I.G विजय कुमार खातरकर रेलवे ने रेलवे अफसर की पत्नी के साथ की छेड़छाड़, नरसिंहपुर के पास ओवरनाइट एक्सप्रेस मे वारदात,F.I.R दर्ज इंदौर का देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट अब बन गया अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट, सोमवार को पहली बार इंदौर से दुबई के लिए अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट ने भरी उड़ान राहुल के इस्तीफे के 50 दिन बाद भी अब तक किसी को नहीं चुना गया कांग्रेस अध्यक्ष , कर्नाटक विवाद सुलझने के बाद फैसले की उम्मीद भारतीय नौसेना की बढ़ाई जा रही ताकत, जल्द खरीदी जा सकती हैं 100 टारपीडो मिसाइल, 2000 करोड़ का टेंडर जारी
Thursday 1st of March 2018 | हो जाए घोषणा लेकिन दावेदार मै भी

अगर सिंधिया सीएम.फेस प्रोजेक्ट होते हैं तो मै स्वागत करूँगा


इनपुट डेस्क/VT

मुंगावली-कोलारस उपचुनाव के परिणाम भले ही बड़े अंतर से कांग्रेस न जीती हो लेकिन जीत तो हुई . कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने जमकर पीठ थपथपाई होगी ज्योतिरादित्य सिंधिया की.प्रदेश कार्यालय से लेकर दिल्ली तक जश्न हुआ और विधानसभा 2018 से पहले मिली इस जीत को कांग्रेस सेमीफाइनल के रूप में मानती थी .कल आये परिणाम के बाद जैसी उम्मीद थी की सिंधिया को मप्र. में सीएम चेहरा घोषित करने की मांग एक बार फिर जोर पकड़ने लगी .कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और छिंदवाडा से सांसद कमलनाथ ने इकोनॉमिक्स टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में साफ़-साफ़ कह दिया की उन्हें सिंधिया के नाम से कोई ऐतराज नहीं .

कोलारस मुंगावली सीट से विधानसभा के उपचुनाव जीतने के बाद पूरे कांग्रेस पार्टी में हर्ष का माहौल है जिसके बाद पार्टी के द्वारा लगातार इस जीत का श्रेय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को दिया जा रहा है.दोनों ही सीटें सिंधिया के क्षेत्र की थी. हो भी क्यों न क्योंकि यह सिंधिया की ही मेहनत है जो इस उपचुनव को कांग्रेस ने जीता है. इस उपचुनाव की जीत के बाद एक  बात तो साफ हो गई है कि पार्टी में सिंधिया का कद बढ़ा है.

कमलनाथ ने कहा है कि अगर आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस पार्टी से सीएम के नाम की घोषणा होती है तो उस पर सिंधिया के नाम से मुझे कोई एतराज नहीं है और मैं पार्टी के इस निर्णय का सम्मान करूंगा. हालाकि इसी के साथ ही कमलनाथ ने यह भी कहा की सीएम फेस की रेस में वो खुद भी हैं.

अजय-अरुण चेहरा घोषित करने के पक्ष में नहीं-

प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह नहीं चाहते की प्रदेश में कोई सीएम प्रोजेक्ट हो और सीएम फेस की घोषणा कांग्रेस की परंपरा के विरुद्ध भी मानते हैं. अरुण यादव का कार्यकाल कुछ ज्यादा अच्छा नहीं रहा है.अजय सिंह का कहना है की कांग्रेस की परंपरा नहीं है सीएम फेस घोषित करने की लेकिन अगर राहुल गाँधी चाहते हैं तो कोई दिक्कत नहीं.

दिग्विजय सिंह ने नहीं खोले हैं पत्ते-

अब तक दिग्विजय सिंह ने अपना मत साफ़ नहीं किया है .दिग्विजय सिंह अभी नर्मदा परिक्रमा में हैं और उनके आने के बाद ही कोई बड़ा फैसला हो पायेगा क्युकी बिना दिग्विजय सिंह को साधे प्रदेश में कांग्रेस के लिए सरकार संभव नहीं हैं क्युकी आज भी प्रदेश में कार्यकर्ताओं की फ़ौज दिग्विजय सिंह के पास ही है.

दरसल मप्र में 2013 के बाद से आये दिन मप्र की कमान सिंधिया को देने या सीएम फेस प्रोजेक्ट करने की बात होती आई है लेकिन हर बार कुछ न कुछ अड़चन हो जाती है लेकिन इस बार मौका भी है उपचुनाव में कांग्रेस से ज्यादा सिंधिया चुनाव लादे हैं इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता . सीएम चेहरे को लेकर प्रदेश के 5 क्षेत्रीय क्षत्रपों का मत अलग-अलग ही रहा है.

 


खजाना भरने के लिए बाजार पहुंची कमलनाथ सरकार, मांगा 1 हजार करोड़ का कर्ज

इंदौर एयरपोर्ट से दुबई के लिए आज़ उड़ान भरेगी एयर इंडिया, 29 मई को इंटरनेशनल एय


 VT PADTAL