VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
म.प्र. उपचुनावों की मायूसी दूर, कार्यकर्ताओं में उत्साह

पूर्वोत्तर की जीत ने उपचुनावों का ज़ख्म भरा, कार्यकर्ताओं में फिर उत्साह


पूर्वोत्तर राज्यों में विशेष कर नागालैंड और त्रिपुरा में बीजेपी के शानदार प्रदर्शन ने देश भर के अपने कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने का काम किया है, हाल ही में मध्यप्रदेश और राजस्थान में हुये उपचुनावों में बीजेपी के खराब प्रदर्शन से जहाँ एक ओर पार्टी के आला अधिकारी चिंतित थे, वहीँ कार्यकर्ताओं में भी इसका प्रतिकूल प्रभाव पड़ा था ,

मध्यप्रदेश के मूंगावाली और कोलारस में हार के 3 तीन बाद ही इस शानदार जीत की सुचना ने मध्यप्रदेश सहित देश के सभी कार्यकर्ताओं में उत्साह भर दिया है, 25 साल से सत्ता में रही लेफ्ट को बीजेपी ने हराकर त्रिपुरा में ऐतिहासिक जीत हासिल की है. 43 सीटों पर जबरदस्त जीत के साथ बीजेपी गठबंधन राज्य में सरकार बनाने जा रही है. 25 सालों तक त्रिपुरा में सरकार चलाने वाली लेफ्ट के हाथों से उसका ये गढ़ बीजेपी की झोली में आ गया है. त्रिपुरा की कुल 60 सीटों में से 59 सीटों पर मतदान हुए. जिसमें बीजेपी गठबंधन को 43 सीटों पर जीत मिली. अपने गढ़ में सीपीएम को 16 सीटें नसीब हुई हैं.

मेघालय विधानसभा चुनावी नतीजों में कोई भी पार्टी बहुमत का जादुई आंकड़ा नहीं छू सकी. हांलाकि कांग्रेस राज्य की सबसे बड़ी पार्टी बनकर जरूर उभरी है. 59 सीटों में से 21 सीटों पर कांग्रेस को जीत मिली है. वहीं, 19 सीटों पर जीत के साथ नेशनल पीपुल्स पार्टी दूसरे स्थान पर है.

मेघालय में बीजेपी केवल दो सीटों पर सिमट कर रह गई है. यूडीपी को 6 सीटों पर जीत मिली है इसके अलावा अन्य के खाते में 11 सीटें गई हैं. मेघालय में सरकार बनाने के लिए 31 सीटों की आवश्यकता है लेकिन चुनावी नतीजों में कोई भी पार्टी ये आंकड़ा अपने नाम नहीं कर सकी है.

एक बात तो तय है बीजेपी के बेजोड़ प्रबंधन ने देश भर के विपक्ष को धुल चटा दी है, और पार्टी एक बार फिर नरेन्द्र मोदी को देश का हीरो साबित करने में कामयाब रही है, और आने वाले चुनावों में इसका काफी असर पड़ने वाला है  इस परिणाम ने देश भर के कार्यकर्ताओं में जोश फूँक दिया है


रामदेव की टिप्पणी से आहत हुई उमा, पत्र लिख जताई नाराजगी

कमलनाथ की पहली लिस्ट पर ही खड़े हुए सवाल


 VT PADTAL