VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Saturday 10th of March 2018 | समुदाय विशेष बनीं राजनीतिक पार्टियां

कांग्रेस, बीजेपी बन गई एक समुदायों की पार्टी कहां से होगा विकास ?


हिंदुत्व के मुद्दों से उभरी भारतीय जनता पार्टी के ऊपर पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि कांग्रेस पार्टी पर बीजेपी ने जबरन मुस्लिम पार्टी होने का तमगा लगा दिया है जबकि कांग्रेस पार्टी के नेता भी मंदिर जाते हैं और मैं भी मंदिर जाती हूं. हालाकि बात तो बिलकुल सही कह रहीं हैं सोनिया गांधी जी. लेकिन फिर भी यह समझ नहीं आया कि अगर बीजेपी ने कांग्रेस पार्टी पर मुश्लिम पार्टी का तमगा लगया तो क्यूं.

आपको बतादें जिस प्रकार बीजेपी में मुस्लिम समुदाय के कुछ लोग काम करते हैं उसी प्रकार कांग्रेस पार्टी में भी तो हिंदू कार्यकर्ता काम करते हैं चलिए कोई बात नहीं लेकिन भारतीय जनता पार्टी अगर खुद को हिदुत्व की पार्टी मानती है तो फिर जिन मुद्दों को लेकर उसने सरकार बनाई थी क्या उन मुद्दों पर अभी तक कोई काम हुआ है. क्या क्या अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण हुआ या फिर होने वाला हैं, या फिर क्या आज देश में गाय नहीं काटी जा रही हैं.

दरअसल अब शायद भाजपा भी अपने हिंदुत्व के मुद्दे से भटक गई हैं और जो राष्ट्रहित की बात पहले कांग्रेस कर रही थी उसी को अब बीजेपी ने भी दोहराना शुरु कर दिया है मतलब साफ है जो भी सत्ता में रहेगा वह हिंदुत्व के मुद्दे पर कोई बात नहीं करेगा वह सिर्फ देश के विकास की बात ही करेगा करना भी चाहिए क्योकि हिंदुत्व बिना तो चला जा सकता है लेकिन बिना विकास के देश में रहना संभव नहीं है तो फिर अब सवाल यह उठता है कि कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टीयों पर ये जो समुदायों के टैग लगे हैं तो क्या इन समुदायों के हित के लिए इन दोनों ही पार्टीयों ने कुछ किया या फिर बस यह वोटबैंक की राजनीति है कि समुदायों के नाम से वोट मांगों फिर जीतने के बाद भूल जाओं     


बावरिया की बैठक में फिर हुआ बवाल, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आपस में किया विवा

“कामदार या नामदार” ,आगामी चुनाव में टिकट को लेकर घमासान शुरू


 VT PADTAL