VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Saturday 10th of March 2018 | प. म. रे. का पहला ग्रीन कोरिडोर बनेगा रीवा-सतना रेल मार्ग

फ़ूड प्लाजा, ग्रीन कोरिडोर और कई सुविधाओं से लेस होगा रीवा रेलवे स्टेशन


रीवा. आने वाले दिनों में रीवा रेलवे स्टेशन में बड़े शहरों की भांति कई आधुनिक सुविधाए देखने को मिल सकेंगी  लोगो की बहुप्रतीक्षित मांग को रेलवे ने प्रमुखता से लिया है, और इन कार्यो को शीर्घता से पूर्ण करने के निर्देश दिया ,जिनमे से कुछ कार्य पहले से किये जा रहे है अपनी पूर्णता की ओर है.

दरअसल रीवा रेलवे को पश्चिम मध्य रेलवे मुख्यालय जबलपुर द्वारा आने वाले समय में टर्मिनल के रूप विकसित करने का प्लान है जिसमे अभियो से कार्य करना प्रारंभ कर दिया गया है, इसी लिए स्टेशन में कई जरूरी सुविधाओं को कराने का कार्य प्रारंभ किया जा चूका है ,जैसे अब रीवा स्टेशन में प्लेटफार्मो की संख्या बढ़ने का कार्य किया जा रहा है, अब रीवा में 5 प्लेट फॉर्म होगे जबकि अभी तक इनकी संख्या 2 थी.

मिलेगा  फ़ूड प्लाजा और फ्री वाई-फाई

इसके अलावा स्टेशन में जल्द ही फ़ूड प्लाजा बने जाने की भी तयारी की जा रही है, फ़ूड प्लाजा न होने से यात्रियों को समस्या का सामना करना पड़ता था.इसके लिए रेलवे ने जीआरपी थाना के बगल में ज़मीन आवंटित कर दी है .इसके साथ ही स्टेशन परिषर में माह के अंत तक यात्रियों को फ्री वाई-फाई मिलने की उम्मीद जताई जा रही है  ,जिसके लिए मॉडेम और केबलिकरण का कार्य पूर्ण किया जा चुका है.

पश्चिम मध्य रेलवे का पहला ग्रीन कोरिडोर बनेगा

रीवा से सतना तक का रेल मार्ग ग्रीन कॉरिडोर किया जाएगा, विशेष बात यह हैकि   यह पश्चिम मध्य रेलवे का पहला ग्रीन कोरिडोर बनाया जाएगा ,इसे बाने का लक्ष २०१८ रखा गया है मतलब साल के अंत तक यह कार्य पूरा किया जायेगा , ग्रीन कोरिडोर का मतलब इस मार्ग से चलने वाली सभी ट्रेनों में बायोटॉयलेट लगाए जायेगे.यह ट्रेनों से निकलने वाले मानव अपशिष्ट को निष्पादन की आधुनिक विधि है.

 


केरल बाढ़ पीड़ितो की मदद के लिए आगे आई शहर की प्रतिष्ठित कोचिंग संस्थान

अस्पताल परिसर से चोरी हुई बोलेरो वाहन, सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, मचा हड़


 VT PADTAL