VT Update
रीवा: संजय गांधी अस्पताल में शव के पोस्टमार्टम के लिए परिजनों से की जा रही पैसे की मांग नीति आयोग की बैठक शुरु, सीएम शिवराज समेत सभी प्रदेशों के पहुंचे मुखिया रीवा : चोरहटा थानांतर्गत बनकुइंया रोड़ में हुआ बड़ा हादसा, लोड़िग वाहन और स्कूटी की टक्कर में पांच लोग घायल, घायलों को उपचार के लिए शहर के संजय गांधी अस्पताल में किया गया भर्ती विश्वबैंक ने रीवा सहित कई इंजीनियरिंग महाविद्यालयों को एक विशेष योजना में किया शामिल, वर्षों के बाद रीवा शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय में हो सकती है प्राध्यापकों की नियुक्ति, रीवा सहित प्रदेशभर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया ईद का त्यौहार, सभी जनप्रतिनिधियों ने दी मुश्लिम भाईयों को ईद की शुभकामनाऐं
बंद रहा विश्वविद्यालय

छात्र संघ तथा एवीबीपी ने जताया विरोध, बंद रहा विश्वविद्यालय


रीवा । विगत दिनों अवधेश प्रताप सिह विश्वविद्यालय के प्रोफेसर के द्वारा वहां की छात्रांओं को अश्लील मैसेज भेजे जाने के विरोध में आज बुधवार को एवीबीपी तथा विश्विविद्यालय के छात्रों ने विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर तालाबंदी कर धरना प्रदर्शन किया.

दरअसल विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अजय सक्सेना ने कुछ दिनों पहले वहां की छात्राओं के मोबाइल फोन पर अश्लील मैसेज किए थे जिसके बाद छात्राओं ने विश्वविद्यालय थाने पर उक्त प्रोफेसर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी जिसपर अब एकबार फिर विश्विविद्यालय के छात्र संघ तथा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की नगर इकाई के कर्यकर्ताओं ने प्रोफेसर के खिलाफ मोर्चा खोल कर सुबह से ही विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर तालाबंदी कर धरना दिया तथा फ्रोफेसर के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया.

आपको बतादें इस पूरे मामले पर पहले भी विद्यार्थी परिषद ने विरोध किया था जिसके बाद विश्वविद्यालय के कुलपति द्वारा 8 मार्च को प्रोफेसर के खिलाफ 2-3 दिन के भीतर कार्यवाही किए जाने का आश्वान दिया गया था लेकिन फिर भी विश्वविद्यालय प्रवंधन ने अभी तक आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की है . जिससे गुस्साए छात्र संघ तथा एबीबीपी के कार्यकर्ताओं के द्वारा फिर से विरोध प्रदर्शन किया गया तथा आरोपी प्रोफेसर के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की गई.

हालाकि इस मसले पर जब विंध्य टाइम्स की टीम ने कुलपति से बात की तो उन्होने बताया कि परिषद की बैठक आगामी 16 तारीख को बुलाई गई जिसमें प्रफेसर के खिलाफ जो कुछ भी कार्यवाही की जानी चाहिए वह उसी बैठक में निर्धारित की जायेगी.


राज्य योजना आयोग ने प्रदेश के 50 पिछड़े ब्लॉक को किया चिन्हित

संविदा शिक्षक के बाद अब होगा संविदा प्रेरकों का आंदोलन


 VT PADTAL