VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
कर्मचारी अब नहीं होगें नियमित : रुस्तम सिंह

रुस्तम सिंह का बयान, नहीं होगा स्वास्थ्य कर्मचारियों का नियमितिकरण


पिछले कई दिनों से अपनी मांगों को लेकर स्वास्थ्य कर्मचारियों ने प्रदेश भर में घरना प्रदर्शन कर आंदोलन किया जिसके कारण प्रदेशभर की स्वास्थ्य व्यवस्था पटरी पर है लेकिन अब तक प्रशासन को इसकी कोई खबर नहीं है कि यह जो कर्मचारी अपनी-अपनी अस्पतालों को छोड़कर अनशन कर रहे हैं इनके कारण स्वास्थ्य की व्यवस्था का क्या हाल होगा और इन सब बातों से बेखबर राज्य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री नें कर्मचारियों के नियमितिकरण को लेकर एक एक बड़ा बयान दे डाला जिससे अब स्वास्थ्य कर्मचारी हताश हो गए हैं.

दरअसल प्रदेश की बिगड़ती स्वास्थ्य व्यवस्था को देखते हुए शुक्रवार को विधानसभा के बजट सत्र में विपक्ष ने सरकार का घेराव किया तथा सरकार को स्वास्थ्य कर्मचारियों की मांगों को मानने का सुझाव दिया तभी राज्य सरकार  के स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह ने कहा कि कर्मचारियों की मुख्य मांग नियमितिकरण को लेकर हैं लेकिन सरकार उन्हे नियमित नहीं कर सकती.

आपको बतादें स्वास्थ्य कर्मचारियों ने अपनी दो मांगों को लेकर आंदोलन करना शुरु किया है जिसमें नियितिकरण के साथ वेतन विंसगति का भी जिक्र है लेकिन सरकार उनकी इन मांगों को मानने से कतरा रही है. हालाकि 1 साल पहले भी स्वास्थ्य कर्मचारियों ने अपनी इन मांगों को लेकर अनशन किया था जिसके बाद सरकार के आश्वासन से अनशन को रोक दिया गया था लेकिन फिर भी अभी तक उसका कोई सकारात्मक परिणाम सामने नहीं आया.अब सवाल यह उठता है कि अगर यह कर्मचारी अपने आंदोलन को खत्म नहीं करेगें तो फिर प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था का हाल क्या होगा.   


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL