VT Update
ओंकारेश्वर बांध विस्थापितों को मिली सुप्रीम कोर्ट से राहत, कोर्ट ने सरकार को दिया आदेश विस्थापितों को उपलब्ध कराएं बेहतर भूमि। प्रदेश के भिंड में चार लोगों की हत्या करने वाले आरोपी को कोर्ट ने सुनाई फांसी की सजा। शहडोल उपचुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी रही हिमाद्री सिंह ने आज कांग्रेस का हाथ छोड़ थामा भाजपा का दामन कमलनाथ सरकार को जबलपुर हाईकोर्ट से तगड़ा झटका, ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण देने पर लगाई रोक। टिकट को लेकर भाजपा में मचा घमासान, दावेदारों ने प्रदेश कार्यालय के सामने की नारेबाजी।
Wednesday 21st of March 2018 | सरकार! इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया?

अब सरकार ने माना 39 भारतीय मारे गए, परिजन बोले इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया ?


ईराक के मोसुल में 2014 में अपहृत 39 भारतीयों की मौत हो गयी है, ऐसा भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद में बताया, उन्होंने बताया की 2014 में में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट is द्वारा अगवा किये गए भारतीयों की हत्या कर दी गयी है , जिनमे 31 पंजाब,4 हिमाचल, और 2-2 बिहार और बंगाल से है उनके इस बयान के बाद विपक्ष सरकार की आलोचना की ,भारी शोर शराबे के बीच सुषमा स्वराज ने यह भी कहा की विदेश मंत्री वीके सिंह मृतकों के अवशेष लेने मोसुल जायेंगे .

चार साल बाद इस खुलासे पर मृतकों के परिजनों ने सरकार पर सवाल उठाये है , परिजनो का कहना है की सब जानकारी होते हुए भी इतने सालों तक सरकार ने हमें अँधेरे में क्यों रखा ? आधिकारिक बयां के बाद मृतकों के परिजनो के उम्मीद टूट गयी, परिवारजन सदमे में है, कई पारिवारिक सदस्यों के खराब तबियत के बीच अस्पताल मे भर्ती होने की खबरे आ रही है

आपको बता दें की २०१४ में संसद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था की ‘हमारे पास न उनके जिंदा होने के ठोस सबूत हैं न मरने का’ वहीँ २०१७ में कहा की ‘जब तक मरने के पुख्ता सबूत नही मिलते हम घोषणा नही कर सकते यह पाप होगा ...गैर जिम्मेदारी होगी’.


भूकंप के झटकों से दहला इंडोनेशिया, अब तक 12 सौ से अधिक की मौत

अब सरकार ने माना 39 भारतीय मारे गए, परिजन बोले इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया


 VT PADTAL