VT Update
पूर्व प्राचार्य पर दर्ज F.I.R रद्द करने की उठी मांग, प्राध्यापको ने की बैठक ब्रम्हण समाज ने सौपा एस.पी को ज्ञापन R.P.F के D.I.G विजय कुमार खातरकर रेलवे ने रेलवे अफसर की पत्नी के साथ की छेड़छाड़, नरसिंहपुर के पास ओवरनाइट एक्सप्रेस मे वारदात,F.I.R दर्ज इंदौर का देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट अब बन गया अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट, सोमवार को पहली बार इंदौर से दुबई के लिए अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट ने भरी उड़ान राहुल के इस्तीफे के 50 दिन बाद भी अब तक किसी को नहीं चुना गया कांग्रेस अध्यक्ष , कर्नाटक विवाद सुलझने के बाद फैसले की उम्मीद भारतीय नौसेना की बढ़ाई जा रही ताकत, जल्द खरीदी जा सकती हैं 100 टारपीडो मिसाइल, 2000 करोड़ का टेंडर जारी
Wednesday 21st of March 2018 | सरकार! इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया?

अब सरकार ने माना 39 भारतीय मारे गए, परिजन बोले इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया ?


ईराक के मोसुल में 2014 में अपहृत 39 भारतीयों की मौत हो गयी है, ऐसा भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद में बताया, उन्होंने बताया की 2014 में में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट is द्वारा अगवा किये गए भारतीयों की हत्या कर दी गयी है , जिनमे 31 पंजाब,4 हिमाचल, और 2-2 बिहार और बंगाल से है उनके इस बयान के बाद विपक्ष सरकार की आलोचना की ,भारी शोर शराबे के बीच सुषमा स्वराज ने यह भी कहा की विदेश मंत्री वीके सिंह मृतकों के अवशेष लेने मोसुल जायेंगे .

चार साल बाद इस खुलासे पर मृतकों के परिजनों ने सरकार पर सवाल उठाये है , परिजनो का कहना है की सब जानकारी होते हुए भी इतने सालों तक सरकार ने हमें अँधेरे में क्यों रखा ? आधिकारिक बयां के बाद मृतकों के परिजनो के उम्मीद टूट गयी, परिवारजन सदमे में है, कई पारिवारिक सदस्यों के खराब तबियत के बीच अस्पताल मे भर्ती होने की खबरे आ रही है

आपको बता दें की २०१४ में संसद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था की ‘हमारे पास न उनके जिंदा होने के ठोस सबूत हैं न मरने का’ वहीँ २०१७ में कहा की ‘जब तक मरने के पुख्ता सबूत नही मिलते हम घोषणा नही कर सकते यह पाप होगा ...गैर जिम्मेदारी होगी’.


गूगल ने डूडल के माध्यम से महिलओं को दिया सम्मान

वैलेंटाइन डे के स्थान पर सिस्टर डे मनाएगा पाकिस्तान का यह विश्वविद्यालय


 VT PADTAL