VT Update
वाराणसीः CM योगी ने चंद्रशेखर आजाद की प्रतिमा का अनावरण किया छत्तीसगढ़ः दंतेवाड़ा में IED विस्फोट में पांच जवान शहीद, 2 घायल रेलवे मैदान में होगा सद्भावना सम्मेलन, सतपाल जी महराज देगें उद्वबोधन रीवा व्यंकट भवन में विश्व संग्रहालय दिवस के उपलक्ष्य में लगाई गई प्रदर्शनी एमपी बोर्ड 10वीं और 12वीं रिजल्ट घोषित, मेरिट में छात्राओं का रहा दबदबा
सरकार! इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया?

अब सरकार ने माना 39 भारतीय मारे गए, परिजन बोले इतने दिन अधेरे में क्यों रखा गया ?


ईराक के मोसुल में 2014 में अपहृत 39 भारतीयों की मौत हो गयी है, ऐसा भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद में बताया, उन्होंने बताया की 2014 में में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट is द्वारा अगवा किये गए भारतीयों की हत्या कर दी गयी है , जिनमे 31 पंजाब,4 हिमाचल, और 2-2 बिहार और बंगाल से है उनके इस बयान के बाद विपक्ष सरकार की आलोचना की ,भारी शोर शराबे के बीच सुषमा स्वराज ने यह भी कहा की विदेश मंत्री वीके सिंह मृतकों के अवशेष लेने मोसुल जायेंगे .

चार साल बाद इस खुलासे पर मृतकों के परिजनों ने सरकार पर सवाल उठाये है , परिजनो का कहना है की सब जानकारी होते हुए भी इतने सालों तक सरकार ने हमें अँधेरे में क्यों रखा ? आधिकारिक बयां के बाद मृतकों के परिजनो के उम्मीद टूट गयी, परिवारजन सदमे में है, कई पारिवारिक सदस्यों के खराब तबियत के बीच अस्पताल मे भर्ती होने की खबरे आ रही है

आपको बता दें की २०१४ में संसद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा था की ‘हमारे पास न उनके जिंदा होने के ठोस सबूत हैं न मरने का’ वहीँ २०१७ में कहा की ‘जब तक मरने के पुख्ता सबूत नही मिलते हम घोषणा नही कर सकते यह पाप होगा ...गैर जिम्मेदारी होगी’.


आतंकवाद पर डोनाल्ड ट्रंप ने की घोषणा

भारत के दलवीर भंडारी बने अंतरराष्ट्रीय अदालत में जज


 VT PADTAL