VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
केंद्र की रिपोर्ट में मध्यप्रदेश नंबर one

केंद्र का खुलासा, एमपी हुआ अवैध खनन में अव्वल


मध्यप्रदेश सरकार हो या केंद्र सरकार हमेशा ही इन दोनों ने अवैध खनन को रोकनें की बात की हैं लेकिन फिर भी इसे रोक पाना शायद संभव नहीं हो पाया जिसके खातिर अब केंद्र सरकार की रिपोर्ट से पता चला है कि प्रदेश सरकार अब तक में अवैध खनन के मामले पर अव्वल रहा है. अवैध खनन के मामले पर राज्यस्थान दूसरे तथा गुजरात तीसरे स्थान पर काबिज है लेकिन इन तीनों ही राज्यों में बड़ी बात यह कि इन राज्यों में बीजेपी की सरकार है और इन्ही में सबसे ज्यादा अवैध खनन के मामले सामने आए हैं.

दरअसल खनन मंत्रालय द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2013-14 में खनन के मामले का आंकड़ा लगभग 62,725 था वहीं 2016-17 यह आंकड़ा बढ़कर 13,880 हुआ है. इसी तरह केंद्र के द्वारा जारी 10 राज्यों की रिपोर्ट मे राजस्थान और गुजरात क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं. खनन मंत्रलय के जारी रिपोर्ट के मुताबिक मध्यप्रदेश अवैध खनन के मामाले पर 106 फीसदी की बढोत्तरी हुई हैं वहीं हर रोज इस पर औसतन 29 की एफआईआर भी दर्ज हो रही है.

आपको बतादें अवैध खनन की यह प्रक्रिया तो हमेशा से ही चली आ रही है लेकिन इसको रोकने के लिए राज्य तथा केंद्र की सरकारों ने अपनी ओर से कई पहल की है परंतु फिर भी अभी तक इसे रोकना तो दूर कम कर पाने में भी  प्रशासन असफल हुआ हैं.  


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL