VT Update
लोकसभा चुनाव खर्च सीमा से अधिक पैसे नहीं लुटा पाएंगे उम्मीदवार, आयोग रखेगा उम्मीदवारों के खर्च पर पैनी नजर। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को विशेषाधिकार हनन की नोटिस, किया गया जवाब तलब, पूर्व सीएम दिग्विजय को मिली क्लीन चीट। अधिकारियों व कर्मचारियों के आमदा पर चुनाव आयोग की रोक, आयोग का निर्देश बिना अनुमति नहीं ग्रहण कर सके नवीन पदस्थापना में कार्यभार। भुवनेश्वर के वेदांता प्लांट में प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाकर्मी को जिंदा जलाया, स्थानीय लोगों को नौकरी देने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी। कांग्रेस को सुमित्रा ताई की चुनौती- इंदौर में उतारे मुझसे बेहत उम्मीदवार, कहा- चुनाव लड़ने में आएगा आनंद।
Friday 23rd of March 2018 | केंद्र की रिपोर्ट में मध्यप्रदेश नंबर one

केंद्र का खुलासा, एमपी हुआ अवैध खनन में अव्वल


मध्यप्रदेश सरकार हो या केंद्र सरकार हमेशा ही इन दोनों ने अवैध खनन को रोकनें की बात की हैं लेकिन फिर भी इसे रोक पाना शायद संभव नहीं हो पाया जिसके खातिर अब केंद्र सरकार की रिपोर्ट से पता चला है कि प्रदेश सरकार अब तक में अवैध खनन के मामले पर अव्वल रहा है. अवैध खनन के मामले पर राज्यस्थान दूसरे तथा गुजरात तीसरे स्थान पर काबिज है लेकिन इन तीनों ही राज्यों में बड़ी बात यह कि इन राज्यों में बीजेपी की सरकार है और इन्ही में सबसे ज्यादा अवैध खनन के मामले सामने आए हैं.

दरअसल खनन मंत्रालय द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2013-14 में खनन के मामले का आंकड़ा लगभग 62,725 था वहीं 2016-17 यह आंकड़ा बढ़कर 13,880 हुआ है. इसी तरह केंद्र के द्वारा जारी 10 राज्यों की रिपोर्ट मे राजस्थान और गुजरात क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं. खनन मंत्रलय के जारी रिपोर्ट के मुताबिक मध्यप्रदेश अवैध खनन के मामाले पर 106 फीसदी की बढोत्तरी हुई हैं वहीं हर रोज इस पर औसतन 29 की एफआईआर भी दर्ज हो रही है.

आपको बतादें अवैध खनन की यह प्रक्रिया तो हमेशा से ही चली आ रही है लेकिन इसको रोकने के लिए राज्य तथा केंद्र की सरकारों ने अपनी ओर से कई पहल की है परंतु फिर भी अभी तक इसे रोकना तो दूर कम कर पाने में भी  प्रशासन असफल हुआ हैं.  


विधायक के खिलाफ आवाज उठाने वाले कांग्रेसी नेता 6 साल के लिए पार्टी से निष्का

प्रदेश सरकार देशी शराब की दूकानों पर अंग्रेजी भी बेचने की तैयारी में, नियम ल


 VT PADTAL