VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Friday 23rd of March 2018 | केंद्र की रिपोर्ट में मध्यप्रदेश नंबर one

केंद्र का खुलासा, एमपी हुआ अवैध खनन में अव्वल


मध्यप्रदेश सरकार हो या केंद्र सरकार हमेशा ही इन दोनों ने अवैध खनन को रोकनें की बात की हैं लेकिन फिर भी इसे रोक पाना शायद संभव नहीं हो पाया जिसके खातिर अब केंद्र सरकार की रिपोर्ट से पता चला है कि प्रदेश सरकार अब तक में अवैध खनन के मामले पर अव्वल रहा है. अवैध खनन के मामले पर राज्यस्थान दूसरे तथा गुजरात तीसरे स्थान पर काबिज है लेकिन इन तीनों ही राज्यों में बड़ी बात यह कि इन राज्यों में बीजेपी की सरकार है और इन्ही में सबसे ज्यादा अवैध खनन के मामले सामने आए हैं.

दरअसल खनन मंत्रालय द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2013-14 में खनन के मामले का आंकड़ा लगभग 62,725 था वहीं 2016-17 यह आंकड़ा बढ़कर 13,880 हुआ है. इसी तरह केंद्र के द्वारा जारी 10 राज्यों की रिपोर्ट मे राजस्थान और गुजरात क्रमश: दूसरे और तीसरे नंबर पर हैं. खनन मंत्रलय के जारी रिपोर्ट के मुताबिक मध्यप्रदेश अवैध खनन के मामाले पर 106 फीसदी की बढोत्तरी हुई हैं वहीं हर रोज इस पर औसतन 29 की एफआईआर भी दर्ज हो रही है.

आपको बतादें अवैध खनन की यह प्रक्रिया तो हमेशा से ही चली आ रही है लेकिन इसको रोकने के लिए राज्य तथा केंद्र की सरकारों ने अपनी ओर से कई पहल की है परंतु फिर भी अभी तक इसे रोकना तो दूर कम कर पाने में भी  प्रशासन असफल हुआ हैं.  


एट्रोसिटी एक्ट पर शिवराज के बयान पर कपिल सिब्बल ने किया पलटवार

बहुजन समाज पार्टी ने जारी किये 22 प्रत्याशियों के नाम


 VT PADTAL