VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
आदिवासियों के पट्टा को लेकर किया जल सत्याग्रह

कांग्रेस के नेतृत्व में आदिवासियों ने किया जल सत्याग्रह आंदोलन


रीवा । जिले की सेमरिया तहसील में शुक्रवार को काग्रेस पार्टी के द्वारा कुवर किंह के नेतृव में विस्थापित आदिवासियों की मांग को लेकर जलसत्याग्रह किया गया जिसमे बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता तथा आदिवासी वर्ग मौजूद रहे.

दरअसल जलमोहरा बांध के निर्माण के समय वहां के आदिवासियों को प्रशासन द्वारा 10 साल के अस्थाई पट्टा दिये जाने का वादा किया गया था मगर बाद में केवल १ वर्ष का पट्टा दिया गया, सरकार की इस वादा खिलाफी के विरोध एवं 10 वर्ष के अस्थाई पट्टे की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी के द्वारा कुवर सिंह के नेतृत्व में जलमोहरा बांध में जलसत्याग्रह किया गया. जिसके बाद सेमरिया तहसील दार के आश्वाशन पर इस जल सत्याग्रह को समाप्त कर दिया गया.

आपको बतादें जलमोहरा बांध के आदिवासी पहले भी अपनी मांग को लेकर कई बार धरना दे चुके हैं परंतु फिर भी प्रशासन के द्वारा उनकी मांगों पर कोई विचार नहीं किया जा रहा है. हालाकि इस बार भी 1 साल का पट्टा देकर प्रशासन के द्वारा उन आदिवासियों की मांगों को मान लिया गया है लेकिन आदिवासियों की 10 साल के पट्टा की मांग को पूरा नहीं किया गया.इस पूरे मामले को लेकर वहां के लोगों ने बताया कि प्रशानसन के द्वारा 400 रुपये प्रतिवर्ष उन आदिवासियों से जमीन के पट्टा का किराया भी वसूला जा रहा है. 


अपराधियों के मन से खत्म हुआ पुलिस का खौफ, मोबाइल दुकान में बदमाशों ने की तोड़

घनी बस्ती में बसे गैस एजेंसियों के गोदाम, भय के साये में जनजीवन


 VT PADTAL