VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Friday 23rd of March 2018 | आदिवासियों के पट्टा को लेकर किया जल सत्याग्रह

कांग्रेस के नेतृत्व में आदिवासियों ने किया जल सत्याग्रह आंदोलन


रीवा । जिले की सेमरिया तहसील में शुक्रवार को काग्रेस पार्टी के द्वारा कुवर किंह के नेतृव में विस्थापित आदिवासियों की मांग को लेकर जलसत्याग्रह किया गया जिसमे बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता तथा आदिवासी वर्ग मौजूद रहे.

दरअसल जलमोहरा बांध के निर्माण के समय वहां के आदिवासियों को प्रशासन द्वारा 10 साल के अस्थाई पट्टा दिये जाने का वादा किया गया था मगर बाद में केवल १ वर्ष का पट्टा दिया गया, सरकार की इस वादा खिलाफी के विरोध एवं 10 वर्ष के अस्थाई पट्टे की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी के द्वारा कुवर सिंह के नेतृत्व में जलमोहरा बांध में जलसत्याग्रह किया गया. जिसके बाद सेमरिया तहसील दार के आश्वाशन पर इस जल सत्याग्रह को समाप्त कर दिया गया.

आपको बतादें जलमोहरा बांध के आदिवासी पहले भी अपनी मांग को लेकर कई बार धरना दे चुके हैं परंतु फिर भी प्रशासन के द्वारा उनकी मांगों पर कोई विचार नहीं किया जा रहा है. हालाकि इस बार भी 1 साल का पट्टा देकर प्रशासन के द्वारा उन आदिवासियों की मांगों को मान लिया गया है लेकिन आदिवासियों की 10 साल के पट्टा की मांग को पूरा नहीं किया गया.इस पूरे मामले को लेकर वहां के लोगों ने बताया कि प्रशानसन के द्वारा 400 रुपये प्रतिवर्ष उन आदिवासियों से जमीन के पट्टा का किराया भी वसूला जा रहा है. 


एट्रोसिटी एक्ट को ख़त्म करना होगा पार्टी का मुख्य मुद्दा : लक्ष्मण तिवारी

टीआरएस कॉलेज का निरीक्षण करने आएगी नैक की टीम


 VT PADTAL