VT Update
पूर्व प्राचार्य पर दर्ज F.I.R रद्द करने की उठी मांग, प्राध्यापको ने की बैठक ब्रम्हण समाज ने सौपा एस.पी को ज्ञापन R.P.F के D.I.G विजय कुमार खातरकर रेलवे ने रेलवे अफसर की पत्नी के साथ की छेड़छाड़, नरसिंहपुर के पास ओवरनाइट एक्सप्रेस मे वारदात,F.I.R दर्ज इंदौर का देवी अहिल्याबाई होल्कर एयरपोर्ट अब बन गया अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट, सोमवार को पहली बार इंदौर से दुबई के लिए अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट ने भरी उड़ान राहुल के इस्तीफे के 50 दिन बाद भी अब तक किसी को नहीं चुना गया कांग्रेस अध्यक्ष , कर्नाटक विवाद सुलझने के बाद फैसले की उम्मीद भारतीय नौसेना की बढ़ाई जा रही ताकत, जल्द खरीदी जा सकती हैं 100 टारपीडो मिसाइल, 2000 करोड़ का टेंडर जारी
Thursday 29th of March 2018 | सीएम कर रहे वाहवाही, मंत्री ने खोली पोल

भावान्तर के भंवर में फंसे सीएम, मंत्री बिसेन ने खोला पोल


मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा किसानों के हित में चलाई गई भावान्तर भुगतान योजना का आज हर जगह विरोध हो रहा है यहां तक कि कुछ किसान संगठन इस योजना को फ्राड योजना भी बता रहे हैं जिसके बाद अब सरकार ने खुद ही यह मान लिया है कि इस योजना के आने से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है.

दरअसल मंदसौर में हुए किसान आंदोलन के बाद प्रदेश सरकार ने फैसला किया था कि एक ऐसी योजना लाई जाये जिससे किसानों की उपज अगर कम दाम पर बिके फिर भी उन्हे नुकसान ना उठाना पड़ा जिसके बाद आनन फानन में भावान्तर भुगतान योजना का शुभारंभ किया गया लेकिन शुरुआत से ही भावान्तर के भंवर में सरकार और किसान फंसे रहे जिसमें कई घोटालों के साथ सरकार की कमियां भी सामने आई.लेकिन फिर भी प्रदेश के मुखिया ने लगातार भावांतर के गुणगान गाए.हालाकि विपक्ष ने भी भावान्तर को लेकर सरकार पर काफी निशाना साधा और इस योजना को किसान विरोधी तथा व्यापारियों के लिए फायदेमंद बताया है.

आपको बतादें अब राज्य के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने भी यह मान लिया है कि भावान्तर से किसानों को नुकसान हो रहा है तथा जिन किसानों की फसल माडल रेट से कम दाम पर बिकी उन किसानों को ज्यादा नुकसान झेलना पड़ा है. मंत्री के अनुसार  न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी से किसानों को फायदा होगा  


सड़क पर मिला पुलिस कर्मी का शव

मध्यप्रदेश में भाजपा नेता के बयान से बढ़ी सियासी सरगर्मियां  


 VT PADTAL