VT Update
लोकसभा चुनाव खर्च सीमा से अधिक पैसे नहीं लुटा पाएंगे उम्मीदवार, आयोग रखेगा उम्मीदवारों के खर्च पर पैनी नजर। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को विशेषाधिकार हनन की नोटिस, किया गया जवाब तलब, पूर्व सीएम दिग्विजय को मिली क्लीन चीट। अधिकारियों व कर्मचारियों के आमदा पर चुनाव आयोग की रोक, आयोग का निर्देश बिना अनुमति नहीं ग्रहण कर सके नवीन पदस्थापना में कार्यभार। भुवनेश्वर के वेदांता प्लांट में प्रदर्शनकारियों ने सुरक्षाकर्मी को जिंदा जलाया, स्थानीय लोगों को नौकरी देने की मांग कर रहे थे प्रदर्शनकारी। कांग्रेस को सुमित्रा ताई की चुनौती- इंदौर में उतारे मुझसे बेहत उम्मीदवार, कहा- चुनाव लड़ने में आएगा आनंद।
Thursday 29th of March 2018 | सीएम कर रहे वाहवाही, मंत्री ने खोली पोल

भावान्तर के भंवर में फंसे सीएम, मंत्री बिसेन ने खोला पोल


मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा किसानों के हित में चलाई गई भावान्तर भुगतान योजना का आज हर जगह विरोध हो रहा है यहां तक कि कुछ किसान संगठन इस योजना को फ्राड योजना भी बता रहे हैं जिसके बाद अब सरकार ने खुद ही यह मान लिया है कि इस योजना के आने से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है.

दरअसल मंदसौर में हुए किसान आंदोलन के बाद प्रदेश सरकार ने फैसला किया था कि एक ऐसी योजना लाई जाये जिससे किसानों की उपज अगर कम दाम पर बिके फिर भी उन्हे नुकसान ना उठाना पड़ा जिसके बाद आनन फानन में भावान्तर भुगतान योजना का शुभारंभ किया गया लेकिन शुरुआत से ही भावान्तर के भंवर में सरकार और किसान फंसे रहे जिसमें कई घोटालों के साथ सरकार की कमियां भी सामने आई.लेकिन फिर भी प्रदेश के मुखिया ने लगातार भावांतर के गुणगान गाए.हालाकि विपक्ष ने भी भावान्तर को लेकर सरकार पर काफी निशाना साधा और इस योजना को किसान विरोधी तथा व्यापारियों के लिए फायदेमंद बताया है.

आपको बतादें अब राज्य के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने भी यह मान लिया है कि भावान्तर से किसानों को नुकसान हो रहा है तथा जिन किसानों की फसल माडल रेट से कम दाम पर बिकी उन किसानों को ज्यादा नुकसान झेलना पड़ा है. मंत्री के अनुसार  न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी से किसानों को फायदा होगा  


विधायक के खिलाफ आवाज उठाने वाले कांग्रेसी नेता 6 साल के लिए पार्टी से निष्का

प्रदेश सरकार देशी शराब की दूकानों पर अंग्रेजी भी बेचने की तैयारी में, नियम ल


 VT PADTAL