VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Thursday 29th of March 2018 | सीएम कर रहे वाहवाही, मंत्री ने खोली पोल

भावान्तर के भंवर में फंसे सीएम, मंत्री बिसेन ने खोला पोल


मध्यप्रदेश सरकार के द्वारा किसानों के हित में चलाई गई भावान्तर भुगतान योजना का आज हर जगह विरोध हो रहा है यहां तक कि कुछ किसान संगठन इस योजना को फ्राड योजना भी बता रहे हैं जिसके बाद अब सरकार ने खुद ही यह मान लिया है कि इस योजना के आने से किसानों को भारी नुकसान उठाना पड़ा है.

दरअसल मंदसौर में हुए किसान आंदोलन के बाद प्रदेश सरकार ने फैसला किया था कि एक ऐसी योजना लाई जाये जिससे किसानों की उपज अगर कम दाम पर बिके फिर भी उन्हे नुकसान ना उठाना पड़ा जिसके बाद आनन फानन में भावान्तर भुगतान योजना का शुभारंभ किया गया लेकिन शुरुआत से ही भावान्तर के भंवर में सरकार और किसान फंसे रहे जिसमें कई घोटालों के साथ सरकार की कमियां भी सामने आई.लेकिन फिर भी प्रदेश के मुखिया ने लगातार भावांतर के गुणगान गाए.हालाकि विपक्ष ने भी भावान्तर को लेकर सरकार पर काफी निशाना साधा और इस योजना को किसान विरोधी तथा व्यापारियों के लिए फायदेमंद बताया है.

आपको बतादें अब राज्य के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने भी यह मान लिया है कि भावान्तर से किसानों को नुकसान हो रहा है तथा जिन किसानों की फसल माडल रेट से कम दाम पर बिकी उन किसानों को ज्यादा नुकसान झेलना पड़ा है. मंत्री के अनुसार  न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी से किसानों को फायदा होगा  


एट्रोसिटी एक्ट पर शिवराज के बयान पर कपिल सिब्बल ने किया पलटवार

बहुजन समाज पार्टी ने जारी किये 22 प्रत्याशियों के नाम


 VT PADTAL