VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
सुरक्षित नहीं सुरक्षा व्यवस्था

सुरक्षित नहीं सुरक्षा व्यवस्था, डायल 100 में हुआ हमला


रीवा । बैकुंठपुर थानाक्षेत्र अंतर्गत मझिगवां में कुछ आसमाजिक तत्वों के द्वारा फर्जी सूचना देकर बुलाई गई पुलिस की डायल 100 वाहन में शराबियों ने हमला कर दिया तथा वाहन में सवार पुलिस कर्मियों के साथ झड़प कर गाली गलौज करने लगे जिसके बाद खुद पुलिस वाहन वहां से अपनी जान बचाकर भाग खड़ी हुई.

दरअसल गुरुवार की देर रात मझिगवा गाँव के कुछ अज्ञात बदमाशों ने डायल 100 वाहन को फर्जी सूचना देकर गांव में बुलाया था तथा मौके पर पहुंची पुलिस वाहन के साथ शराबियों ने झड़प करनी शुरु कर दी जिससे खुद पुलिस की वाहन में सवार पुलिसकर्मी अपनी जान बचाकर भाग गए. हालाकि अब पुलिस आरोपियों की जांच में चुट चुकी है लेकिन फिर भी डायल 100 वाहन पर हुए हमले के प्रयास से पुलिस प्रशासन की बड़ी लापारवाही उजागर हुई है. इसके साथ ही सूत्रों के मुताबिक मिली जानकारी के अनुसार बैकुंठपुर में आए दिन अबैध शराब तथा सरेराह गांजा और मेडिकल पदार्थों की बिक्री होती रहती है जिसपर पुलिस प्रशासन के द्वारा किसी भी प्रकार की कार्यवाई नहीं की जाती है.

आपको बतादें डायल 100 में हुए हमले से साफ जाहिर होता है कि बैकुंठपुर की पुलिस व्यवस्था किस ओर जा रही है. वहीं सूत्र बताते हैं कि बैकुंठपुर की डायल 100 वाहन रात्रि में मात्र एक नगर सैनिक के भरोसे पर छोड़ दी जाती है और थाने की पुलिस का कहीं कोई पता नहीं रहता है ऐसे में इस तरह की घटना पुलिस की लचर व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रही है.


अपराधियों के मन से खत्म हुआ पुलिस का खौफ, मोबाइल दुकान में बदमाशों ने की तोड़

घनी बस्ती में बसे गैस एजेंसियों के गोदाम, भय के साये में जनजीवन


 VT PADTAL