VT Update
देश के हर घर को बिजली देने की कोशिश हो रही है: राष्ट्रपति कोविंद सरकार ने गरीबों के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान किया: राष्ट्रपति कोविंद रामगढ़ उपचुनाव: कांग्रेस की साफिया खान जीतीं J-K:अनंतनाग में पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड से हमला, 3 नागरिक और 1 जवान घायल गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष
Saturday 31st of March 2018 | रेलवे को मिली त्रिनेत्र टेक्नोलजी

रीवा के वैज्ञानिक ने रेलवे को दी त्रिनेत्र तकनीक, राष्ट्रपति ने किया सम्मानित


रीवा । शहर के शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय के पुराने छात्र तथा वैज्ञानिक प्रो. आर के साकेत ने अब रेलवे को एक ऐसी तकनीक दी है जिससे कोहरे में भी रेल चलाई जा सकेगी और इस तकनीक को बनाने के लिए राष्ट्रपति ने उन्हे युवा वैज्ञानिक पुरस्कार से सम्मानित किया है जिसके बाद विंध्य में हर्ष का माहौल है क्योंकि इससे पहले कभी भी किसी युवा वैज्ञानिक को यह पुरस्कार नहीं दिया गया है.

दरअसल आमतौर देखा यह जाता है कि सर्दी के दिनों में कोहरा व धुंध की वजह से रेल यातायात खासा प्रभावित होता है जिसमें लंबी दूरी तय करने वाली ट्रेने अपने निर्धरित समय से लेट पहुंचती है जिसके कारण लोगों को काफी तकलीफ का सामना करना पड़ता है लेकिन अब ऐसा नहीं होगा क्योंकी रीवा के इंजीनियर ने रेलवे विभाग को त्रिनेत्र टेक्नोलाजी दे दी है जिससे अब कोहरे में भी ट्रेन आसानी से चलाई जा सकेगी.

क्या है त्रिनेत्र टेक्नोलाजी  

आपको बतादें त्रिनेत्र वह टेक्नोलाजी है जिससे घने कोहरे तथा धुंध के बावजूद ट्रेन का लोकोपायलट दो किलोमीटर तक साफ देख सकता है इस टेक्नोलाजी को बनाने के लिए लेसर अथवा रडार युक्त कैमरे का उपयोग किया जाता है जिसकी मदद से पटरियां साफ दिखाई देती हैं. इससे ट्रेनों को उनकी गति के साथ दौड़ाया जा सकता है.


जारी हुई विद्युत विभाग की नई स्कीम, 100 युनिट बिल पर करना होगा 100 रुपये का भुगतान

टीआरएस कॉलेज से शुरू हुआ सिटी बसों का सञ्चालन


 VT PADTAL