VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
बंद रहा भारत

वर्ग विशेष के लिए बंद रहा भारत, कई बेगुनाहों की गई जानें


पिछले दिनों देश में अन्य-अन्य धर्मों को लेकर दलीले होती रहीं तथा राजनीतिक पार्टियों ने धर्म के मसले पर अपनी राजनीति को बढ़ावा दिया वहीं अब वर्ग को लेकर राजनीति तथा ध्रुवीकरण हो रहा है सोमवार को एक विशेष वर्ग के लिए भारत बंद कराया गया तथा दंगे हुए जिसमें मध्यप्रदेश से 6 लोगों की जान भी गई वहीं आंकड़ा स्पष्ट तो नहीं हुआ लेकिन देश के और कई हिस्सो में भी दंगों में कई लोग मारे गए लेकिन राजनीतिक लोग सिर्फ अपनी रोटियां सेकने में लगे रहे सरकार ने भी कुछ खास नहीं किया.

दरअसल सोमवार को एससी/ एसटी एक्ट को लेकर वर्ग विशेष ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को बदलने के लिए भारत बंद का प्रायस किया, प्रायस सफल भी रहा, लेकिन आंकड़ो के मुताबिक मध्यप्रदेश सहित देशभर में 14 बेगुनाह इंसानों की मौत हो गई इसके अलावा लाखों करोड़ों रुपये की संपत्ति का नुकसान भी हुआ, यह सब हुआ सिर्फ एक वर्ग विशेष के एक्ट में बदलाव के चलते और वो भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ.

आपको बतादें पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने एससी/एसटी एक्ट में कुछ बदलाव किए थे जिसमें यह स्पष्ट हुआ था कि अब बिना किसी जांच के इस एक्ट को किसी भी अपराध के ऊपर लागू नहीं किया जायेगा जिसके विरोध में देशभर का दलित समूह सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का विरोध करने लगा तथा पहले की ही तरह इस एक्ट को लागू कराने की मांग करने लगा जिसके चलते भारत बंद कर हिंसात्मक क्रियाए की गईं. हालाकि एससी/ एसटी एक्ट में बदलाव के लिए सरकार के द्वारा पुनर्विचार याचिका दायर की गई है लेकिन फिर भी इस हिंसा को रोंकने में राज्य तथा केंद्र की सरकारें नाकामयाब रहीं.  


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL