VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
योग्यता दरकिनार हो रही है

गोपाल भार्गव का ताजा बयान पार्टी के लिए मुसीबत बन सकता है.


SC-ST एक्ट में संशोधन के खिलाफ दलितों ने 2 अप्रैल को भारत बंद का आयोजन किया था.इस दौरान पूरे देश में हुई हिंसा ने देश को अपनी चपेट में ले लिया. कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ विपक्ष ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला भी बोला तभी से भाजपा अपने दलित वोटरों को साधने का प्रयास कर रही है हालांकि मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान सरकार में मंत्री गोपाल भार्गव का ताजा बयान पार्टी के लिए मुसीबत बन सकता है.

भार्गव ने रविवार को नरसिंहपुर जिले में ब्राह्मण समाज द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि 'यदि योग्यता को दरकिनार करके अयोग्य लोगों का चयन किया जाए, यदि 90 फीसदी वाले को बैठा दिया जाएगा और 40 फीसदी वाले की नियुक्ति की जाए तो यह देश के लिए घातक है.' उन्होंने कहा इससे हमारा देश पिछड़ जाएगा. कहीं ब्राह्मणों के साथ अन्याय न हो जाए. यह प्रतिभा के साथ एक मजाक है और ईश्वर की व्यवस्था के साथ अन्याय हो रहा है.

हालांकि अपने बयान पर बाद में उन्होंने सफाई देते हुए कहा कि उनके बयान को राजनीतिक कारणों से तोड़ मरोड़ कर प्रस्तुत किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि वह आरक्षण के घोर समर्थक हैं और उन्होंने अपने बयान में आरक्षण शब्द का कहीं प्रयोग नहीं किया. भार्गव के मुताबिक उनके 40 साल के राजनीतिक करियर में भी उन्होंने कभी आरक्षण शब्द का उल्लेख नहीं किया.कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व केन्द्रीय मंत्री सुरेश पचौरी भी थे.दरअसल चुनावी साल में राजनैतिक दलों और उनके नेताओं को हर कदम फूंक-फूंक कर रखना चाहिए.सोशल मीडिया में मंत्री गोपाल भार्गव का यह बयान आने के बाद ब्राम्हण समुदाय के संगठन और लोगों ने समर्थन किया है.


कैबिनेट की बैठक आज, मिल सकती है कई प्रस्तावों को मंजूरी

आप ने किया इंदौर से घोषणा पत्र जारी !


 VT PADTAL