VT Update
16 नवम्बर को शहडोल में होंगे नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी कांग्रेस विधायक सुन्दरलाल तिवारी ने आरएसएस को कहा आतंकी संगठन,कांग्रेस का बयान से किनारा रीवा में भाजपा प्रत्याशी राजेंद्र शुक्ल ने कांग्रेस प्रत्याशी अभय मिश्र को दिया कानूनी नोटिस। 50 करोड़ का कर सकते हैं दावा। आबकारी उड़नदस्ता टीम ने की बड़ी कार्यवाही, नईगढ़ी व पहाड़ी गाँव में कच्ची शराब भट्टी में मारी रेड, 200 लीटर कच्ची शराब के साथ पांच आरोपी गिरफ्तार विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र एस एस टी टीम की कार्यवाही जारी, चेकिंग के दौरान चार पहिया सवार के कब्जे से बरामद हुए 2लाख 19 हज़ार रुपये, निर्वाचन कार्यालय भेजा गया मामला
Tuesday 17th of April 2018 | कई राज्यों के एटीएम खाली, बने नोटबंदी जैसे हालात

म.प्र. उ.प्र. सहित आठ राज्यों में ‘कैश’ संकट


भोपाल. प्रदेश में इस समय करेंसी की समस्या से जूझ रहे हैं प्रदेश के महानगरों सहित तमाम शहरों में लोग अपने ही पैसों के लिए एटीएम दर एटीएम भटक रहे हैं लेकिन कहीं से भी कैश नही निकल रहा है यह समस्या केवल मध्यप्रदेश में ही नहीं बल्कि देश के आठ बड़े राज्यों में देखने को मिल रही है जिनमे मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, गुजरात,आन्ध्रप्रदेश, तेलंगाना,कर्नाटक और महाराष्ट्र भी शामिल है. देश की राजधानी दिल्ली से भी एटीएम में कैश नही होने की खबरें आ रही हैं

कई शहरों में एटीएम खाली होने की शिकायत मिल रही है. लोगों को पैसे मिल नहीं पा रहे हैं. परेशान लोग एटीएम के चक्कर लगा रहे हैं. लोगों को एक बार फिर से नोटबंदी के समय का मुश्किल वक्त याद आ रहा है. दो साल पहले नवंबर में नोटबंदी हुई थी और आज डेढ़ साल बाद देश के राज्यों में वैसे ही हालात बन गए हैं.
नकदी का संकट उत्तर प्रदेश में भी है. इसको लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज बैठक बुलाई है. यूपी के कई जिलों में कैश नहीं मिल रहा है. कहा जा रहा है कि सीएम योगी नकदी संकट को लेकर कल वित्त मंत्री अरुण जेटली को पत्र लिख सकते हैं.

नकदी की समस्या को लेकर मध्यप्रदेश के शाजापुर में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक बड़ा बयान दिया है. मुख्यमंत्री ने किसानों की एक सभा में कहा है ‘’दो हजार के नोट को साजिश के तहत चलन से गायब किया जा रहा है.’’

 

क्यों हो रही है कैश की दिक्कत?
एसबीआई के बिहार जोन के एजीएम (पीआर) मिथिलेश कुमार ने बताया कि कैश डिपॉजिट का फ्लो कम हुआ है. आरबीआई से रिक्वेजेशन करते हैं. लेकिन कुछ दिनों से फुलफिल नहीं हो पा रहा है. नकारी के मुताबिक बिहार में एसबीआई के 1100 एटीएम हैं. 1100 एटीएम में रोजाना 250 करोड़ रुपये की जरूरत है. लेकिन अभी 125 करोड़ रुपये यानी आधा पैसा ही मिलता है. पटना में सिर्फ सरकारी बैंकों में ही नहीं प्राइवेट बैंकों के एटीम में भी कैश की किल्लत है.


कैश संकट पर मोदी सरकार का पहला बयान
कैश संकट पर मोदी सरकार की पहली प्रतिक्रिया आई है. केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री शिव प्रताप शुक्ल ने कहा कि एक-दो दिन में हालात सामान्य हो जाएंगे. शिवप्रताप शुक्ल ने कहा, ''हमारे पास अभी सवा लाख करोड़ की कैश करेंसी है, इसमें कोई दिक्कत नहीं है. एक समस्या आई है जिसे हम स्वीकर करते हैं. कुछ राज्यों में पैसे अधिक हो गए हैं और कुछ में कम हो गए हैं. हमने इसके लिए राज्यवार कमेटी बनाई है. आरबीआई भी कमेटी बना रहा रहै. पैसा एक स्टेट से दूसरे स्टेट में ट्रांसफर करना पड़ेगा जिसके लिए आरबीआई की इजाजत जरूरी है. मुझे लगता है कि एक से दो दिन में हम इस समस्या को पूरा खत्म कर देंगे.''


भाजपा नेताओं के रात भर आते हैं फोन, 11 दिसंबर की शाम को बताउंगा कौन कौन करता है

बीजेपी को फायदा पहुचाने के लिए लड़ रहा हूँ निर्दलीय चुनाव: पूर्व मंत्री


 VT PADTAL