VT Update
देश के हर घर को बिजली देने की कोशिश हो रही है: राष्ट्रपति कोविंद सरकार ने गरीबों के लिए बैंकिंग सुविधा को आसान किया: राष्ट्रपति कोविंद रामगढ़ उपचुनाव: कांग्रेस की साफिया खान जीतीं J-K:अनंतनाग में पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड से हमला, 3 नागरिक और 1 जवान घायल गोपाल भार्गव बने नेता मप्र.विधानसभा नेता प्रतिपक्ष
Saturday 21st of April 2018 | पास्को एक्ट में होगा बड़ा बदलाव ,मिली कैबिनेट की मंजूरी

नाबालिक से रेप पर सजा ए मौत, मोदी सरकार का पास्को पर बड़ा फैसला


सरकार ने एक अध्यादेश के जरिए बलात्कार के मामलों में कठोर कदम उठाने का ऐलान किया है. केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अध्यादेश पर अपनी मुहर लगा दी और अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद ये अमल में आ जाएगा. राष्ट्रपति के हस्ताक्षर की तारीख के बाद से हुए मामलों में नए प्रावधान लागू होंगे.

क्या होंगे बड़े बदलाव

12 साल से कम उम्र की नाबालिग के साथ रेप करने वालों को मिलेगी सजा-ए-मौत महिला से बलात्‍कार करने पर दोषी को सात से दस साल तक की कठोर कारावास की सजा जिसे उम्रकैद तक बढ़ाया जा सकता है.
-अगर पीड़िता की उम्र 16 साल से कम है तो दोषी को 10 से 20 साल तक की सजा जो उम्रकैद तक बढ़ाई जा सकती है. उम्रकैद की सजा का मतलब जब तक वह शख्‍स जीवीत रहेगा तब तक जेल में ही रहेगा.
- अगर 16 साल से कम उम्र की लड़की के साथ गैंग रेप के आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा हो सकती है.
- 12 साल से कम उम्र की बच्‍ची के साथ रेप होने पर 20 साल से उम्रकैद तक की सजा और फांसी की सजा भी हो सकती है.
- 12 साल से कम उम्र की बच्‍ची का रेप होता है तो दोषी को उम्रकैद से लेकर फांसी की सजा हो सकता है और ऐसे मामलों की जांच जल्‍द की जाएगी और ट्रायल भी तेजी से पूरा किया जाएगा.
- सभी बलात्‍कार के मामलों की जांच दो महीने में पूरी हो जानी चाहिए.
- छह महीने में याचिका का निपटारा होना चाहिए.

राजस्थान सरकार ने इसी साल मार्च में 12 साल तक की बच्चियों के साथ दुष्कर्म के दोषियों को मौत की सजा वाले कानून को मंजूरी दी थी. इससे पहले मध्यप्रदेश ऐसा कानून बनाने वाला पहला राज्य था. वहीं, हरियाणा में इससे जुड़े प्रावधान को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है


twitter पर ट्रेंड #besttoiletpaperintheworld

Realme 2 Pro की कीमत में आई गिरावट, जानिए क्या है कीमत


 VT PADTAL