VT Update
केजरीवाल ने दिया शिवराज को प्रस्ताव शिक्षा में सुधार करना हो तो मनीष को भेज दूँ मध्यप्रदेश सीएम फेस की अटकलों पर शिवराज ने लगाया विराम, कहा कि मेरे ही नेतृत्व में बनेगी भाजपा की अगली सरकार वार्ड क्र 16 में मुख्यमार्ग से परेशान रहवासी, मार्ग का नहीं हो रहा निर्माण, 4 बार किया जा चुका है भूमिपूजन दिल्ली मैट्रो को सितम्बर से बिजली सप्लाई करेगा, बदबार का अल्ट्रामेगा सोलर पावर प्लांट गोविंदगढ़ थाना क्षेत्र के धोबखरी गांव में भाई की जान बचाने नहर में कूदी बहन, हुई मौत
मंत्री का पीछा करते रहे रेत माफिया

भोपाल में रेत माफियाओं को दबंगई,निशाने पर थे मंत्री


भोपाल। मप्र में रेत माफियाओं की हिम्मत और उनकी दबंगई का नजारा देखने को मिला. मप्र. सरकार में मंत्री जालम सिंह पटेल का पीछा​ करते रेत माफिया मंत्री के बंगले पर जाकर उनके सामने कार अड़ा दी. यहां से शुरू हुआ विवाद देर रात 3 बजे तक चलता रहा. पुलिस आरोपियों को थाने में ले आई. यहां भी रेत माफिया मंत्री से भिड़ गए. पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के सामने मंत्री और माफिया के बीच विवाद होता रहा. पुलिस ने आरोपी 4 युवकों के खिलाफ केवल ड्रिंक एंड ड्राइव कर केस बनाया है.खबर है कि होशंगाबाद निवासी चारों युवक भी भाजपा में हाईलेवल पर कनेक्ट हैं. शायद इसीलिए मंत्री जालम सिंह उनके खिलाफ कोई कड़ी कार्रवाई नहीं करवा पाए.

 मंत्री जालम सिंह एक कार्यक्रम से धार से भोपाल लौट रहे थे. रात करीब ढाई बजे वीआईपी रोड क्रॉस करते समय कार सवार चार युवकों ने उनका पीछा किया और रस्ते में बार-बार हॉर्न बजाकर ओवरटेक करके उन्हें परेशान करते रहे. जब मंत्री जालम सिंह अपने बंगले पहुंचे तो इन युवकों ने उनकी कार के सामने अपनी कार खड़ी कर दी और मंत्री के ड्रायवर से मारपीट शुरू कर दी. बंगले में मौजूद मंत्री के स्टाफ और अन्य लोगों को इसकी जानकारी मिली, तो उन्होंने इन युवकों को रोका और पुलिस बुला ली. कार में सवार युवकों के नाम सुनील, समर, सतेंद्र और हेमंत तिवारी बताए जा रहे हैं. चारों लोग होशंगाबाद जिले के रहने वाले हैं, और रेत खनन का काम करते हैं और प्रभावशाली लोगों से जुड़े हैं. मामला हाई प्रोफाइल और मंत्री से जुड़ा होने के कारण आला अफसर रात में ही टीटी नगर थाने पहुंच गए थे.जहां रात साढ़े तीन बजे तक हंगामा और अफरा-तफरी मची रही. चारों युवकों पर शराब पीकर वाहन चलाने और गाली-गलौच का मामला दर्ज किया और बाद में जमानत पर थाने से छोड़ दिया।

थाने के कैमरे में कैद हुआ मामला-

शराब के नशे में धुत चरों युवकों ने ठाणे में भी हंगामा खड़ा कर दिया था.रातभर ड्रामा चलता रहा.आज पुलिस के आला-अधिकारी थाने में लगे cctv फुटेज देखेंगे. विवाद को देखते हुए पुलिस ने शराब के नशे में चूर युवकों पर कार्रवाई की .दरअसल दूसरा पक्ष भी भाजपा नेताओं से जुड़ा हुआ है इसलिए कार्यवाही हलकी हुई है. देर रात तक थाने में अफरा-तफरी का माहौल बना रहा था.

मप्र. में रेत माफियाओं की दबंगई का यह कोई पहला मामला नहीं है. प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर पुलिस तक को रेत माफियाओं की दबंगई का सामना करना पड़ता है.मप्र. में रेत खनन माफिया मजबूत राजनैतिक पकड़ के कारण कोई बड़ी कार्यवाही नहीं हो पाती. अब देखना यह होगा की इस हाई प्रोफाइल मामले में जिसमे स्वयं मप्र. सरकार के मंत्री के साथ यह घटना हुई है उसमे पुलिस क्या कदम उठाती है.


कुलपति बनने के जुगाड़ समाप्त, शैक्षणिक अनुभव वाले की बन सकेंगे कुलपति !

बीजेपी ने की लोकसभा की तैयारी, प्रदेश के 14 सांसदों के कट सकते हैं टिकट


 VT PADTAL