VT Update
विंध्य के सबसे बड़े अस्पताल संजय गांधी की सुरक्षा व्यवस्था पर उठे सवाल, अस्पताल के पार्किंग से चोरी हुई बोलेरो वाहन रीवा मेडिकल कॉलेज में लगेगा रूफटाफ का प्रदेश का सबसे बड़ा सोलर प्रोजेक्ट मतदाता जागरूकता के लिए रवाना हुई बुलेट रैली, कलेक्टर प्रीति मैथिल ने दिखाई हरी झंडी मध्यप्रदेश के शिवपुरी जिले में घटिया पुल निर्माण पर गिरी गाज, पीडब्लयूडी के चार अफसर सस्पेंड रीवा सहित प्रदेश भर में हर्षोल्लास के साथ मनायी गई कृष्ण जन्माष्टमी, शिल्पी प्लाजा में हुआ मटकी फोड़ने का भव्य आयोजन
Saturday 28th of April 2018 | लाल किला अब ठेके पर

'एडॉप्ट ए हेरीटेज' लाल किला की हुई डील, अब ताजमहल की बारी


शाहजहां का लाल किला अब डालमिया ग्रुप (Dalmia Group) के हाथ में है. डालमिया ग्रुप भारत के इतिहास में ऐसा पहला कॉर्पोरेट हाउस बन गया है जिसने ऐतिहासिक स्मारक लाल किले (Red Fort) को 5 साल के कॉन्ट्रैक्ट पर गोद लिया है. डालमिया ग्रुप इसके लिए 25 करोड़ रुपए देगा. हर 15 अगस्त को भारत के प्रधानमंत्री लाल किले से पूरे देश को संबोधित करते हैं.इसके बाद अबी ऐसी संभावना जताई जा रही है की आगामी समय में ताजमहल को भी ठेके पे डे दिया जायेगा.डालमिया ग्रुप भारत अगले पांच साल तक लाल किले की देखरेख करेगा और इसके लिए 25 करोड़ रुपये का अनुबंध हुआ है. मुगल बादशाह शाहजहां ने 17वीं शताब्‍दी में इसका निर्माण करवाया था. बिज़नेस स्टैंडर्ड के मुताबिक 77 साल पुराना डालमिया भारत ग्रुप पहला उद्योग घराना बन गया है जो किसी ऐतिहासिक विरासत को गोद लेगा.

डालमिया ग्रुप ने नरेंद्र मोदी सरकार की 'अडॉप्‍ट ए हेरिटेज' नीति के तहत इसे गोद लिया है. लाल किला को गोद लेने की होड़ में इंडिगो एयरलाइंस और जीएमआर ग्रुप जैसी दिग्‍गज कंपनियां भी शामिल थीं. लेकिन, डालमिया भारत ग्रुप ने इन्‍हें पछाड़ते हुए पांच साल के कांट्रैक्‍ट पर ऐतिहासिक इमारत को गोद लिया है. इस बाबत डालमिया भारत ग्रुप ने 9 अप्रैल को ही पर्यटन मंत्रालय, संस्‍कृति मंत्रालय और भारतीय पुरातत्‍व सर्वेक्षण के साथ समझौता किया था. डालमिया ग्रुप लाल किला को पर्यटकों के बीच लोकप्रिय बनाने के लिए उसे नए सिरे से विकसित करने के तौर-तरीकों पर विचार कर रहा है. डाल‍मिया भारत ग्रुप के सीईओ महेंद्र सिंघी ने कहा कि लाल किला में 30 दिनों के अंदर काम शुरू कर दिया जाएगा. उन्‍होंने कहा, "लाल किला हमें शुरुआत में पांच वर्षों के लिए मिला है. कॉन्ट्रैक्‍ट को बाद में बढ़ाया भी जा सकता है. हर पर्यटक हमारे लिए एक कस्‍टमर होगा और इसे उसी तर्ज पर विकसित किया जाएगा. हमारी कोशिश होगी कि पर्यटक यहां सिर्फ. एक बार आकर ही न रुक जाएं, बल्कि बार-बार आएं".

आपको बता दें की सरकार ने 'एडॉप्ट ए हेरीटेज' स्कीम सितंबर 2017 में लॉन्च की थी. देश भर के 100 ऐतिहासिक स्मारकों के लिए ये स्कीम लागू की गई है. इसमें ताजमहल, कांगड़ा फोर्ट, सती घाट और कोणार्क मंदिर जैसे कई प्रमुख स्थान हैं. ताज महल को गोद लेने के लिए जीएमआर स्पोर्ट्स और आईटीसी अंतिम दौर में है.

 


कांग्रेस की कार्य समिति गठित, इस बार दिग्विजय को नही मिली जगह

 पीएम मोदी दो दिवसीय पूर्वांचल दौरे पर, करोड़ों की योजनाओं का करेंगे शिलान्‍


 VT PADTAL